1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. खरगौन हिंसाः सीएम ने बुलाई आपात बैठक, उपद्रवियों के 45 मकानों-दुकानों पर चला बुलडोजर

खरगौन हिंसाः सीएम ने बुलाई आपात बैठक, उपद्रवियों के 45 मकानों-दुकानों पर चला बुलडोजर

प्रशासन ने 45 मकानों-दुकानों पर बुलडोजर चलाकर किया ध्वस्त, मुख्यमंत्री ने आपात बैठक बुलाकर की कानून-व्यवस्था की समीक्षा

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

भोपाल, 12 अप्रैल। मध्य प्रदेश के खरगौन जिला मुख्यालय पर रविवार को रामनवमी के जुलूस पर हुए पथराव और उसके बाद शहर में भड़की हिंसा के बाद शहर में लगाए गए कर्फ्यू में मंगलवार को तीसरे दिन भी कोई ढील नहीं दी गई। पूरे शहर के साथ दूध जैसी जरूरी सेवाएं भी पूरी तरह बंद है। पूरे शहर में पुलिस बल तैनात है। पुलिस प्रशासन लगातार दंगाइयों की धरपकड़ में जुटा है। अब तक 95 लोगों की गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। इसके अलावा उपद्रवियों के 45 मकानों-दुकानों को तोड़ा गया है। इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार सुबह अपने निवास पर आपात बैठक बुलाकर कानून-व्यवस्था की समीक्षा की।

पढ़ें :- खरगौन हिंसा : चार दिन बाद महिलाओं को मिली कर्फ्यू में दो घंटे की ढील

खरगौन में रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान फैली सांप्रदायिक हिंसा के बाद इंदौर कमिश्नर डॉ. पवन शर्मा और आईजी राकेश गुप्ता के निर्देशन में मंगलवार को भी उपद्रवियों की धरपकड़ जारी है। अब तक 95 गिरफ्तारियां हो चुकी हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कानून व्यवस्था को लेकर मंगलवार सुबह बड़ी बैठक ली। इसमें खरगोन और बड़वानी के सेंधवा सहित मालवा-निमाड़ में हुई घटनाओं पर चर्चा हुई। बैठक में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा सहित सीएस, डीजीपी, एसीएस होम, एडीजी इंटेलीजेंस सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

सीएम ने बुलाई आपात बैठक, 95 दंगाइयों को किया गया गिरफ्तार

बैठक में मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में दंगाइयों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई जारी है। प्रदेश में यदि कोई दंगा फैलाने की साजिश करेगा तो, वह कोई भी हो मैं बर्दाश्त नहीं करूंगा। बैठक में जानकारी दी गई कि खरगौन में अब तक 95 दंगाइयों की गिरफ्तारी हुई है। गिरफ्तारी का क्रम जारी है। वीडियो से भी दंगाइयों को चिह्नित किया गया है। आज भी खरगौन में दंगाइयों की संपत्ति को जमींदोज करने की कार्यवाही जारी रहेगी। बैठक में बताया गया कि खरगोन में 4 आईपीएस, 15 डीएसपी सहित आरएएफ की कंपनी और बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।

उल्लेखनीय है कि सोमवार को उपद्रवियों के घरों और दुकानों पर जिला प्रशासन द्वारा बुलडोजर चलाने की कार्रवाई शुरू की गई थी। देर रात तक शहर के छोटी मोहन टॉकीज इलाके में 4 मकान और 3 दुकान, खसखसवाड़ी में 12 मकान और 10 दुकान, गणेश मंदिर के पास एक दुकान, औरंगपुरा में तीन दुकान और तालाब चौक में 12 दुकानों को जमींदोज किया गया। इस प्रकार कुल 16 मकान और 29 दुकानों को जमींदोज किया गया। मंगलवार को भी दंगाइयों के मकानों को तोड़ने की कार्रवाई जारी है।

संभागायुक्त डॉ. पवन कुमार शर्मा ने बताया कि पत्थरबाजी में शामिल लोगों पर दंडात्मक कार्रवाई के साथ-साथ आर्थिक कार्रवाई की जा रही है। हिरासत में लिए लोगों से पूछताछ के बाद अतिक्रमण के मकानों और दुकानों को तोड़ा जा रहा है। छोटी मोहन टॉकीज, खसखसवाड़ी, तालाब चौक और आनंद नगर के पिछले हिस्से को चिह्नित किया गया है। अभी छोटी मोहन टॉकीज क्षेत्र में मुस्लिम दल्लू का 800 वर्ग फीट आवासीय भवन, मुक्कू उर्फ मुकीम चांद खां का 240 वर्ग फीट, खलील खां, गुलशेर खां का 340 वर्ग फीट और रियाज शेर मोहम्मद का 1000 वर्ग फीट का अतिक्रमण हटाया गया है।

एक निलंबित, तीन की सेवा समाप्त

इंदौर संभागायुक्त डॉ. शर्मा ने बताया कि रामनवमी के दौरान हुए घटनाक्रम में अफवाह फैलाने वाले नगर पालिका के 3 वेतनभोगी और 1 स्थायीकर्मी अकबर रफीक कामगार को निलंबित किया गया है। तीन दैनिक वेतनभोगियों में चिराग इदरीस, मासूम कला और इज्राहीद राऊल को काम से विरत किया गया है।

रक्षित निरीक्षक रेखा रावत ने बताया कि खरगौन शहर में लगे कर्फ्यू के लिए अन्य जिलों से पुलिस बल बुलाया गया है। अब तक आरटीपीसी के 77, 13वीं वाहिनी इंदौर-ग्वालियर से 92, पहली वाहिनी प्रशिक्षित से 54 व इंदौर से 31 और आरपीटीसी प्रशिक्षण के 152, एसटीएफ के 65 जवानों सहित कुल 850 पुलिसकर्मी खरगौन पहुंच चुके हैं। अभी अन्य जिलों से 500 से अधिक पुलिसकर्मी पहुंच रहे हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...