1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Maharashtra Politics : उद्धव सरकार के 48 घंटे में 160 फैसले, राज्यपाल से हस्तक्षेप की मांग, संजय राऊत ने कहा- महाविकास आघाड़ी सरकार कार्यकाल करेगी पूरा

Maharashtra Politics : उद्धव सरकार के 48 घंटे में 160 फैसले, राज्यपाल से हस्तक्षेप की मांग, संजय राऊत ने कहा- महाविकास आघाड़ी सरकार कार्यकाल करेगी पूरा

विधान परिषद के नेता प्रतिपक्ष प्रवीण दरेकर ने कहा कि राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को पत्र लिखकर पिछले 48 घंटे में लिए गए सभी फैसलों में हस्तक्षेप करने की मांग की है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

मुंबई, 24 जून। महाराष्ट्र की राजनीति में मची खल-बली के दौरान विधान परिषद के नेता प्रतिपक्ष प्रवीण दरेकर ने आरोप लगाया है कि महाराष्ट्र में राजनीतिक अस्थिरता के दौर में उद्धव ठाकरे सरकार ने पिछले 48 घंटे में 160 फैसले लिए हैं। उन्होंने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को पत्र लिखकर पिछले 48 घंटे में लिए गए सभी फैसलों में हस्तक्षेप करने की मांग की है।

पढ़ें :- ईडी ने संजय राउत को भेजा दूसरा समन, एक जुलाई को बुलाया गया

राज्यपाल से हस्तक्षेप की मांग

प्रवीण दरेकर ने शुक्रवार को कहा कि राज्य में शिवसेना के अधिकांश विधायकों ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में अविश्वास जताते हुए बगावत कर दी है। इस बीच महाविकास आघाड़ी के मंत्रियों ने अंधाधुंध काम करते हुए पिछले 48 घंटे में 160 फैसले लिए हैं। इसीलिए उन्होंने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को पत्र लिखकर पिछले 48 घंटे में लिए गए सभी फैसलों में हस्तक्षेप करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार बहुमत खो चुकी है और उसे एक क्षण भी सत्ता में रहने का अधिकार नहीं बचा है। इसके बावजूद सरकार इस्तीफा देने के बजाय राज्य सरकार की तिजोरी खाली करने का प्रयास कर रही है।

महाविकास आघाड़ी सरकार पूरी तरह मजबूत- संजय राऊत

तो वहीं शिवसेना प्रवक्ता और सांसद संजय राऊत ने कहा कि महाविकास आघाड़ी सरकार पूरी तरह मजबूत है। वो अपना कार्यकाल पूरा करेगी। अब लड़ाई सड़क, विधानसभा और कोर्ट में मजबूती के साथ लड़ी जाएगी।

पढ़ें :- नई पार्टी बनाने की कोशिश में जुटे एकनाथ शिंदे

बागियों के खिलाफ सरकार कठोर कदम उठाने के लिए तैयार

गौरतलब है कि मुंबई में यशवंतराव प्रतिष्ठान में शुक्रवार को गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटिल, उद्योग मंत्री सुभाष देसाई, संजय राऊत और महाविकास आघाड़ी के कई नेताओं की बैठक आयोजित की गई थी। बैठक के बाद राऊत ने पत्रकारों से कहा कि कुछ लोग राज्य से बाहर गलत कदम उठा रहे हैं। हमने उनको वापस आने का आमंत्रण दिया। लेकिन वो लोग नहीं लौटे। इसलिए अब महाविकास आघाड़ी सरकार कठोर कदम उठाने के लिए तैयार हो गई है। आज बैठक में दिलीप वलसे पाटिल मौजूद थे, वो विधानसभा के अध्यक्ष रह चुके हैं और उन्हें कानून का ज्ञान है। उन्होंने गुवाहाटी गए विधायकों को चुनौती देते हुए कहा कि वो मुंबई लौटें। महाविकास आघाड़ी सरकार हर तरह से लड़ाई लड़ने के लिए तैयार हैं। हार नहीं मानेंगे। हर लड़ाई जीतेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...