1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Jharkhand News : चिरूडीह हत्याकांड मामले में योगेंद्र साव को हाईकोर्ट से मिली जमानत

Jharkhand News : चिरूडीह हत्याकांड मामले में योगेंद्र साव को हाईकोर्ट से मिली जमानत

बड़गांव हत्याकांड में 2016 में पूर्व विधायक योगेंद्र साव के खिलाफ मामला दर्ज किया गया था। अब उनको हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

झारखंड, 21 जुलाई 2022। Jharkhand News : झारखंड में बड़कागांव गोली कांड में गिरफ्तार चल रहे पूर्व विधायक योगेंद्र साव को झारखंड हाईकोर्ट से राहत मिलते हुए जमानत मिल गई है। इस फैसले से अब उनके बाहर आने का रास्ता साफ हो गया है। इस केस की बहस पूरी होने के बाद अदालत ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया था। आज इस मामले में फैसला सुनाया गया और योगेंद्र साव को जमानत मिल गई। निचली अदालत ने योगेंद्र साव को दस साल की सजा मिली है। यह सजा इसी वर्ष 2022 में उन्हें दी गई थी।

पढ़ें :- झारखंड में एक बार फिर हुई दुमका जैसी घटना, मनचलों ने फेका तेज़ाब, दिल्ली किया एयरलिफ्ट

क्या था मामला

वर्ष 2016 में हजारीबाग के बड़कागांव में गोली कांड मामला हुआ था। दरअसल साल 2015 में बड़कागांव के चिरूडीह गांव में कफन सत्याग्रह चलाया गया था। पुलिस और प्रशासन इस आंदोलन को खत्म करना चाहते थे, इसी बीच आंदोलन ने उग्र रुप ले लिया। सभी प्रदर्शनकारियों ने खनन कार्य में मशीनों को बंद कर दिया। जिसके बाद उस समय की विधायक निर्मला देवा को गिरफ्तार कर लिया गया। इस गिरफ्तारी से ग्रामीणों का गुस्सा फूट गया। हंगामा में पुलिस की ओर से ग्रामीणों पर फारयरिंग की गई थी। जिससे कई ग्रामीणों की मृत्यु हो गई थी।

योगेंद्र साव की बेटी बड़कागांव से है विधायक

आपको बता दें कि योगेंद्र साव की बेटी अंबा प्रसाद बड़कागांव से विधायक हैं। विधायक ने कहा कि बीते सात सालों में पहली बार खुशखबरी मिली है। जेल से संघर्ष कर रहे मेरे पिता योगेंद्र साव अब बाहर आएंगे। जनता के साथ आंदोलन करने के चलते मेरे पिता को राज्य से दो सालों तक बाहर रहना पड़ा। वह जेल भी गये लेकिन क्षेत्र की जनता का साथ नहीं छोड़ा। हमारा परिवार आगे भी क्षेत्र की जनता का साथ देते रहेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...