1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Tripura : पिछड़ापन कभी त्रिपुरा का भाग्य था, अब बना विकास का गलियारा- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Tripura : पिछड़ापन कभी त्रिपुरा का भाग्य था, अब बना विकास का गलियारा- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि “डबल इंजन की सरकार का कोई मुकाबला नहीं है। डबल इंजन की सरकार यानि संसाधनों का सही इस्तेमाल। डबल इंजन की सरकार यानि संवेदनशीलता। डबल इंजन की सरकार यानि लोगों के सामर्थ्य को बढ़ावा देना।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

अगरतला, 04 जनवरी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने त्रिपुरा की पिछली सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उसमें विकास और दृष्टि का घोर अभाव था। गरीबी और पिछड़ेपन को त्रिपुरा के भाग्य के साथ चिपका दिया गया था। लेकिन डबल इंजन की सरकार के संयुक्त प्रयासों से त्रिपुरा महत्वपूर्ण व्यापार का गलियारा बन गया है।

पढ़ें :- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 29 जून को बुलाई मंत्रि परिषद की बैठक, सरकार के कामकाज की होगी समीक्षा

पढ़ें :- Tripura : त्रिपुरा के नए मुख्यमंत्री होंगे डॉ. माणिक साहा, विधायक दल की बैठक में लगी मुहर

त्रिपुरा के लोग मूलभूत सुविधाओं के लिए तरसते रहें- पीएम मोदी

अगरतला के स्वामी विवेकानंद मैदान में आयोजित जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 21वीं सदी का भारत सबको साथ लेकर, सबके विकास और सबके प्रयास से ही आगे बढ़ेगा। उन्होंने असंतुलित विकास को देश के लिए घातक बताते हुए कहा कि कुछ राज्य पीछे रहें और कुछ राज्य के लोग मूलभूत सुविधाओं के लिए तरसते रहें ये ठीक नहीं है। त्रिपुरा के लोगों ने दशकों तक यही देखा है।

पीएम मोदी का त्रिपुरा की पिछली सरकार पर भ्रष्टाचार को लेकर तीखा हमला

वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने त्रिपुरा की पिछली सरकार पर भ्रष्टाचार को लेकर तीखा हमला किया। उन्होंने कहा कि पहले यहां भ्रष्टाचार की गाड़ी थमने का नाम नहीं लेती थी और विकास की गाड़ी पर ब्रेक लगा हुआ था। पहले जो सरकार थी उसमें त्रिपुरा के विकास का ना विजन था। ना उसकी नीयत थी। गरीबी और पिछड़ेपन को त्रिपुरा के भाग्य के साथ चिपका दिया गया था। प्रधानमंत्री ने ‘हीरा’ (राजमार्ग, इंटरनेट, रेलवे और एयरवेज) का नया नारा देते हुये कहा कि त्रिपुरा आज ‘हीरा’ मॉडल के जरिए से अपनी कनेक्टिविटी बढ़ा रहा है। पीएम मोदी ने केंद्र और राज्य में बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार का फायदा बताते हुए कहा कि डबल इंजन ग्रोथ का मतलब समृद्धि की दिशा में संयुक्त प्रयास है और त्रिपुरा इसका उदाहरण है।

डबल इंजन की सरकार यानि संसाधनों का सही इस्तेमाल

पढ़ें :- Gujarat : किसान प्राकृतिक खेती को अपनाएं और धरती मां को बचाएं- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि डबल इंजन की सरकार का कोई मुकाबला नहीं है। डबल इंजन की सरकार यानि संसाधनों का सही इस्तेमाल होना। डबल इंजन की सरकार यानि संवेदनशीलता। डबल इंजन की सरकार यानि लोगों के सामर्थ्य को बढ़ावा देना। पीएम मोदी ने आगे कहा कि “डबल इंजन की सरकार यानि सेवाभाव। डबल इंजन की सरकार यानि संकल्पों की सिद्धि। डबल इंजन की सरकार यानि समृद्धि की तरफ एकजुट कोशिश।”

स्थानीय भाषा में पढ़ाई पर भी विशेष जोर

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति (NEP) में भारतीय भाषाओं को महत्व दिए जाने का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 21वीं सदी में भारत को आधुनिक बनाने वाले युवक मिलें, इसके लिए नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू की जा रही है। इसमें स्थानीय भाषा में पढ़ाई पर भी विशेष जोर दिया गया है। त्रिपुरा के विद्यार्थियों को अब मिशन-100, ‘विद्या ज्योति’ अभियान से भी मदद मिलने वाली है। प्रधानमंत्री ने सिंगल यूज प्लास्टिक के इस्तेमाल को हतोत्साहित करने का आह्वान करते हुए कहा कि देश को सिंगल यूज़ प्लास्टिक का विकल्प देने में भी त्रिपुरा एक अहम भूमिका निभा सकता है। यहां बने बांस के झाड़ू, बांस की बोतलें, ऐसे प्रोडक्ट्स के लिए बहुत बड़ा बाजार देश में बन रहा है। इससे बांस के सामान के निर्माण में हजारों साथियों को रोजगार, स्वरोज़गार मिल रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने त्रिपुरा को दी बड़ी सौगात

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लगभग 450 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित महाराजा बीर बिक्रम हवाई अड्डे का नया एकीकृत टर्मिनल भवन, विद्याज्योति स्कूल परियोजना मिशन 100 और त्रिपुरा ग्राम समृद्धि योजना की 3 सौगात दी। लगभग 450 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित महाराजा बीर बिक्रम हवाई अड्डे का नया एकीकृत टर्मिनल भवन आधुनिक सुविधाओं से युक्त और नवीनतम IT नेटवर्क एकीकृत प्रणाली द्वारा समर्थित 30,000 वर्गमीटर में फैला अत्याधुनिक भवन है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...