Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP: कहासुनी के बीच लड़की ने मारा थप्पड़, हेड कॉन्स्टेबल ने भी पीटा, आहात आहत सब्जी विक्रेता ने गंगा में छलांग लगाकर दी जान

UP: कहासुनी के बीच लड़की ने मारा थप्पड़, हेड कॉन्स्टेबल ने भी पीटा, आहात आहत सब्जी विक्रेता ने गंगा में छलांग लगाकर दी जान

जनपद के लंका थाना क्षेत्र नगवा में बुधवार को पुलिसकर्मी और छात्रा की पिटाई से क्षुब्ध होकर एक युवक ने गंगा में कूदकर आत्महत्या कर लिया।

By up bureau 

Updated Date

लखनऊ। जनपद के लंका थाना क्षेत्र नगवा में बुधवार को पुलिसकर्मी और छात्रा की पिटाई से क्षुब्ध होकर एक युवक ने गंगा में कूदकर आत्महत्या कर लिया। मामले में अधिकारियों ने आरोपी दो पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर जांच का निर्देश दिया गया है। वही मृतक के परिजनों ने पुलिसकर्मियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए सड़क जाम कर देर रात जमकर हंगामा किया। दरअसल लंका थाना क्षेत्र में एक छात्रा से सब्जी विक्रेता विशाल सोनकर नामक युवक का विवाद हो गया। विवाद के दौरान स्थानीय लोगो सड़क पर जामवाड़ा लगा। मॉर्निग वॉक पर निकले लंका थाना क्षेत्र के थाना प्रभारी शिवाकांत मिश्रा दो पुलिसकर्मियों के साथ वहां से गुजरते वक्त मौके पर पहुंचे। छात्रा और युवक के विवाद में थाना प्रभारी के सामने दो पुलिसकर्मियों ने युवक को डांट फटकार लगाते हुए थप्पड़ जड़ दिया। यही नहीं पुलिसकर्मियों ने छात्रा को बुलाकर युवक की पिटाई करवा दी। बीच सड़क सभी के सामने लड़की और पुलिसकर्मियों से थप्पड़ खाने से क्षुब्ध होकर युवक ने गंगा छलांग लगाकर आत्महत्या कर लिया।

पढ़ें :- नेम प्लेट मामले पर SC के फैसले के बाद अखिलेश यादव का भाजपा पर तंज, ''BJP को दुख”

शव को सड़क पर रख परिजनों ने किया हंगामा, विवाद का सीसीटीवी फुटेज आया सामने

छात्रा और पुलिसकर्मियों के थप्पड़ से क्षुब्ध युवक के आत्महत्या के मामले में एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। यह फुटेज छात्रा से विवाद के दौरान का है, फुटेज में युवक और छात्रा के बीच किसी बात को लेकर विवाद होता है और मौके पर पहुंचे पुलिसकर्मी और छात्रा के द्वारा युवक को थप्पड़ जड़ा जा रहा है। घटना के बाद युवक द्वारा आत्महत्या किए जाने से लोगो में आक्रोश व्याप्त है। क्षेत्रीय लोगो के साथ परिजनों ने मृतक के शव को सड़क पर रखकर पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए हंगामा किया गया।

मृतक के पिता के अनुसार सार्वजनिक तौर पर उनके बेटे को थप्पड़ मारा गया, जो नही होना चाहिए था। यदि उसने कोई गलती की है, तो कानून को अपने हिसाब से काम करना चाहिए ना कि सार्वजनिक रूप से पुलिसकर्मी थप्पड़ मारे और लड़की से थप्पड़ मरवाए। ऐसे में परिजन थाना प्रभारी शिवकांत मिश्रा आरोपी पुलिसकर्मी सिपाही रंगपाल और दरोगा लक्ष्मीकांत मिश्र पर कार्रवाई की मांग पर अड़ गए।

सड़क पर पुलिस और स्थानीय लोगो के बीच हुई नोलझोक, लाइन हाजिर हुए आरोपी पुलिसकर्मी

पढ़ें :- कासगंज : राष्ट्रपिता की मूर्ति पर पहनाया भगवा वस्त्र, भड़के कांग्रेसी पुलिस से भिडे

युवक के शव को सड़क पर रख कार्रवाई की मांग करने वाले परिजन और स्थानीय लोगो में घंटो शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने को लेकर विवाद हुआ। देर रात कई बार पुलिस और स्थानीय लोगो में सड़क से शव हटाए जाने को लेकर नोकझोक हो गई। स्थानीय लोगो के आक्रोश को देखते हुए कई थानों की पुलिस फोर्स लगाई गई।वही विवाद बढ़ता देख मौके पर पहुंच वाराणसी कमिश्नरेट काशी जोन के कार्यवाहक डीसीपी सूर्यकांत त्रिपाठी ने परिजनों के शिकायत पत्र को लेकर तत्काल आरोपी दो पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर कर जांच का आदेश दिया। जिसके पश्चात मृतक के शव को पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com