1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Madhya Pradesh : भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप्स ईकोसिस्टम- प्रधानमंत्री मोदी

Madhya Pradesh : भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप्स ईकोसिस्टम- प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 50 प्रतिशत स्टार्टअप्स टीयर टू और टीयर थ्री सिटी में आते हैं। स्टार्टअप का दायरा बहुत बड़ा है। स्टार्टअप हमें कठिन चुनौती का सरल समाधान देते हैं। हम देख रहे हैं, कल के स्टार्टअप्स आज के मल्टीनेशनल बन रहे हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

इंदौर/भोपाल, 13 मई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि आज भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा इकोसिस्टम है। हम दुनिया के सबसे बड़े यूनिकॉर्न हाउस में भी एक ताकत के रूप में उभर रहे हैं। 2014 में जब हमारी सरकार आई थी, तब देश में 400 के आसपास स्टार्टअप्स हुआ करते थे। लेकिन आज 8 साल के छोटे से कालखंड में हमारे देश में करीब 70,000 रिकॉग्नाइज स्टार्टअप्स हैं। आज देश में जितनी प्रोएक्टिव स्टार्टअप नीति है, उतना ही परिश्रमी स्टार्टअप नेतृत्व भी है। इसलिए देश में युवा नई ऊर्जा के साथ विकास को नई गति दे रहा है।

पढ़ें :- JITO Connect 2022 : भारत की तरफ भरोसे से देख रही है दुनिया- प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने ये बातें शुक्रवार देर शाम को नई दिल्ली से वर्चुअली रूप से मध्य प्रदेश की स्टार्टअप नीति का शुभारंभ करने के दौरान कही। इंदौर के ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान समेत कई जनप्रतिनिधि और युवा मौजूद रहे। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री मोदी ने सबसे पहले स्टार्टअप करने वाले तीन युवाओं से संवाद भी किया।

स्टार्टअप का दायरा बहुत बड़ा- पीएम मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 50 प्रतिशत स्टार्टअप्स टीयर टू और टीयर थ्री सिटी में आते हैं। स्टार्टअप का दायरा बहुत बड़ा है। स्टार्टअप हमें कठिन चुनौती का सरल समाधान देते हैं। हम देख रहे हैं, कल के स्टार्टअप्स आज के मल्टीनेशनल बन रहे हैं। मुझे खुशी है, आज कृषि, रिटेल और खेल के सेक्टर में नए-नए स्टार्टअप्स आ रहे हैं। आज जब हम दुनिया को भारत के स्टार्टअप इको सिस्टम की तारीफ करते हुए सुनते हैं तो हर भारतवासी को गर्व होता है।

भारत में समस्याओं के समाधान की ललक हमेशा रही- पीएम मोदी

पढ़ें :- Germany : यूक्रेन संघर्ष में कोई पक्ष विजेता नहीं, सभी को होगा नुकसान- प्रधानमंत्री मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि भारत में नए आइडिया से समस्याओं के समाधान की ललक हमेशा रही है। ये हमने IT रिवोल्यूशन के दौर में भलीभांति महसूस किया है। उस दौर में हमारे युवाओं को जितना समर्थन मिलना था वो नहीं मिला। हमने देखा कि एक पूरा दशक बड़े-बड़े घोटालों में, पॉलिसी पैरालिसिस में निकल गए। हमारे युवाओं के पास पहले भी सबकुछ था, लेकिन पहले की सरकारों की नीतियों के अभाव की वजह से उलझ कर रह गए। उन्होंने कहा कि देश में आज जितनी प्रोएक्टिव स्टार्टअप नीति हैं उतना ही परिश्रमी स्टार्टअप नेतृत्व भी है। आज मध्य प्रदेश में स्टार्टअप पोर्टल और आई-हब इंदौर का शुभारंभ हुआ है। मध्य प्रदेश की स्टार्टअप नीति के तहत स्टार्टअप और इन्क्यूबेटर को वित्तीय सहायता दी गई है। देश में जब हैकाथॉन शुरू हुए तो किसी को अंदाजा नहीं था कि ये इतना बड़ा हो जाएगा। इससे युवाओं को पर्पज ऑफ लाइफ मिला, सेंस ऑफ रिस्पांसिबिलिटी बढ़ी। मुझे खुशी है कि आज भी देश के किसी न किसी हिस्से में हर रोज कोई न कोई एक हैकाथॉन हो रहा है।

‘आईडिया की हैंड होल्डिंग कर इंडस्ट्री में बदलने का बहुत बड़ा माध्यम बना’

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज आईडिया की हैंड होल्डिंग कर इंडस्ट्री में बदलने का बहुत बड़ा माध्यम बन चुका है। अगले साल हमने अटल इनोवेशन शुरू किया। स्कूलों में अटल टिंगरिंग लैब से लेकर यूनिवर्सिटी में इंक्यूबेशन सेंटर एक बहुत बड़ा इको सिस्टम तैयार किया जा रहा है। 10 हजार से ज्यादा स्कूलों में अटल टिंकरिंग सेंटर चल रहे हैं। इनोवेशन की ABCD सीख रहे हैं। ये स्टार्टअप की नर्सरी के रूप में काम कर रही है। इंक्यूबेशन के साथ स्टार्टअप के लिए फंडिंग भी जरूरी है। एक और बड़ा काम आधुनिक इंफास्ट्रक्चर पर हुआ है। आईडिया टू इंडस्ट्री के कई प्रयासों के कारण स्टार्टअप और यूनिकॉन कई लोगों को रोजगार दे रहे हैं।

भारत मोबाइल गेमिंग के मामले में दुनिया के टॉप 5 देशों में है- पीएम मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत मोबाइल गेमिंग के मामले में दुनिया के टॉप 5 देशों में है। भारत की गेमिंग इंडस्ट्री की ग्रोथ रेट 40 फीसदी से भी ज्यादा है। इस बार के बजट में हमने एनिमेशन, विजुअल इफेक्ट, गेमिंग और कॉमिक इस सेक्टर के सपोर्ट पर भी जोर दिया है। सस्ते स्मार्टफोन और सस्ते डाटा ने गांव के गरीब और मिडिल क्लास को भी कनेक्ट किया है। इससे स्टार्टअप के लिए नए एवेन्यू और मार्केट खुल गए हैं। ऐसे ही प्रयासों के कारण स्टार्टअप्स यूनिकॉर्न देश के लाखों युवाओं को रोजगार दे रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि जब दिल में जोश हो, नई उमंगे हों, इनोवेशन का जज्बा हो, तो उसका प्रभाव अलग ही होता है। हमने तीन बातों पर फोकस किया। पहला- आईडिया इनोवेट इनक्यूबेट एंड इंडस्ट्री। दूसरा- सरकारी प्रक्रियाओं का सरलीकरण और तीसरा- मिशन के लिए माइंडसेट में परिवर्तन, नए इकोसिस्टम का निर्माण। स्टार्टअप हमें एक कठिन चुनौती का सरल समाधान देते हैं। उन्होंने कार्यक्रम में स्टार्टअप्स से जुड़े नौजवान साथियों से संवाद किया।

पढ़ें :- Civil Services Day : देश की अखंडता और एकता से कोई समझौता नहीं- प्रधानमंत्री मोदी

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...