1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Delhi MLA Salary : दिल्ली के सीएम की सैलरी होगी दोगुनी, जानें देश के किस राज्य में विधायकों को मिलती है सबसे अधिक सैलरी

Delhi MLA Salary : दिल्ली के सीएम की सैलरी होगी दोगुनी, जानें देश के किस राज्य में विधायकों को मिलती है सबसे अधिक सैलरी

दिल्ली के विधायकों के अच्छे दिन आ गए हैं। अब तक उन्हें हर महीने वेतन और भत्ते के रूप में 54,000 रुपये मिलते थे लेकिन अब 90,000 मिलेंगे। दिल्ली विधानसभा ने इस प्रस्ताव को पारित कर दिया है। राष्ट्रपति की स्वीकृति मिलते ही यह प्रावधान लागू हो जाएगा।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 5 जुलाई 2022। दिल्ली विधानसभा में विधायकों के वेतन में बढ़ोतरी से जुड़ा हुआ विधेयक पास कर दिया गया है। इसके तहत अब विधायकों के वेतन में 66 फीसदी बढ़ोतरी हो जाएगी। अब दिल्ली में विधायकों का वेतन 54000 से  90000 रुपये प्रति माह कर दिया जाएगा। आपको बता दें कि दिल्ली में विधायकों का वेतन शीला दीक्षित की सरकार में वर्ष 2011 में बढ़ाया गया था। दिल्ली विधानसभा में विधायकों, मंत्रियों, मुख्य सचेतक, विधानसभा के अध्यक्ष व उपाध्यक्ष की सैलरी को बढ़ाने के लिए पांच विधेयक पारित किये गये हैं। ये विधेयक पारित करने के बाद इन्हें राष्ट्रपति महोदय को भेजा गया है उनकी मंजूरी के बाद ही सभी विधेयक प्रभाव में आएंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री को अब तक वेतन और भत्ते मिलाकर हर महीने 72 हजार रुपए मिलते थे तो अब इन्हें 1.70 लाख रुपए मालिक मिलेंगे।

पढ़ें :- नोएड़ा पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, श्रीकांत त्यागी को मेरठ से किया गिरफ्तार

वर्ष 2015 में आम आदमी पार्टी के विधायकों ने अपने वेतन में बढ़ोतरी की मांग रखी थी। राज्य सरकार ने पूर्व लोकसभा महासचिव पीडीटी आचारी की अध्यक्षता में तीन सदस्यों की कमेटी बनाई, जिसने सैलरी को 400 प्रतिशत बढ़ाने का प्रस्ताव दिया यानी 54,000 से बढ़ाकर 2.1 लाख महीने की बात कही गई। दिल्ली विधानसभा ने इसे पास कर दिया, लेकिन केंद्र सरकार ने इसे मंजूर नहीं किया। पिछले अगस्त में दिल्ली सरकार ने केंद्र सरकार के विधायकों का वेतन 54 हजार से 90 हजार करने का एक प्रस्ताव भेजा था।

दिल्ली में विधायकों को सैलरी व अन्य भत्तों के साथ 54 हजार रुपये मिलते हैं, लेकिन राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद ये सैलरी बढ़कर 90 हजार हो जाएगी। एक विधायक को करीब 12 हजार रुपये वेतन मिलता है, जो अब राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद 30 हजार हो जाएगा। निर्वाचन भत्ता 18 हजार से 25 हजार कर दिया जाएगा। इसके अलावा वाहन भत्ता 6 हजार से बढ़ाकर 10 हजार कर दिया जाएगा। टेलिफोन भत्ता 8 हजार से 10 हजार, सचिवालय भत्ता 10 हजार से 15 हजार कर दिया जाएगा।

अलग-अलग राज्यों में विधायकों की अलग-अलग सैलरी 

देश के अन्य राज्यों में विधायकों की सैलरी भी अलग-अलग है। सभी राज्यों में विधायकों को अलग-अलग भत्ते दिये जाते हैं। जानकारी के अनुसार तेलगांना के विधायकों को सबसे अधिक सैलरी दी जाती है, इन्हें 2.5 लाख रुपये प्रति माह दिये जाते हैं। वैसे तो इन विधायको की सैलरी मात्र 20 हजार रुपये ही है लेकिन भत्ता को जोड़ने के बाद वो 2.5 बन जाती है। वहीं दूसरी ओर त्रिपुरा के विधायकों को कुल 48 हजार रुपये की सैलरी दी जाती है, जो बेहद कम वेतन माना जाता है। मीडिया की एक रिपोर्ट्स के मुताबिक जाने देश में किन राज्यों मे विधायकों को कितनी सैलरी मिलती है:

पढ़ें :- गोवा में मान्यता प्राप्त पार्टी की लिस्ट में शामिल हुई आप, राष्ट्रीय दल बनने से एक कदम दूर

कर्नाटक – 2,05,000
छत्तीसगढ़ – 1,35,000
अरुणाचल प्रदेश – 1,20,000
आंध्र प्रदेश – 1,25,000
मध्य प्रदेश – 2,10,000
हरियाणा – 1,15,000
जम्मू और कश्मीर – 1,60,000
बिहार – 1,65,000
असम – 60,000
दिल्ली – 90,000 रुपये (वृद्धि के बाद)
झारखंड – 1,51,000
गोवा – 1,00,000
गुजरात – 1,27,000
मिजोरम – 65,000
हिमाचल प्रदेश – 1,25,000
महाराष्ट्र – 1,60,000
मणिपुर – 1,12,500
मेघालय – 60,000
उड़ीसा – 1,00,000
नागालैंड – 1,00,000
सिक्किम – 86,500
उत्तर प्रदेश – 1,87,000
पंजाब – 1,10,000
राजस्थान – 1,25,000
पश्चिम बंगाल – 81,870
तमिलनाडु – 1,13,000
उत्तराखंड – 1,60,000
पुडुचेरी – 1,05,000

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...