1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. कोयला तस्करी मामला: पश्चिम बंगाल के कानून मंत्री मलय घटक के घर सीबीआई की छापेमारी

कोयला तस्करी मामला: पश्चिम बंगाल के कानून मंत्री मलय घटक के घर सीबीआई की छापेमारी

ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी के लिए मुश्किलें बढ़ी, कोयला तस्करी मामला मे सीबीआई ने बंगाल के कानून मंत्री मोलॉय घटक के आसनसोल और कोलकाता आवासों पर छापेमारी की.

By रुचि उपाध्याय 
Updated Date

WB Coal scam case: ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली टीएमसी के लिए मुश्किलें बढ़ी पहले पार्थ चैटर्जी तो अब कानून मंत्री मलय घटक के घर सीबीआई की छापेमारी। यह छापेमारी कोयला घोटाला मामले में की गई है। जानकारी के मुताबिक केंद्रीय सुरक्षा बल के जवानों ने मलय घटक के घर को चारों ओर से घेर रखा है। सीबीआई कोलकाता और आसनसोल समेत करीब छह जगहों पर छापेमारी कर रही है, जिसमें मलय घटक के भाई का ठिकाना भी शामिल है। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी जांच के सिलसिले में मलय घटक से पूछताछ कर चुकी है। मलय घटक आसनसोल उत्तर सीट से विधायक हैं।

पढ़ें :- West Bengal news: गले में फंसे त्रिशूल के साथ शख्स ने किया 65 किमी का सफर, हुई इमरजेंसी सर्जरी

ईडी पहले से ही कोयला स्कैम केस में जांच कर रही है और वह भी बीच-बीच में छापा मारती रहती है। कोयला घोटाले मामले में ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी पहले से ही ईडी के निशाने पर है और उनसे कई बार इस मामले में पूछताछ भी हो चुकी है। दोनों जांच एजेंसियां यह पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि क्या घटक की कोयला घोटाले में कोई भूमिका थी। ईडी इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग और सीबीआई आपराधिक पहलू की जांच कर रही है। आरोप है कि आसनसोल के पास कुनुस्तोरिया और कजोरा इलाकों में ईस्टर्न कोलफील्ड्स की पट्टे पर दी गई खानों से कोयले का अवैध खनन किया गया था।

पढ़ें :- अभिषेक बनर्जी की सभा से पहले पश्चिम बंगाल के मिदनापुर में हुआ बम धमाका, 2 TMC कार्यकर्ताओं की मौत

क्या है कोयला तस्करी मामला
इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने मनी लांड्रिंग एक्ट (Money Laundering Act) के तहत मामला दर्ज किया था। 27 नवंबर 2020 को सीबीआई (CBI) की तरफ से दर्ज की गई एफआईआर के आधार पर जांच शुरू की गई थी। जिसमें आसनसोल और उसके आसपास पश्चिम बंगाल के कुनुस्तोरिया और कजोरा क्षेत्रों में ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड की खदानों से संबंधित करोड़ों रुपये के कोयला चोरी का आरोप लगाया गया था, ईडी ने धन की रोकथाम के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया। इस मामले में केंद्रीय एजेंसियां अभिषेक बनर्जी और उनकी पत्नी रूजिरा बनर्जी से भी पूछताछ कर चुकी हैं। ईडी ने दावा किया था कि टीएमसी सांसद बनर्जी इस अवैध कारोबार से मिले पैसे के लाभार्थी हैं। हालांकि बनर्जी ने इन सभी आरोपों से इनकार किया था।

बताया जा रहा कोयला घोटाले में सीबीआई ने मंत्री मलय घटक को कई बार समन जारी किया था, लेकिन वे एक बार भी सीबीआई के सामने पेश नहीं हुए थे। ऐसे में सीबीआई ने बुधवार को उनके ठिकानों पर छापा मारा है।

छापेमारी को लेकर बीजेपी पर हमलावर टीएमसी
गौरतलब है कि राज्य में लगातार ईडी और सीबीआई की छापेमारी को लेकर सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस बीजेपी पर हमलावर है. टीएमसी का दावा है कि साल2021 के विधानसभा चुनावों में बंगाल की जनता ने बीजेपी को खारिज कर दिया. जिसके बाद केंद्र सरकार की ओर से लगातार केंद्रीय एजेंसियों का राजनीतिक रूप से इस्तेमाल किया जा रहा है.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...