1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. मनी लॉन्ड्रिंग केस में बंद दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन को कोर्ट से झटका, नहीं मिली जमानत

मनी लॉन्ड्रिंग केस में बंद दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन को कोर्ट से झटका, नहीं मिली जमानत

आम आदमी पार्टी के मंत्री Satyendra Jain को Money laundering case में जमानत नहीं मिली. दिल्ली कोर्ट के स्पेशल जज विकास ढुल ने सत्येंद्र जैन की जमानत याचिका खारिज कर दी है. ED ने मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में 30 मई को सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार किया था. सत्येंद्र जैन पिछले साढ़े 5 महीने से जेल में बंद हैं.

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

Money Laundering case: केजरीवाल नेतृत्व दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन की जमानत याचिका को राउज एवेन्यू कोर्ट ने खारिज कर दिया है. जैन की याचिका के अलावा, मामले के दो सह-आरोपियों वैभव जैन और अंकुश जैन की जमानत याचिकाएं भी खारिज कर दी गईं हैं. मनी लॉन्ड्रिंग केस में 30 मई को सत्येंद्र जैन को प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने गिरफ्तार किया था. ईडी ने केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की प्राथमिकी के आधार पर जैन एवं अन्य को धनशोधन रोकथाम अधिनियम के तहत धनशोधन के मामले में गिरफ्तार किया था. जैन पर आरोप है कि उन्होंने अपने से जुड़ी चार कंपनियों के जरिए धनशोधन किया था. सीबीआई ने 2017 में जैन के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की थी.

पढ़ें :- दिल्ली कोर्ट ने 200 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग केस में अभिनेत्री जैकलीन फर्नांडीस को दी जमानत

वहीं हाल ही में जेल में बंद आम आदमी पार्टी के नेता एवं मंत्री सत्येंद्र जैन को “VIP treatment” मुहैया कराने में संलिप्तता के आरोप में तिहाड़ जेल के एक अधीक्षक को निलंबित कर दिया गया है. ईडी ने कोर्ट में अर्जी लगाकर आरोप लगाया था कि जेल प्रशासन की मिलीभगत से सत्येंद्र जैन को अतिरिक्त सुविधाएं मिल रही हैं. सत्येंद्र जैन का मसाज करते हुए वीडियो भी कोर्ट को दिखाया गया था. तिहाड़ जेल नंबर 7 के सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को दूसरी जेलों में ट्रांसफर किया गया. जबकि जेल अधीक्षक अजीत कुमार को सस्पेंड किया गया. जेल नंबर 5 के अधीक्षक अशोक रावत को जेल नंबर 7 की अतिरिक्त जिम्मेदारी दी गई है.

आपको बता दें कि, जैन को 30 मई को ईडी द्वारा धन शोधन निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत गिरफ्तार किया गया था। यह मामला इस आरोप पर दर्ज किया गया था कि जैन ने 2015 और 2017 के बीच विभिन्न व्यक्तियों के नाम पर चल संपत्ति अर्जित की थी, जिसका वह संतोषजनक हिसाब नहीं दे सके थे। इस मामले में तीन अभियुक्त हैं। तीनों की जमानत याचिकाएं लंबित थीं। तीनों याचिकाओं पर राउज एवेन्यू कोर्ट ने एक साथ गुरुवार दोपहर दो बजे फैसला सुनाया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...