1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. खरगौन हिंसा के गलत फोटो ट्वीट कर बुरे फंसे दिग्विजय, कानूनी कार्यवाही की तैयारी में सरकार

खरगौन हिंसा के गलत फोटो ट्वीट कर बुरे फंसे दिग्विजय, कानूनी कार्यवाही की तैयारी में सरकार

खरगोन हिंसा को लेकर दिग्विजय सिंह के ट्वीट के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। इसके साथ गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा भी सख्त नजर आ रहे हैं। चर्चा है कि दिग्विजय सिंह पर कानूनी कार्रवाई हो सकती है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

भोपाल, 12 अप्रैल। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अक्सर जल्दबाजी में किए गए अपने ट्वीट को लेकर ट्रोल्स होते रहते हैं। लेकिन इस बार दिग्विजय सिंह गलत ट्वीट कर कानूनी मुसीबत में फंसते दिख रहे हैं। खरगोन हिंसा को लेकर दिग्विजय सिंह के ट्वीट के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। वहीं गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा भी सख्त नजर आ रहे हैं। चर्चा है कि दिग्विजय सिंह पर कानूनी कार्रवाई हो सकती है।

पढ़ें :- Gyanvapi Survey : ज्ञानवापी की सर्वे रिपोर्ट लीक, परिसर में मिले सनातन धर्म से जुड़े चिह्न

खरगौन हिंसा को लेकर दिग्विजय सिंह के ट्वीट के बाद मध्य प्रदेश में सियासी घमासान मचा हुआ है। हालांकि अपने इस ट्वीट को दिग्विजय सिंह कुछ देर बाद डिलीट कर दिया लेकिन तब तक यह ट्वीट वायरल हो चुका था। जिसके बाद अब प्रदेश के गृहमंत्री ने दिग्विजय सिंह पर केस दर्ज करने की पूरी तैयारी कर ली है। गृहमंत्री विधि विशेषज्ञों से चर्चा कर सकते हैं। नरोत्तम मिश्रा ने बुलडोजर से कार्रवाई के सवाल पर कहा कि उन्होंने दिग्विजय सिंह का ट्वीट देखा। जिस प्रकार से उनके शांतिदूतों ने खरगोन में पत्थर फेंका था, उस पर उन्होंने कोई ट्वीट नहीं किया है। उन्होंने कहा कि टुकड़े-टुकड़े गैंग हैं, जो स्लीपर सेल की तरह काम कर रहे हैं। ये वो हैं जिन्होने ट्वीट कर भ्रम फैलाया। इसके लिए वो कानूनविदों से बात कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि दिग्विजय ने खरगौन की झूठी फोटो टवीट किए थे।

सीएम ने दी तीखी प्रतिक्रिया

वहीं सीएम शिवराज ने भी दिग्विजय सिंह की आलोचना करते हुए ट्वीट लिखा कि दिग्विजय ने एक धार्मिक स्थल पर युवक द्वारा भगवा झंडा फहराने का फोटो सहित ट्वीट किया है, वह मध्यप्रदेश का नहीं है। दिग्विजय सिंह का यह ट्वीट प्रदेश में धार्मिक उन्माद फैलाने का षड्यंत्र है और प्रदेश को दंगे की आग में झोंकने की साजिश है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

दरअसल पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने रविवार को खरगोन में रामनवमी की शोभायात्रा के दौरान हुई हिंसा पर ट्वीट किया था, उन्होंने बिहार के एक फोटो को अपने ट्वीट में टैग करते हुए इसे खरगोन का बता दिया। इस फोटो में कुछ युवक मस्जिद में भगवा झण्डा लगा रहे हैं।

पढ़ें :- Jharkhand Panchayat Elections : सीएम हेमंत सोरेन की चचेरी बहन रेखा ने जीता जिला परिषद चुनाव, कई सियासी दिग्गजों के रिश्तेदारों ने भी जीत की दर्ज

 

दिग्विजय के ट्वीट पर भाजपा विधायक ने किया ऐसा पलटवार, डिलीट करनी पड़ी पोस्ट

पढ़ें :- पंजाब कांग्रेस को बड़ा झटका, कांग्रेस का हाथ छोड़ सुनील जाखड़ ने थामा बीजेपी का दामन, कहा- सिद्धांतों से हटी कांग्रेस पार्टी

खरगौन पत्थरबाजी को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय ने मंगलवार सुबह एक ट्वीट किया। ट्वीट के जरिए उन्होंने शिवराज सरकार पर निशाना साधा। दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने ऐसा पलटवार किया, जिसके बाद दिग्विजय सिंह ने ट्वीट हटा दिया है।

विधायक रामेश्वर शर्मा ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के ट्वीट का पलटवार करते हुए लिखा कि यही तो मामा के बुलडोजर की ताकत है। खरगौन के जिहादियों पर दर्द आपके दिल तक जा पहुंचा। आप रातभर न सो पाये होंगे, आपका मन बड़ा व्यथित होगा। इसलिए ये झूठा फोटो ले आए। जिस घर से पत्थर पेट्रोल बम निकला था, वह घर मिट्टी में मिला दिया जाएगा। रामेश्वर शर्मा के पलटवार के बाद दिग्विजय सिंह ने अपना ट्विट डिलीट कर दिया।

दरअसल पत्थरबाजी की घटना को लेकर दिग्विजय सिंह ने कहीं और का फोटो एमपी के खरगोन का बताकर ट्वीट किया था और लिखा कि क्या तलवार लाठी लेकर धार्मिक स्थल पर झंडा लगाना उचित है। क्या खरगौन प्रशासन ने हथियारों को लेकर जुलूस निकालने की इजाजत दी थी। क्या जिन्होंने पत्थर फेंके चाहे वो जिस भी धर्म के हों, सभी के घर पर बुलडोजर चलेगा? शिवराज जी मत बोलिए.. आप ने निष्पक्ष होकर सरकार चलाने की शपथ ली थी। दूसरी ओर दिग्विजय सिंह के ट्वीट पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा भी सख्त नजर आ रहे हैं। चर्चा है कि दिग्विजय सिंह पर कानूनी कार्रवाई हो सकती है।

सीएम शिवराज सिंह के कुछ मंत्रियों ने दिग्गविजय के ट्वीट से नाराजगी जाहिर करते हुए ट्विटर को पत्र लिख उनके अकाउंट को बैन करने की मांग की है।

पढ़ें :- Jharkhand : झारखंड कांग्रेस प्रभारी पर केस दर्ज, कोतवाली पहुंचे पार्टी के बड़े नेता
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...