1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. रांची एयरपोर्ट में दिव्यांग बच्चे को फ्लाइट में न चढ़ने देने के मामले में DGCA ने इंडिगो कर्मचारी को दोषी माना

रांची एयरपोर्ट में दिव्यांग बच्चे को फ्लाइट में न चढ़ने देने के मामले में DGCA ने इंडिगो कर्मचारी को दोषी माना

Jharkhand : बीते दिनों रांची एयरपोर्ट में दिव्यांग बच्चे को फ्लाइट में न चढ़ने देने के मामले में DGCA ने इंडिगो कर्मी को पाया दोषी।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची, 17 मई 2022। बीते दिनों रांची एयरपोर्ट में एक दिव्यांग बच्चे को फ्लाइट में चढ़ने से माना कर दिया गया था। इस घटना की जानकारी मिलते ही केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने जांच के निर्देश दिये थे। ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा था कि इस तरह का व्यवहार बर्ताश नहीं किया जाएगा। अब इस मामले डीजीसीए की ओर से इंडिगो के कर्मचारी को दोषी पाया गया है और उन्हें 26 तक जवाब देने को कहा गया है।

पढ़ें :- Jharkhand : इंडिगो ने रांची एयरपोर्ट पर दिव्यांग को फ्लाइट में चढ़ने से रोका, केंद्रीय मंत्री ने दिए जांच के आदेश

क्या था मामला 

बता दें कि रांची बिरसा मुंडा एयरपोर्ट पर 7 मई को रांची-हैदराबाद उड़ान भरने से पहले इंडिगो कर्मी ने एक दिव्यांग बच्चे को फ्लाइट पर चढ़ने से रोक दिया गया था। इंडिगो कर्मी ने यह हवाला देते हुए उसे रोका था कि बच्चा घबराया हुआ था। बच्चे को न चढ़ने देने से बच्चे के अभिभावकों ने भी अपनी फ्लाइट मिस कर दी थी। मामले की जानकारी जैसे ही ज्योतिरादित्य सिंधिया को हुई उन्होंने ट्वीट करते हुए कार्रवाई के निर्देश दिये और कहा दोषी के खिलाफ उचित कार्रवाई होगी।

इसके बाद DGCA ने इंडिगो कंपनी से रिपोर्ट मांगी। एयरलाइंस कंपनी व एयरपोर्ट प्राधिकरण ने कहा कि अन्य यात्रियों की सुरक्षा के चलते उस बच्चे को फ्लाइट में नहीं चढ़ने दिया गया। वह बच्चा फ्लाइट में सवार होने से पहले एग्रेसिव था। कर्मियों ने उस बच्चे को शांत करने का प्रयास किया लेकिन बच्चा अंतिम दौर तक शांत न हो पाया। जिसकी वजह से उसे फ्लाइट में जाने से रोक दिया गया।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...