1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. फिर शर्मसार हुई दिल्ली, केंद्रीय विद्यालय के दो सीनियर्स ने 11 साल की बच्ची के साथ वॉशरूम में किया गैंगरेप

फिर शर्मसार हुई दिल्ली, केंद्रीय विद्यालय के दो सीनियर्स ने 11 साल की बच्ची के साथ वॉशरूम में किया गैंगरेप

गलती से दो स्कूली बच्चों से टकरा जाने के बाद, एक 11 वर्षीय लड़की ने अकल्पनीय कीमत चुकाई। उसके वरिष्ठों ने उसके साथ मौखिक रूप से दुर्व्यवहार किया और बाद में स्कूल के शौचालय के अंदर कथित रूप से बलात्कार किया।

By रुचि उपाध्याय 
Updated Date

Gangrape in school: दिल्ली में आए दिन रेप या गैंग रेप की घटनाएँ सामने आती रहती है, एक बार फिर से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है जहां राष्ट्रीय राजधानी के एक केंद्रीय विद्यालय के वॉशरूम के अंदर दो सीनियर्स ने 11 साल की एक छात्रा के साथ कथित तौर पर गैंगरेप किया, जिसके बाद मामला दर्ज कर लिया गया है. केंद्रीय विद्यालय संगठन के क्षेत्रीय कार्यालय ने भी मामले की जांच के आदेश दिए हैं. ये कथित घटना जुलाई में हुई थी, लेकिन दिल्ली महिला आयोग (DCW) के मामले को उजागर किए जाने के बाद पीड़िता ने मंगलवार को पुलिस से संपर्क किया.

पढ़ें :- मुंबई एयरपोर्ट टर्मिनल 2 का सर्वर हुआ डाउन, लंबी-लंबी कतारों में फंसे यात्री, हवाई सेवाएं ठप-यात्री परेशान

आपको बता दें कि, दिल्ली महिला आयोग ने मामले को गंभीरता से लेते हुए दिल्ली पुलिस और स्कूल के प्रिंसिपल को नोटिस जारी किया है. स्कूल के अधिकारियों को यह बताने के लिए कहा गया है कि उनके द्वारा पुलिस को घटना की सूचना क्यों नहीं दी गई. केंद्रीय विद्यालय संगठन (KVS) के अधिकारियों ने कहा कि घटना की सूचना पीड़िता या उसके माता-पिता ने स्कूल के प्रिंसिपल को नहीं दी थी और घटना पुलिस जांच के बाद ही सामने आई है.

दिल्ली पुलिस का कहना है कि 11 साल की पीड़िता ने मंगलवार को शिकायत दर्ज कराई और तुरंत ही केस रजिस्टर कर लिया गया. दिल्ली महिला आयोग की चेयरपर्सन स्वाति मालीवाल ने कहा, “हमें दिल्ली के एक स्कूल के अंदर 11 साल की छात्रा के साथ गैंगरेप का एक बहुत ही गंभीर मामला मिला है. लड़की ने आरोप लगाया है कि उसके स्कूल के शिक्षक ने मामले को दबाने की कोशिश की. यह बहुत ही गंभीर है. दुर्भाग्यपूर्ण है कि राजधानी में स्कूल भी बच्चों के लिए असुरक्षित हैं.’ मालीवाल ने कहा, “इस मुद्दे पर स्कूल अधिकारियों की भूमिका की भी जांच होनी चाहिए.”

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, नाबालिग ने आरोप लगाया है कि जुलाई में जब वह अपनी कक्षा में जा रही थी, तब स्कूल के 11वीं और 12वीं कक्षा में पढ़ने वाले दो लड़कों से टकरा गई. उसने कहा, “उसने लड़कों से माफी मांगी, लेकिन वे उसे गालियां देने लगे और उसे एक वॉशरूम के अंदर ले गए. उसने आरोप लगाया कि लड़कों ने वॉशरूम का दरवाजा अंदर से बंद कर दिया और उसके साथ बलात्कार किया. नाबालिग ने कहा, जब उसने एक टीचर को घटना की जानकारी दी तो यह बताया गया कि लड़कों को निष्कासित कर दिया गया है और मामले को कथित तौर पर दबा दिया गया था.”

पैनल ने कहा, “आयोग ने स्कूल के प्रिंसिपल से यह बताने को कहा है कि स्कूल के अधिकारियों को इस मामले के बारे में कब पता चला और उनके द्वारा क्या कार्रवाई की गई. पैनल ने स्कूल से इस मामले में की गई जांच रिपोर्ट की एक प्रति प्रस्तुत करने को भी कहा है.” आयोग ने दिल्ली पुलिस और स्कूल से स्कूल के शिक्षक और/या किसी अन्य स्टाफ के खिलाफ कथित रूप से दिल्ली पुलिस को मामले की रिपोर्ट नहीं करने के लिए की गई कार्रवाई की जानकारी देने के लिए भी कहा है.

पढ़ें :- Shraddha murder case: आफताब का नार्को टेस्ट हुआ खत्म, हत्या की बात कबूलने से लेकर खोले कई राज

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...