1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Corona Vaccination : टीकाकरण को लेकर बच्चों में दिखा उत्साह, रात 8 बजे तक 40 लाख से ज्यादा बच्चों को लगाए गए टीके

Corona Vaccination : टीकाकरण को लेकर बच्चों में दिखा उत्साह, रात 8 बजे तक 40 लाख से ज्यादा बच्चों को लगाए गए टीके

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बच्चों के टीकाकरण को लेकर कहा कि हमने अपने युवाओं को COVID-19 से बचाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। 15-18 आयु वर्ग के मेरे सभी युवा मित्रों को बधाई, जिन्होंने टीका लगवाया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 3 जनवरी। देश में सोमवार से कोरोना से बचाव के लिए 15 से 18 साल के उम्र के बच्चों के लिए टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत की गई है। इसको लेकर बच्चों में काफी उत्साह दिखाई दिया है। देशभर में बच्चे बड़ी संख्या में टीकाकरण केन्द्रों पर टीकाकरण के लिए पहुंचे। इस बीच रात 8 बजे तक 40 लाख से ज्यादा बच्चों को कोरोना रोधी टीका लगाया जा चुका है।

पढ़ें :- आपके बच्चों में कोरोना वैक्सीन के बाद दिखे ये साइड इफेक्ट, तो हो जाएं सावधान

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि 15 से 18 साल के बच्चों के टीकाकरण अभियान के पहले दिन रात 8 बजे तक 40 लाख से ज्यादा बच्चों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी है। वहीं कोविन पोर्टल के डाटा के मुताबिक टीकाकरण के लिए अब तक 7 लाख से अधिक किशोर-किशोरियों ने पंजीकरण करवाया है।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बच्चों के टीकाकरण को लेकर कहा कि आज हमने अपने युवाओं को COVID-19 से बचाने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाया है। 15-18 आयु वर्ग के मेरे सभी युवा मित्रों को बधाई, जिन्होंने टीका लगवाया है। उनके माता-पिता को भी बधाई। मैं आने वाले दिनों में और अधिक युवाओं से टीकाकरण कराने का अपील करूंगा।

बतादें कि देश में एक बार फिर कोरोना के मामले बढ़ने लगे हैं। ऐसे में केंद्रीय मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों की बायोमैट्रिक उपस्थिति को तुरंत प्रभाव से अगले आदेश तक स्थगित किया जा रहा है। अपर सचिव के स्तर से नीचे के सरकारी कर्मचारियों की उपस्थिति 50 फीसदी तक सीमित होगी। बाकी सभी घर से ही काम करेंगे। विकलांग और गर्भवती महिला कर्मचारियों को कार्यालय में आने से छूट होगी। बढ़ते कोरोना मामलों के बीच केंद्र ने अपने सभी विभागों को ये आदेश जारी किया है। इसके मुताबिक, कंटेनमेंट जोन में रहने वाले सरकारी अधिकारियों या कर्मचारियों को तब तक कार्यालय में आने से छूट दी गई है, जब तक कि कंटेनमेंट जोन डी-नोटिफाइड नहीं हो जाते। भीड़भाड़ से बचने के लिए सरकारी अधिकारी और कर्मचारी अलग-अलग समय का पालन करेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...