1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Gujarat : भारी बारिश से पूर्णा नदी उफान पर, नवसारी-सूरत हाईवे बंद, राजकोट में स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी, 7 जिलों में रेड अलर्ट

Gujarat : भारी बारिश से पूर्णा नदी उफान पर, नवसारी-सूरत हाईवे बंद, राजकोट में स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी, 7 जिलों में रेड अलर्ट

अहमदाबाद में पूर्णा नदी का जलस्तर खतरनाक स्तर 27 फीट तक पहुंचा, NDRF के जवानों ने पानी में फंसे सैकड़ों लोगों को निकाला, तो भारी बारिश के चलते राजकोट में स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी, 7 जिलों में रेड अलर्ट घोषित।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

अहमदाबाद, 12 जुलाई। दक्षिण गुजरात के जिले नवसारी में पिछले एक हफ्ते से भारी बारिश हो रही है, जिससे जनजीवन प्रभावित हुआ है। उपर्वस के डांग और सूरत जिले में भी भारी बारिश से पूर्णा नदी उफान पर है। नवसारी शहर में पूर्णा नदी के किनारे और भेसतखाड़ा इलाके में 100 से ज्यादा घरों में 5 फीट से ज्यादा पानी भर गया है, जिससे हजारों लोगों को पलायन करना पड़ा है।

पढ़ें :- Gujarat Gaurav Abhiyan : इस अभियान का हिस्सा बनना मेरे लिए गर्व का क्षण, पीएम मोदी ने कहा- पहली बार 5 लाख आदिवासी लोगों को एक साथ देखा

पूर्णा नदी का जलस्तर खतरनाक स्तर 27 फीट तक पहुंचा

भारी बारिश के बाद नवसारी से गुजरने वाली पूर्णा नदी का जलस्तर 27 फीट तक पहुंच गया है, जिससे नवसारी शहर के भेसतखाड़ा इलाके में 100 से ज्यादा घरों में 5 फुट तक पानी भर गया। जहां के 450 लोगों को अपना छोड़कर सुरक्षित बाहर निकालना पड़ा। प्रशासन लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। नवसारी के धिम्मर समाज की वाड़ी में शरण लेने वाले प्रभावित लोगों के लिए सामाजिक संस्थाओं और नगरपालिका भोजन की व्यवस्था कर रही है। शहर में विरावल जकातनाका के पास सड़क पर पानी आने से नवसारी-सूरत राज्य राजमार्ग पर यातायात के लिए बंद कर दिया गया है। इसके अलावा हिदायत नगर, रंगून नगर, गढ़ेवांन, रिंग रोड, काशीवाड़ी, मिथिलानगरी, शांतादेवी, बंदर रोड जैसे निचले इलाकों में 2 फुट से 15 फुट तक पानी भर गया है। जलभराव वाले क्षेत्रों से NDRF ने 2 हजार लोगों को निकालकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया है। जलभराव के चलते लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। नवसारी एपीएमसी बाजार में जलभराव के चलते सब्जी विक्रेताओं सहित अन्य लोगों का कारोबार भी प्रभावित हुआ है।

पढ़ें :- Gujarat : आदिवासी सत्याग्रह रैली से राहुल गांधी का बीजेपी पर तंज- कांग्रेस को दो नहीं, एक भारत चाहिए

राजकोट में स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी, 7 जिलों में रेड अलर्ट

वहीं राजकोट जिले में भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग ने राजकोट सहित राज्य के 7 जिलों में भारी बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी किया है। राजकोट के कई इलाकों में पानी भरा है। प्रशासन ने सभी स्कूल और कॉलेजों में छुट्टी कर दी है और लोगों से अनावश्यक घर से बाहर ना निकलने की अपील की है। राजकोट के पोपटपारा इलाके के लाल बहादुर शास्त्री नगर के घरों में 5 फीट तक पानी भर गया है, जिससे लोग फंसे हैं। इस इलाके के घरों के भूतल तक पानी भर गया है और लोग पहली मंजिल पर शरण लेने को मजबूर हैं। कई लोगों ने दूसरे लोगों के घरों में शरण ली है। राजकोट में भारी बारिश के बीच आजी नदी में एक शव मिला है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

सौराष्ट्र विश्वविद्यालय ने मंगलवार को होने वाली परीक्षा रद्द

तो वहीं भारी बारिश के बीच सौराष्ट्र विश्वविद्यालय ने मंगलवार को होने वाली परीक्षा रद्द कर दी गई है। परीक्षा निदेशक नीलेश सोनी ने इसकी घोषणा है। जिला शिक्षा अधिकारी ने भी मंगलवार को सभी स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया।

पढ़ें :- Gujarat : कांग्रेस में कलह, हार्दिक पटेल ने की बीजेपी की तारीफ, कहा- उनके पास है बेहतर राजनीतिक फैसले लेने की क्षमता

मौसम विभाग का रेड अलर्ड

मौसम विभाग ने सौराष्ट्र में अभी 4 दिन और भारी बारिश का अनुमान जताया है। इसी तरह से दक्षिण गुजरात के जिलों में 4 और दिन तक भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया है। वलसाड में 3 दिन बारिश का रेड अलर्ट है। नवसारी और डांग में 2 दिन का रेड अलर्ट और 2 दिन का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इसके अलावा सूरत, तापी और अन्य जिलों में भारी बारिश का अनुमान जताया गया है। मध्य गुजरात में भी नर्मदा, भरूच और छोटाउदेपुर में भी बादल तांडव करेंगे। स्थानीय निकाय और सरकार लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए है और बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव अभियान चला रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...