1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. नोएडा में बढ़ा प्रदूषण, कक्षा 1 से 8 तक के छात्रों की ऑनलाइन कक्षाएं चलाने का निर्णय

नोएडा में बढ़ा प्रदूषण, कक्षा 1 से 8 तक के छात्रों की ऑनलाइन कक्षाएं चलाने का निर्णय

गौतमबुद्ध नगर में प्रदूषण का स्तर दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है. प्रदूषण के कारण मौसम में धुंध छाई रहती है. प्रदूषण के कारण लोगों को विभिन्न परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. लोगों की आंखों में जलन भी होने लगी है.

By Ruchi Kumari 
Updated Date

गौतमबुद्ध नगर में प्रदूषण का स्तर दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है. प्रदूषण के कारण मौसम में धुंध छाई रहती है. इसके कारण गौतमबुद्ध नगर (Noida) में सभी बोर्ड के स्कूलों में कक्षा 1 से 8 तक की कक्षाएं 8 नवंबर तक ऑनलाइन चलेंगी. गौतमबुद्ध नगर के जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ धर्मवीर सिंह ने इसके आदेश जारी किए हैं. आदेश के अनुसार, 8 नवंबर तक अनिवार्य रूप से क्लासेज ऑनलाइन होंगी.

पढ़ें :- बुर्का पहनकर डांस करने पर कर्नाटक के इंजीनियरिंग कॉलेज के चार छात्रों को किया गया सस्पेंड - देखें वीडियो

आदेश में कहा गया है कि कक्षा 9 से 12 तक की कक्षाएं भी यथासंभव ऑनलाइन संचालित की जाएं. इसके साथ ही सभी स्कूलों में अग्रिम आदेश तक आउटडोर एक्टिविटीज पूरी तरह से बंद रहेंगी. सभी प्रिंसीपल्स को इसकी पालना कराना जरूरी होगा. ये निर्णय दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण के चलते लिया गया है.

दिल्ली एनसीआर में ग्रेप-4 लागू

वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) ने ग्रेडेड रिस्पांस एक्शन प्लान (GRAP) का चौथा चरण लागू कर दिया है. नोएडा में ग्रेप के चौथे चरण के पहले दिन नियमों का उल्लंघन करने पर 3 लाख 40 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है.वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) ने गुरुवार को दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश से स्कूलों और कॉलेजों को बंद करने और आधे कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति देने के लिए कहा है, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) की एयर क्वालिटी में गिरावट आई है.

जिससे लोगों के बीच स्वास्थ्य समस्याएं पैदा हो गई हैं. आयोग ने दिल्ली में ट्रकों और अन्य डीजल से चलने वाले वाणिज्यिक वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाने के अलावा, राजमार्गों, सड़कों, फ्लाईओवर, ओवर-ब्रिज और पाइपलाइनों के निर्माण जैसी सभी लीनियर प्रोजेक्ट्स पर भी रोक लगा दी है. साथ ही, निजी फर्मों को अपने 50 प्रतिशत कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति देने के लिए कहा गया है, जबकि केंद्र और राज्य सरकारों को हाइब्रिड कामकाजी माहौल पर फैसला करने के लिए छोड़ दिया गया है.

पढ़ें :- Accident In Kanpur: यूपी के कानपुर में भीषण सड़क हादसा, ट्रक और लोडर की भिड़ंत में एक ही गांव के 3 लोगों की मौत

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...