1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Maharashtra : फ्लोर टेस्ट में पास एकनाथ शिंदे, शिंदे सरकार ने हासिल किया विश्वास मत

Maharashtra : फ्लोर टेस्ट में पास एकनाथ शिंदे, शिंदे सरकार ने हासिल किया विश्वास मत

सोमवार को मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली सरकार ने विश्वास मत हासिल कर लिया। विश्वास मत के समर्थन में 164 वोट पड़े।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

मुंबई, 04 जुलाई। महाराष्ट्र विधानसभा में सोमवार को मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे और उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के नेतृत्व वाली सरकार ने विश्वास मत हासिल कर लिया। विश्वास मत के समर्थन में 164 वोट पड़े। वहीं रविवार को विधानसभा अध्यक्ष पद के चुनाव में राहुल नार्वेकर को भी 164 वोट हासिल हुए थे।

पढ़ें :- Maharashtra : संजय राउत को 4 अगस्त तक ED की कस्टडी, उद्धव ठाकरे बोले- जब हमारा वक्त आएगा तो सोचिए आपका (BJP) क्या होगा?

विश्वास मत के दौरान 266 सदस्य सदन में मौजूद रहे

विश्वासमत के विरोध में 99 वोट पड़े। समाजवादी पार्टी और MIM के तीन विधायक इस दौरान तटस्थ रहे। इस तरह एकनाथ शिंदे की सरकार को 65 वोट विपक्ष से अधिक मिले। उन्होंने बहुमत के जादुई आंकड़ों से 20 अधिक वोट हासिल किए। विधानसभा में कुल सदस्यों की संख्या 288 है। इनमें से एक सदस्य का निधन हो चुका है। 2 विधायक जेल में हैं। विश्वास मत के दौरान 266 सदस्य सदन में मौजूद रहे।

फडणवीस ने विश्वास मत हासिल करने पर एकनाथ शिंदे को बधाई दी

विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर ने सदन का कामकाज सुबह 11 बजे शुरू किया। पूर्व वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार ने एकनाथ शिंदे सरकार के लिए विश्वास मत पेश किया। इसके बाद विश्वास मत की प्रक्रिया पूरी की गई। मतगणना के बाद अध्यक्ष राहुल नार्वेकर ने एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस की सरकार के पक्ष में 164 और विपक्ष के समर्थन में 99 मत पड़ने की घोषणा की। देवेंद्र फडणवीस ने विश्वास मत हासिल करने पर एकनाथ शिंदे को बधाई दी है।

पढ़ें :- Sanjay Raut : राज्यसभा में उठाएंगे संजय राउत की गिरफ्तारी का मुद्दा- अनिल देसाई

उद्धव ठाकरे गुट को झटका

महाराष्ट्र विधानसभा में एकनाथ शिंदे सरकार के बहुमत परीक्षण से एक दिन पहले उद्धव ठाकरे गुट को बड़ा झटका देते हुए रविवार को महाराष्ट्र विधानसभा के अध्यक्ष ने शिवसेना विधायक अजय चौधरी को पार्टी विधायक दल के नेता पद से हटा दिया था। विधानसभा अध्यक्ष राहुल नार्वेकर के कार्यालय द्वारा जारी पत्र में शिंदे को शिवसेना के विधायक दल के नेता के रूप में चुना गया और ठाकरे गुट से संबंधित सुनील प्रभु को हटाकर शिंदे खेमे के भरत गोगावले को शिवसेना के मुख्य सचेतक के रूप में नियुक्त किया गया।

गौरतलब है कि रविवार को शिंदे सरकार ने अपने पहले लिटमस टेस्ट को मंजूरी दे दी थी, जब बीजेपी के कैंडिडेट राहुल नार्वेकर पहली बार विधायक को एक बड़े अंतर के साथ सदन के अध्यक्ष के रूप में चुना गया। नार्वेकर को जहां 164 वोट मिले थे, वहीं MVA उम्मीदवार राजन साल्वी को केवल 107 वोट मिले।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...