Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Mumbai: लिव-इन पार्टनर पर एसिड से हमला करने के आरोप में 62 साल का शख्स गिरफ्तार

Mumbai: लिव-इन पार्टनर पर एसिड से हमला करने के आरोप में 62 साल का शख्स गिरफ्तार

गौरतलब है कि गिरगांव के फनसवाड़ी इलाके में महिला पिछले 25 साल से महेश पुजारी (62 साल) नाम के शख्स के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रह रही थी. पिछले कुछ दिनों से दोनों के बीच अक्सर विवाद होता रहता था। बताया जा रहा है कि महिला ने अक्सर कहा-सुनी के चलते आरोपी पर घर छोड़ने का दबाव बनाया.

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

Acid Attack: मुंबई के गिरगांव इलाके में एसिड अटैक की दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां एक महिला पर तेजाब फेंका गया है। घटना 13 जनवरी की सुबह साढ़े पांच बजे की बताई जा रही है। मामले की जानकारी मिलते ही पुलिस हरकत में आई और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

पढ़ें :- मुंबई: पुलिस कंट्रोल रूम को मिली 31 दिसंबर को बम ब्लास्ट की धमकी, कॉलर गिरफ्तार

गौरतलब है कि गिरगांव के फनसवाड़ी इलाके में महिला पिछले 25 साल से महेश पुजारी (62 साल) नाम के शख्स के साथ लिव इन रिलेशनशिप में रह रही थी. पिछले कुछ दिनों से दोनों के बीच अक्सर विवाद होता रहता था। बताया जा रहा है कि महिला ने अक्सर कहा-सुनी के चलते आरोपी पर घर छोड़ने का दबाव बनाया.

दो दिन से घर से बाहर रहने वाला महेश वापस आया और शुक्रवार सुबह 5.30 बजे पीड़िता पर उस वक्त तेजाब फेंक दिया, जब वह पानी लाने के लिए निकली थी. महेश तेजाब प्लास्टिक की बोतल में भरकर लाया था।

गंभीर रूप से घायल महिला को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जबकि आरोपी को मुंबई की एलटी मार्ग पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

देश में तेजाब फेंकने के मामले
राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (NCRB) के आंकड़ों के मुताबिक, 2021 में देश में तेजाब फेंकने की 102 घटनाएं दर्ज की गई थीं. 2019 में यह संख्या 150 और 2020 में 105 थी. डाटा के मुताबिक, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश में तेजाब फेंकने की सबसे ज्यादा घटनाएं देखी गईं. देश में हर साल होने वाले मामलों की लगभग आधी संख्या यहां से दर्ज हुई.

पढ़ें :- दिल्ली में एक लड़की पर तेजाब फेंकने का मामला आया सामने, अस्पताल में कराया गया भर्ती

आपको बता दें कि, एसिड हमलों के 83 प्रतिशत मामलों में चार्जशीट दाखिल की गई जबकि 54 प्रतिशत को सजा हुई. 2020 में चार्जशीट की दर 86 प्रतिशत जबकि सजा की दर 72 प्रतिशत तक बढ़ गई. 2021 में ये दरें 89% (चार्जशीट) और 20% (सजा) रहीं. 2015 में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को भेजी एडवाइजरी में तेजाब हमलों के मामलों की तेजी से सुनवाई का आग्रह किया था.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com