1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. चुनाव प्रचार के दौरान बवाल, सांसद लाॅकेट चटर्जी से अभद्रता के आरोप में धरने पर बैठे भाजपाई

चुनाव प्रचार के दौरान बवाल, सांसद लाॅकेट चटर्जी से अभद्रता के आरोप में धरने पर बैठे भाजपाई

आरोप है कि ठुकराल समर्थकों ने भाजपा के एक कार्यकर्ता सुब्रत बछाड़ के साथ मारपीट कर दी। इसके बाद मामला तूल पकड़ गया।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

Uttarakhand Assembly Election : जिले के सुंदरपुर में चुनाव प्रचार के दौरान बवाल हो गया। भाजपा नेताओं ने ठुकराल समर्थकों पर पार्टी कार्यकर्ता के साथ गाली गलौज व मारपीट करने और सांसद लाॅकेट चटर्जी के साथ अभद्रता का आरोप लगाकर धरना शुरू कर दिया। भाजपाइयों ने हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए चौबीस घंटे का अल्टीमेटम दिया है। तनाव के चलते मौके पर भारी फोर्स तैनात कर दिया गया है।

पढ़ें :- नैन्सी कॉन्वेंट कॉलेज में छात्राओं ने लगाया कॉलेज स्टाफ पर उत्पीड़न का आरोप, धरना-प्रदर्शन

सांसद लाॅकेट चटर्जी को देख सीटी बजाने से शुरू हुआ बवाल 

जानकारी के मुताबिक ग्राम सुंदरपुर में रविवार को भाजपा उम्मीदवार शिव अरोरा के समर्थन में भाजपा प्रदेश सह प्रभारी एवं सांसद लाॅकेट चटर्जी की चुनावी सभा प्रस्तावित थी। लाॅकेट चटर्जी जब सुंदरपुर पहुंचीं तभी वहां विधायक ठुकराल के कुछ समर्थकों ने सीटी बजाना शुरू कर दिया। जिसे लेकर नोकझोंक शुरू हो गयी। आरोप है कि ठुकराल समर्थकों ने भाजपा के एक कार्यकर्ता सुब्रत बछाड़ के साथ मारपीट कर दी। इसके बाद मामला तूल पकड़ गया। जानकारी मिलते ही भाजपा उम्मीदवार शिव अरोरा और तमाम समर्थक मौके पर पहुंच गये।

हूटिंग, गाड़ी पर हमले और कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट का लगा आरोप 

उन्होंने विधायक ठुकराल के समर्थकों पर गुण्डागर्दी का आरोप लगाते हुए सुंदरपुर स्थित मंदिर के बाहर धरना शुरू कर दिया। भाजपा नेताओं के साथ सांसद लाॅकेट चटर्जी भी धरने पर बैठ गईं। शिव अरोरा का कहना था कि ठुकराल समर्थकों ने लाॅकेट चटर्जी के सामने हूटिंग की और गाड़ी पर हमला किया और कार्यकर्ता के साथ मारपीट की। उन्होंने हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस को चौबीस घंटे का अल्टीमेटम दिया। कुछ ही देर में धरनास्थल पर बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लग गया।

पढ़ें :- उत्तराखंड में भीषण हादसा, बारातियों से भरा वाहन गहरी खाई में गिरा,14 की मौत 2 घायल

सूचना मिलने पर भारी संख्या में पुलिस बल व एसपी सिटी मौके पर पहुंचे

सूचना मिलने पर एसपी सिटी ममता बोहरा, सीओ पंतनगर अमित कुमार सहित भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। पुलिस अधिकारियों ने शिव अरोरा को समझा बुझाकर शांत करने का प्रयास किया लेकिन वह नहीं माने। तनाव बढ़ने पर आसपास के थानों की भी पुलिस बुला ली गयी। इस मामले में सुब्रत बाछाड़ ने तहरीर देकर कहा कि सांसद लाॅकेट चटर्जी जब नुक्कड़ सभा करके वापस लौट रही थीं, तभी राजकुमार ठुकराल और उनके समर्थकों, जिसमें अजीत बागवाला अंकित बठला, पुरुषोत्तम छाबड़ा सहित तीस पैंतीस अन्य लोगों ने उनकी गाड़ी को रोक लिया और गाली गलौज करते हुए अभद्रता की और मारपीट शुरू कर दी।

मारपीट और अभद्रता के आरोपों को ठुकराल ने झूठा 

इस मामले में विधायक ठुकराल ने कहा कि घटना के समय वह बस्ती में थे, तभी उन्हें पता चला कि कुछ विवाद हो गया है। उन्होंने कहा कि मारपीट और अभद्रता के आरोप झूठे और सोची समझी साजिश हैं। उनके कार्यकर्ता शांतिपूर्वक चुनाव प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विरोधियों को अपनी हार का डर सता रहा है इसीलिए वह बंगाली समाज को भड़काने का प्रकास कर रहे हैं। ठुकराल ने कहा कि विरोधियों का कोई भी षडयंत्र अब उनके काम नहीं आयेगा।

 

पढ़ें :- Uttarakhand : पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत सहित कई कांग्रेस उम्मीदवार नहीं कर पाए मतदान, जानें क्या है वजह ?

हिन्दुस्थान समाचार

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...