1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मेरठ में 700 करोड़ की लागत से बनेगा यूपी का पहला खेल विश्वविद्यालय

मेरठ में 700 करोड़ की लागत से बनेगा यूपी का पहला खेल विश्वविद्यालय

विश्वविद्यालय में 540 पुरुष और 540 महिला खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने की व्यवस्था होगी।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

मेरठ : उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में 700 करोड़ रुपये की लागत से मेजर ध्यानचंद खेल विश्वविद्यालय का निर्माण होगा। इस विश्वविद्यालय की आधारशिला आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रखी। यह उत्तर प्रदेश का पहला खेल विश्विद्यालय होगा, जिसमें खेल प्रतिभाओं को निखारने के साथ ही अव्वल दर्जे की पढ़ाई होगी। इसमें विश्वस्तरीय प्रशिक्षक तैनात किए जाएंगे।

पढ़ें :- उत्तर प्रदेश में धार्मिक स्थलों से उतारे गए 53,942 लाउडस्पीकर

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 700 करोड़ की लागत से मेरठ के सरधना तहसील के सलावा गांव में प्रदेश का पहला खेल विश्वविद्यालय बनाने का ऐलान किया था। विश्वविद्यालय का नामकरण हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के नाम पर किया गया। इस खेल विश्वविद्यालय में युवाओं को सभी प्रकार के खेलों का शिक्षण और प्रशिक्षण दिया जाएगा। खेल विवि बनने से खेल प्रतिभाओं की प्रतिभा निखरेगी। विवि में राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के आधार पर स्नातक की डिग्री दी जाएगी। विश्वविद्यालय से बैचलर डिग्री इन स्पोर्ट्स, डिप्लोमा, सर्टिफिकेट, परानास्तक, एमफिल और पीएचडी आदि के कोर्स संचालित होंगे। विश्वविद्यालय में 540 पुरुष और 540 महिला खिलाड़ियों को प्रशिक्षित करने की व्यवस्था होगी।

लगभग 91 एकड़ में बनने वाले इस खेल विवि में इंडोर स्टेडियम, सिंथेटिक रनिंग स्टेडियम, सिंथेटिक हॉकी मैदान, ओलंपिक स्तरीय स्वीमिंग पूल, फुटबाल मैदान, वालीबॉल कोर्ट, बास्केटबाल कोर्ट, हैंडबाल, कबड्डी मैदान, लॉन टेनिस कोर्ट, जिम्नेजियम हॉल, मल्टीपरपज हॉल, शूटिंग रेंज, स्क्वाश, जिम्नास्टिक, वेटलिफ्टिंग, तीरंदाजी, क्याकिंग एंड कैनोइंग, अत्याधुनिक टर्फ मैदान, साइकिलिंग ट्रैक, योगा हॉल आदि होंगे। इसके अलावा एथलेटिक्स, आउटडोर गेम्स, ट्रैक एंड फील्ड, जैवलिन थ्रो, भारोत्तोलन, कुश्ती, बाक्सिंग सहित पारंपरिक खेल मलखम्ब और खोखो का भी प्रशिक्षण दिया जाएगा। गंगनहर में रोविंग और राफ्टिंग जैसे जलीय खेलों का प्रशिक्षण भी होगा।

खेल विवि के निर्माण का संकल्प प्रदेश में खेल संस्कृति को बढ़ावा देना और उत्कृष्टता लाना है। विभिन्न खेलों में उत्कृष्ट खिलाड़ियों जिनका फिजिकल एप्टीट्यूटड, स्किल्स एवं खेलों में रिकार्ड स्थापित करने का है तथा पदक जीतने के लिए खिलाड़ियों को प्रैक्टिकल बेस्ड शिक्षा प्रदान करना है।

पढ़ें :- एमएलसी चुनाव : भाजपा व सपा समेत 4 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला आज,मतगणना शुरू
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...