1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Jharkhand : रांची में हुए हिंसा पर राज्यपाल गंभीर, DGP, ADG ऑपरेशन, DC और SSP राजभवन तलब, कार्रवाई के निर्देश

Jharkhand : रांची में हुए हिंसा पर राज्यपाल गंभीर, DGP, ADG ऑपरेशन, DC और SSP राजभवन तलब, कार्रवाई के निर्देश

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रांची में हुई हिंसक घटनाओं पर सख्त रुख अपनाया है। मंत्रालय ने पूरे मामले पर झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस से पूरी रिपोर्ट मांगी है। रांची हिंसा में शामिल लोगों को चिन्हित करने को कहा गया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सारी स्थिति पर राजभवन से रिपोर्ट तलब की है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची, 13 जून। रांची में 10 जून को प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा और उपद्रव मामले को लेकर राज्यपाल रमेश बैस ने गंभीरता से संज्ञान लिया है। राज्यपाल ने सोमवार को DGP नीरज सिन्हा, ADG ऑपरेशन संजय आनंद लाटकर, उपायुक्त छवि रंजन और SSP सुरेंद्र कुमार झा को राजभवन तलब किया है। सोमवार दोपहर तीनों अधिकारी राजभवन पहुंचे थे। तीनों से राज्यपाल ने मामले की पूरी जानकारी ली। साथ ही अबतक इस मामले में की गई कार्रवाई के बारे में जानकारी ली। राज्यपाल ने विधि व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने का आदेश अधिकारियों को दिया।

पढ़ें :- झारखंड: मुस्लिम ने अपना नाम बदलकर की हिन्दू नाबालिग से दोस्ती, फिर रेप; सच पता चलने पर की हत्या की कोशिश

घटना में शामिल लोगों को जल्द गिरफ्तार करने का निर्देश

पढ़ें :- Jharkhand : विधायकों से नकदी मिलने का मामला, CID ने एक भवन से बरामद किया 3 लाख रुपए से ज्यादा का कैश

इससे पहले भी राज्यपाल ने डीजीपी को फोन कर घटना में शामिल लोगों को जल्द गिरफ्तार करने का निर्देश दिया था। इतना ही नहीं राज्यपाल रमेश बैस ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को भी फोन कर घटना की जानकारी ली थी।

हिंसा पर राजभवन से रिपोर्ट तलब

गौरतलब है कि केंद्रीय गृह मंत्रालय ने रांची में हुई हिंसक घटनाओं पर सख्त रुख अपनाया है। मंत्रालय ने पूरे मामले पर झारखंड के राज्यपाल रमेश बैस से पूरी रिपोर्ट मांगी है। रांची हिंसा में शामिल लोगों को चिन्हित करने को कहा गया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सारी स्थिति पर राजभवन से रिपोर्ट तलब की है।

उधर बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने प्रदेश सरकार को घेरते हुए कहा कि राज्य के अधिकारी घमंड में चूर हैं। इस सरकार के नेतृत्व में जो मर्जी कर रहें है। ये रवैया कतई बर्दाश्त नहीं है।

बतादें कि बीजेपी से निलंबित नेता नूपुर शर्मा और निष्कासित नेता नवीन जिंदल के बयान से आक्रोशित मुस्लिम समाज के लोगों ने शुक्रवार को हिंसक प्रदर्शन किया। इस दौरान उपद्रवियों ने पथराव किया। स्थिति को संभालने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। इस दौरान उपद्रवियों ने भी गोलीबारी की। इस गोलीबारी में दो लोगों की मौत हुई और 13 लोग घायल हुए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...