1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Corona Cases : MP में मासूमों की जान से खिलवाड़, कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच खुले हैं स्कूल

Corona Cases : MP में मासूमों की जान से खिलवाड़, कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच खुले हैं स्कूल

सोमवार को हुई शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में फिलहाल पाबंदियां नहीं बढ़ाई जाएंगी। बच्चों के स्कूल बंद होंगे या नहीं इसका फैसला भी दो-तीन दिन में लिया जाएगा।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

भोपाल, 10 जनवरी। मध्य प्रदेश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। जनवरी के शुरुआती 10 दिन में मध्य प्रदेश में रोजाना नये मामलों की संख्या 2 हजार के पार पहुंच गई है। इसके बावजूद यहां स्कूल खुले हुए हैं। कई राज्यों में 1 हजार से अधिक नये मामले सामने आने के बाद ही 8वीं और 10वीं तक स्कूलों की छुट्टियां घोषित कर दी गई हैं, लेकिन मध्य प्रदेश में नर्सरी तक के बच्चे स्कूल जा रहे हैं। अब तो स्कूली बच्चे भी संक्रमित हो रहे हैं, लेकिन सरकार ने अभी तक स्कूलों को बंद करने का फैसला नहीं लिया। नागरिकों का कहना है कि ये छोटे-छोटे बच्चों की जान से खिलवाड़ करना है।

पढ़ें :- Madhya Pradesh : भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्टअप्स ईकोसिस्टम- प्रधानमंत्री मोदी

सरकार ने स्कूल 50 फीसदी क्षमता से खोलने के निर्देश दिए

मध्य प्रदेश में दिसम्बर के आखिरी दिनों में कोरोना के 77 नये मामले आए थे। इसके बाद ये संख्या तेजी से बढ़ते हुए 9 जनवरी को 2 हजार के पार पहुंच गई। सोमवार को भी यहां 2300 से अधिक नए मामले सामने आए हैं। इसके बावजूद राज्य के सभी स्कूल खुले हुए हैं। मध्यप्रदेश में एक हफ्ते में 8600 से ज्यादा एक्टिव केस हो गए हैं। इसमें 286 बच्चे शामिल हैं। इसके बावजूद प्रदेश में छोटे बच्चे स्कूल जा रहे हैं। सरकार ने स्कूल 50 फीसदी क्षमता से खोलने के निर्देश दिए हैं, लेकिन संक्रमित बच्चों का आंकड़ा भी बढ़ता रहा है।

MP में 286 बच्चे कोरोना पॉजिटिव

जानकारी के मुताबिक मध्य प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भारी जनहानि हुई थी। इसके बावजूद सरकार ने कोई सबक नहीं लिया। तीसरी लहर के दौरान बच्चे भी चपेट में आ रहे हैं। हालांकि अभी कुल संक्रमित मरीजों में बच्चों की संख्या 5 फीसदी है। फिलहाल प्रदेश में 7833 सक्रिय प्रकरण हैं, जिनमें 286 बच्चे हैं। इंदौर में 150 और भोपाल में अभी 86 बच्चे संक्रमित हैं। ग्वालियर में 40 और जबलपुर में 4 बच्चे पॉजिटिव हैं।

पढ़ें :- Madhya Pradesh : खरगौन में रामनवमी जुलूस पर पथराव के आरोपियों के घरों पर चला बुलडोजर, अब तक 84 उपद्रवी गिरफ्तार

प्रदेश में फिलहाल पाबंदियां नहीं बढ़ाई जाएंगी

वहीं सोमवार को हुई शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में फिलहाल पाबंदियां नहीं बढ़ाई जाएंगी। बच्चों के स्कूल बंद होंगे या नहीं इसका फैसला भी दो-तीन दिन में लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि फिलहाल कोरोना के जो आंकड़े सामने आ रहे हैं, उस हिसाब से सख्त कदम उठाने की जरूरत नहीं है। मास्क लगाने को लेकर सख्ती बढ़ाई जाए।

म वेट एंड वॉच की स्थिति में- शिक्षा मंत्री परमार

स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा कि हम वेट एंड वाच की स्थिति में हैं। उन्होंने कक्षाएं लगने से लेकर परीक्षा तक के सवालों का एक ही जवाब दिया- हम समीक्षा कर रहे हैं। सही समय आने पर पॉजिटिव निर्णय लिए जाएंगे। मंत्री परमार का कहना है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ बैठक की है। हमने बैठक में 8वीं तक के स्कूल बंद करने का प्रस्ताव रखा था। मुख्यमंत्री चौहान ने 2-3 दिन में फैसला लेने के लिए कहा है। फिलहाल हालात पर नजर बनाए हुए हैं।

पढ़ें :- Madhya Pradesh : खरगौन में रामनवमी के जुलूस पर हुआ पथराव, प्रशासन ने लगाया कर्फ्यू
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...