1. हिन्दी समाचार
  2. अन्य खबरें
  3. बिहार: प्रशांत किशोर ने कहा नहीं बना रहा हूं नई पार्टी, जल्द 3000 किलोमीटर की पदयात्रा शुरू करुंगा

बिहार: प्रशांत किशोर ने कहा नहीं बना रहा हूं नई पार्टी, जल्द 3000 किलोमीटर की पदयात्रा शुरू करुंगा

बिहार में प्रशांत किशोर की नई पार्टी को लेकर लगाए जा रहे कयासों को आज विराम लग गया। प्रशांत किशोर ने खुद ये साफ कर दिया है कि वह किसी पार्टी को बनाने के मूड में नहीं हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

बिहार, 5 मई 2022। बिहार के राजनीतिक दंगल में प्रशांत किशोर उतरने वाले हैं या नहीं इस पर उन्होंने खुद प्रेसवार्ता कर स्थिति को साफ कर दिया है। प्रेसवार्ता के दौरान उन्होंने कहा कि वह फिलहाल बिहार में किसी नई पार्टी नहीं बनाएंगे। लेकिन वह बिहार के करीब 17 हजार लोगों के साथ सीधे तौर पर जुड़ेंगे व उनसे बात करेंगे। 17 लोगों के पार्टी बनाने को लेकर सकारात्मक पक्ष होगा तो वह नई पार्टी के गठन पर विचार करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने प्रेस वार्ता में कहा कि वह दो अक्टूबर से बिहार में ही 3 हजार किलोमीटर की पदयात्रा कर लोगों से मिलेंगे। फिलहाल बिहार में चुनाव नहीं है और वह इसीलिए पार्टी बनाने पर कोई विचार नहीं कर रहें हैं। प्रशांत किशोर ने कहा कि वह आने वाले तीन से चार सालों तक केवल बिहार के लोगों के साथ जुड़ेंगे।

पढ़ें :- Punjab News: AAP विधायक नर‍िंदर कौर भराज बनी दुल्हन ,पार्टी के कार्यकर्ता से रचाई शादी

बिहार देश के सबसे पिछड़ा राज्य

प्रशांत किशोर ने कहा कि बिहार बीते 30 साल में आज भी देश का पिछड़ा राज्य ही है। लालू व नीतिश के शासन के बाद भी बिहार की स्थिति में सुधार नहीं आया है और वह आज भी गरीब राज्य ही माना जाता है। लेकिन नई योजनाओं व बेहतर प्रयासों से बिहार आने वाले समय में अग्रणी राज्यों की सूची में आसानी से पहुंच सकता है।

कांग्रेस के साथ गठबंधन न होने पर बोले प्रशांत किशोर

बीते दिनों प्रशांत किशोर की कांग्रेस में शामिल होने की खबरें चर्चा में थी। लेकिन प्रशांत ने कांग्रेस के ऑफर को ठुकरा दिया था। इस पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि मैं कांग्रेस के शीर्ष नेताओं का धन्यवाद देता हूं कि उन्होंने मुझे सुना और मेरी बातों पर गहनता से विचार किया। वो मुझे एंंपावर्ड ग्रुप का हिस्सा बनाना चाहते थे। मैं उस ग्रुप का निर्माण कांग्रेस के संविधान के मुताबिक चाहता था, इसी को लेकर मेरी और उनके विचारों में दोहराव की स्थिति उत्पन्न हो गई थी। मैं केवल पार्टी अध्यक्ष के लिए उस संगठन का हिस्सा नहीं बनना चाहता था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...