1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु गुणवत्ता 321 AQI के साथ ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में वायु गुणवत्ता 321 AQI के साथ ‘बहुत खराब’ श्रेणी में दर्ज

दिल्ली के सभी प्रमुख निगरानी स्टेशनों ने मंगलवार सुबह शहर की वायु गुणवत्ता को 'बेहद खराब' श्रेणी में दर्ज किया। सफर यानी वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली के मुताबिक, एनसीआर की हवा भी काफी खराब हो चुकी है. नोएडा में 'बहुत खराब' श्रेणी में 354 का एक्यूआई दर्ज किया गया, जबकि गुरुग्राम का एक्यूआई 326 पर रहा, जो बहुत खराब श्रेणी में आता है.

By रुचि उपाध्याय 
Updated Date

Delhi air pollution: सफर की रिपोर्ट के मुताबिक, राष्ट्रीय राजधानी में समग्र वायु गुणवत्ता मंगलवार को ‘बहुत खराब’ श्रेणी में रही, जबकि वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 321 दर्ज किया गया। दिल्ली-एनसीआर की हवा अभी भी जहरीली बनी हुई है। दिल्ली में मंगलवार को लगातार चौथे दिन वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘बेहद खराब’ श्रेणी में दर्ज किया गया और प्रतिकूल मौसम की वजह से आने वाले दिनों में इसके और खराब होने की संभावना है। सफर यानी वायु गुणवत्ता और मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली द्वारा जारी सुबह 6 बजे के डेटा के मुताबिक मुताबिक, एनसीआर की हवा भी काफी खराब हो चुकी है. नोएडा में ‘बहुत खराब’ श्रेणी में 354 का एक्यूआई दर्ज किया गया, जबकि गुरुग्राम का एक्यूआई 326 पर रहा, जो बहुत खराब श्रेणी में आता है.

पढ़ें :- दिल्ली-एनसीआर की हवा हुई खबर, जानें पूरे हफ्ते का हाल

आपको बता दें कि, रिपोर्ट्स के अनुसार धीरपुर का एक्यूआई 319 दर्ज किया, लोधी रोड का 317, दिल्ली एयरपोर्ट (टी 3) का एक्यूआई 323 दर्ज किया, जबकि मथुरा रोड का एक्यूआई 338 और पूसा का 322 एक्यूआई दर्ज किया गया. दिल्ली विश्वविद्यालय का एक्यूआई 336 था, जबकि आईआईटी दिल्ली का एक्यूआई 292 ‘खराब श्रेणी’ में था. इतना ही नहीं, दिल्ली-एनसीआर के कई इलाकों में धुंध की मोटी चादर दिखाई दी।

बता दें कि, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार को भी वायु गुणवत्ता सूचकांक ‘बेहद खराब’ श्रेणी में दर्ज किया गया था. राजधानी का 24 घंटे का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) रविवार के 339 से खराब होकर सोमवार को 354 हो गया. शनिवार को यह 381 था. पंजाब में खेतों में पराली जलाने की घटनाएं एक दिन पहले के 599 की तुलना में सोमवार को बढ़कर 2,487 हो गईं.

जानकारी के अनुसार, भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान और केंद्रीय पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के तहत आने वाली पूर्वानुमान एजेंसी ‘सफर’ के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली के पीएम2.5 प्रदूषण में इसकी हिस्सेदारी रविवार के 18 फीसदी से घटकर सोमवार को 14 फीसदी रह गई. दिल्ली सरकार ने पिछले दो दिनों में शहर की वायु गुणवत्ता में सुधार को देखते हुए 9 नवंबर से प्राथमिक कक्षाओं को फिर से खोलने और अपने 50 प्रतिशत कर्मचारियों को घर से काम करने के आदेश को रद्द करने का सोमवार को फैसला किया.

पढ़ें :- Weather update: इन राज्यों में आज भारी बारिश, यूपी-बिहार में बढ़ेगी ठंड; दिल्ली की हवा अब भी खराब
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...