1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Jharkhand : कांग्रेस विधायक बंधु तिर्की के खिलाफ 9 घंटे चली CBI की कार्रवाई, मामले में राजनीति तेज

Jharkhand : कांग्रेस विधायक बंधु तिर्की के खिलाफ 9 घंटे चली CBI की कार्रवाई, मामले में राजनीति तेज

34वें राष्ट्रीय खेल घोटाले मामले में कांग्रेस के पूर्व विधायक बंधु तिर्की के आवास पर CBI की टीम ने गुरुवार को छापेमारी की। CBI की छापेमारी करीब 9 घंटे तक चली। छापेमारी में CBI को कई अहम दस्तावेज मिले हैं।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची, 26 मई। कांग्रेस के पूर्व विधायक बंधु तिर्की के आवास पर CBI की टीम ने गुरुवार को छापेमारी की। CBI की छापेमारी करीब 9 घंटे तक चली। सीबीआई की टीम ने पंडरा ओपी क्षेत्र के बनहोरा स्थित आवास और मोरहाबादी स्थित आवास पर छापेमारी की। छापेमारी में CBI को कई अहम दस्तावेज मिले हैं। ये छापेमारी 34वें राष्ट्रीय खेल घोटाले मामले में हुई है। बतादें कि बंधु तिर्की झारखंड कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष हैं और वो पार्टी की कुछ बैठकों में हिस्सा लेने के लिए दिल्ली में हैं।

पढ़ें :- Jharkhand : 15 दिनों की लंबी छुट्टी पर गए मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, अरूण सिंह को मिला प्रभार

राष्ट्रीय खेल घोटाले में 2 FIR दर्ज

CBI ने हाई कोर्ट के आदेश पर 11 अप्रैल और 22 अप्रैल को राष्ट्रीय खेल घोटाले में दो FIR दर्ज की थी। पहला मामला RC 0242022A001 मेगा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स निर्माण में हुई अनियमितता से जुड़ा है। अज्ञात लोगों के खिलाफ दर्ज है। दूसरा मामला RC 0242022A002 है, जो खेल आयोजन के घोटाले से जुड़ा है। पहले इस मामले की जांच ACB कर रही थी, जिसमें बंधु तिर्की गिरफ्तार भी किए गए थे और उनके खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल की गई थी। इस मामले में ACB ने बंधु तिर्की को अप्राथमिक अभियुक्त बनाया था। दूसरी ओर इस मामले में CBI की टीम बोकारो के सेक्टर 8 C स्थित झारखंड कबड्डी एसोसिएशन के सचिव विपिन कुमार के आवास 2201 पहुंची, जहां छापेमारी में कई दस्तावेज जब्त किए गए हैं। उनके घर से CBI की टीम ने कई LIC, आवास के एग्रीमेंट पेपर, कुछ बैंकों के कागजात जब्त किए हैं।

मामले पर सियासत गरमाई

वहीं CBI की रेड पर बीजेपी का कहना है कि किस वजह से मांडर में चुनाव हो रहे हैं ये सब को अच्छी तरह पता है। क्योंकि भ्रष्टाचार के आरोप में बंधु तिर्की को सजा हुई थी, जिस वजह से उनकी सदस्यता गई और इसी मामले को लेकर CBI की दबिश हुई है। इसीलिए उन्हें उम्मीद है कि इस बार उपचुनाव में मांडर की जनता BJP के प्रत्याशी को वोट देकर उन्हें विजयी बनाने का काम करेगी। वहीं कांग्रेस ने CBI की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा कि मांडर उपचुनाव को देखते हुए ये छापेमारी कराई गई है। क्योंकि पहले ही CBI ने बंधु तिर्की को क्लीन चिट दे दी है, तो ऐसे में ये कार्रवाई सिर्फ केंद्रीय जांच एजेंसियों का दुरुपयोग करना हुआ। वहीं कांग्रेस नेता ने कहा कि BJP की जो कोशिश है वो नाकामयाब होगी और एक बार फिर मांडर में कांग्रेस अपना परचम लहराएगी। मामले पर झारखंड मुक्ति मोर्चा के प्रवक्ता तनुज खत्री का कहना है कि पूरी तरीके से ये कार्रवाई सुनियोजित है। क्योंकि अगर मामला खेल घोटाले से है तो सिर्फ बंधु तिर्की पर ही कार्रवाई क्यों हो रही है?। कांग्रेस ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा पर या फिर पूर्व खेल मंत्री सुदेश महतो पर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है।

पढ़ें :- Jharkhand : CM हेमंत सोरेन और उनके करीबियों से जुड़े शेल कंपनी मामले में सुनवाई टली, IAS पूजा सिंघल के खिलाफ चार्जशीट दायर

गौरतलब है कि झारखंड में हुए 34वां राष्ट्रीय खेल घोटाले मामले की जांच CBI कर रही है। गुरुवार को CBI ने इस मामले में कुल 16 ठिकानों पर छापेमारी की। ये छापेमारी दिल्ली हेड क्वार्टर के निर्देश पर की जा रही है। अब तक की जानकारी के मुताबिक झारखंड में 12, पटना में 2 दिल्ली में 2 पर CBI की टीम छापेमारी कर रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...