1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. सपा MLC व इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन को आयकर विभाग ने हिरासत में लिया

सपा MLC व इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन को आयकर विभाग ने हिरासत में लिया

कयास लगाया जा रहा था कि कभी भी आयकर की टीम पम्पी को हिरासत में ले सकती है।

By Ujjawal Mishra 
Updated Date

Income Tax Raid : समाजवादी इत्र बनाने वाले MLC पुष्पराज जैन उर्फ पम्पी जैन को आखिरकार आयकर विभाग की टीम ने सोमवार को हिरासत में ले लिया। बताया जा रहा है कि, विभाग की टीम पुष्पराज जैन को  कन्नौज से कानपुर ले जाने की बात कहकर कन्नौज से निकली है। सूत्रों के अनुसार आयकर विभाग को अब तक पुष्पराज जैन के प्रतिष्ठानों से करोड़ों रुपये की टैक्स चोरी के दस्तावेज मिले हैं।

पढ़ें :- UP में 10 मार्च के बाद महिलाओं को सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा : CM योगी

चार दिनों से चल रही थी छापेमारी 

सपा से विधान परिषद सदस्य व समाजवादी इत्र बनाने वाले इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन उर्फ पम्पी जैन के घर से लेकर देश भर में फैले उनके प्रतिष्ठानों पर बीते चार दिनों से आयकर विभाग की टीम छापेमारी कर रही है। रविवार को आयकर की टीम ने पूछताछ के लिए पम्पी जैन को उनके कारखाने लेकर पहुंची थी। तभी से कयास लगाया जा रहा था कि कभी भी आयकर की टीम पम्पी को हिरासत में ले सकती है।

पूछताछ करने की बात कहकर लिया गया हिरासत में 

बताया जा रहा है कि, सोमवार को एक बार फिर आयकर की टीम उनके घर पूछताछ के लिए पहुंची और एक घंटे की पूछताछ के बाद बयानों में हो रहे बदलाव को देखते हुए टीम ने पम्पी को हिरासत में ले लिया। बताया गया कि, कानपुर में उनके प्रतिष्ठानों में जांच करनी है इसीलिए हिरासत में लिया गया है।

पढ़ें :- गुरुवार को अमेठी और प्रयागराज में रैली करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

हालांकि अभी वह कानपुर में किस जगह पर हैं किसी को नहीं मालूम। आयकर की टीम मीडिया से पूरी तरह से दूरी बनाये हुए है। इत्र नगरी कन्नौज में फिलहाल उनके आवास और कारखाना पर पुलिस कर्मी तैनात हैं।

आयकर चोरी के मिले दस्तावेज

पढ़ें :- कर्नाटक में बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या के विरोध में मार्च

सूत्रों के अनुसार इत्र कारोबारी पुष्पराज जैन के देश में कई प्रतिष्ठान तथा आवास पर पड़ताल में आयकर विभाग को करोड़ों की धनराशि के साथ आयकर देने के मामलों में कमी के कई कागजात मिले हैं। आयकर विभाग को दस करोड़ रुपये की फर्जी खरीद और दस करोड़ की बोगस इंट्री के दस्तावेज मिले हैं जिनकी जांच की जा रही है। इससे पहले मिडिल ईस्ट से करीब 40 करोड़ रुपये के निवेश के कागजात पाए गए थे। बड़ी संख्या में सीज कागजातों की जांच की जा रही है।

बोगस कंपनियों से पैसा लगाने के सबूत

कई ऐसे प्रमाण मिले हैं, जिसमें यह साबित होता है कि, सपा एमएलसी ने पैसा बनाने के लिए मुखौटा कंपनियों के जरिए कारोबार को आगे बढ़ाने का कार्य किया है। इतना ही नहीं कई बोगस खरीद के भी पुख्ता सबूत अफसरों को मिले हैं।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...