1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड में नए नामों से जाने जाएंगे ये शहर और जिला, कहा: सरकार को चाहिए कि ठेट पहाड़ों में बेहतर सुविधा मुहैया करवाएं

उत्तराखंड में नए नामों से जाने जाएंगे ये शहर और जिला, कहा: सरकार को चाहिए कि ठेट पहाड़ों में बेहतर सुविधा मुहैया करवाएं

उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि ठेट पहाड़ों में बेहतर सुविधा मुहैया करवाएं। अनुकृति गुसाईं कहती हैं कि आज ही लैंसडाउन के कई इलाकों में मूलभूत सुविधाओं से लोग जूझ रहे हैं लेकिन सरकार को उनकी सुध लेने के बजाय क्षेत्र के नाम पर बदलाव की चिंता ज्यादा है।

By आकृति 
Updated Date

उत्तराखंड सरकार उत्तराखंड में ब्रिटिश काल के दौरान रखे गए शहरों कस्बो चौक चैराहों के नामों को बदलकर अब नए नामों के लिए प्रस्ताव बनाने जा रही है। जिसमें राज्य के कई शहर, कस्बे, चौक चौराहे और सड़कें शामिल हैं। वहीं पौड़ी जिले के लैंसडाउन को भी सरकार अब दूसरा नाम रखने जा रहे हैं जिस पर लैंसडाउन से कांग्रेस नेत्री अनुकृति गुसाईं ने आपत्ति जताई।

पढ़ें :- ‘बीजेपी का कमल खिला हुआ है और आगे भी खेलेगा’: डिप्टी सीएम केशव मौर्य

उन्होंने कहा कि सरकार को चाहिए कि ठेट पहाड़ों में बेहतर सुविधा मुहैया करवाएं। अनुकृति गुसाईं कहती हैं कि आज ही लैंसडाउन के कई इलाकों में मूलभूत सुविधाओं से लोग जूझ रहे हैं लेकिन सरकार को उनकी सुध लेने के बजाय क्षेत्र के नाम पर बदलाव की चिंता ज्यादा है। उन्होंने कहा कि लैंसडौन कैंट बोर्ड के अंतर्गत आता है जिस वजह से वहां रहे रहे स्थानीय लोगों दुकानदारों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

अनुकृति गुसाईं ने कहा कि सरकार को चाहिए कि वहां के लोगों की असुविधा को देखते हुए क्षेत्र को केंटबोल्ड में शिथिलता लाएं,उन्होंने कहा कि आज देश विदेश का टूरिस्ट लैंसडाउन के नाम पर ही लैंसडौन पहुंचता है। उन्होंने कहा कि सरकार इलाके में सड़कों की हालत अस्पतालों की हालत ठीक करें, साथ ही नाम बदलने से पहले स्थानीय लोगों की भी राय पूछ ले।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...