1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. Pakistan : इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा में भी गूंजा कश्मीर राग

Pakistan : इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा में भी गूंजा कश्मीर राग

इमरान सरकार सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका भी दाखिल कर सकती है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

इस्लामाबाद, 9 अप्रैल। पाकिस्तान सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर नेशनल असेंबली में हो रही चर्चा में भी कश्मीर राग गूंजा। असेंबली में बार-बार हंगामे के कारण अब देर शाम तक मतदान होने की उम्मीद है। इस बीच ये कयास भी लगाए जा रहे कि इमरान सरकार सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका भी दाखिल कर सकती है।

पढ़ें :- बलूचिस्तान में पाकिस्तानी सेना का हेलिकॉप्टर क्रैश, 2 अधिकारियों सहित 6 सैनिकों की मौत

सदन में सत्ता पक्ष की ओर से कश्मीर राग अलापा गया

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव को नेशनल असेंबली द्वारा खारिज किए जाने के फैसले को गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने निरस्त कर दिया था। साथ ही शनिवार को अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान के निर्देश दिए थे। इस पर शनिवार सुबह चर्चा शुरू हुई तो इमरान पर लग रहे तमाम आरोपों के जवाब में सत्ता पक्ष की ओर से कश्मीर राग अलापा गया।

‘शांति की ओर भारत एक कदम बढ़ाएगा तो हम दो कदम बढ़ाएंगे’

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह अहमद कुरैशी ने आरोप लगाया कि दिल्ली में काबिज राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) की सोच वार्ता नहीं चाहती। वो कश्मीरियों को जकड़े रखना चाहती है, ताकि उन्हें जुल्म की चक्की में पीस सके। उन्होंने दावा किया कि पाकिस्तान ने कभी वार्ता से इनकार नहीं किया। भारत शांति की ओर एक कदम बढ़ाएगा तो हम दो कदम बढ़ाएंगे।

पढ़ें :- पाकिस्तानी मंत्री मरियम औरंगजेब के खिलाफ लगे लंदन में चोरनी- चोरनी के नारे

बतादें कि इससे पहले अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान के लिए बुलाया गया विशेष सत्र बार-बार शोर-शराबे और हंगामे का शिकार बना। इसके चलते सुबह सत्र शुरू होने के आधा घंटे बाद ही उसे डेढ़ घंटे के लिए स्थगित कर दिया गया। इमरान खान की तरफ से बार-बार विदेशी साजिश का आरोप दोहराया गया। इस पर विपक्ष के नेता शाहबाज शरीफ भड़क गए। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार सिर्फ अविश्वास प्रस्ताव पर मतदान की कार्यवाही होनी चाहिए। जो हो गया अब तो संविधान और लोकतंत्र के साथ खड़ा होना चाहिए। इस बीच ये भी कयास लगाए जाते रहे कि मतदान रुकवाने के लिए पाकिस्तान सरकार सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका दायर कर सकती है। मतदान में विलंब को इसी से जोड़कर देखा जाता रहा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...