Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. देश में नंबर वन होंगी यूपी की स्वास्थ्य सेवाएं, तकनीकी से जोड़े जा रहे अस्पताल: बृजेश पाठक

देश में नंबर वन होंगी यूपी की स्वास्थ्य सेवाएं, तकनीकी से जोड़े जा रहे अस्पताल: बृजेश पाठक

डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने कहा कि सामुदायिक, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, स्वास्थ्य उपकेंद्र, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर जैसे छोटे अस्पतालों का मकसद रोगियों को घर के नजदीक उपचार मुहैया कराना है। लिहाजा यहां की व्यवस्था को दुरुस्त रखा जाए।

By आकृति 

Updated Date

मंगलवार को गोमतीनगर अंसल एपीआई स्थित होटल में 100 आकांक्षी विकास खंडों के प्रभारी चिकित्साधिकारियों का राज्य स्तरीय अभिमुखीकरण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने कहा कि सामुदायिक, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, स्वास्थ्य उपकेंद्र, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर जैसे छोटे अस्पतालों का मकसद रोगियों को घर के नजदीक उपचार मुहैया कराना है। लिहाजा यहां की व्यवस्था को दुरुस्त रखा जाए।

पढ़ें :- UP News: बेटियों को योगी सरकार की बड़ी सौगात, दो बहनों के निजी स्कूल में पढ़ने पर एक की फीस भरेगी योगी सरकार

उन्होंने हेल्थ वेलनेस सेंटर व संजीवनी एप के भी प्रभावी तरीके से संचालन के निर्देश दिए. डिप्टी सीएम ने कहा कि साल 2025 तक हमें देश को टीबी मुक्त करना है। उन्होंने कोरोनाकाल में लगातार कार्य करने वाले चिकित्सकों का प्रदेश की जनता की ओर से आभार व्यक्त किया। डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने मंगलवार को कहा कि यूपी की स्वास्थ्य सेवाओं को देश में नंबर वन बनाने का सपना हमें साकार करना है।

आज उत्तर प्रदेश विकास के पथ पर अग्रसर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में संचालित योजनाओं से हर वर्ग लाभांवित हो रहा है। प्रदेश के अस्पतालों को तकनीक से जोड़ा जा रहा है। शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के छोटे चिकित्सालयों में उपचार की व्यवस्था को और बेहतर करने की जरूरत है। छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखकर रोगियों को उपचार मुहैया करा सकते हैं।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतरी से मरीजों को बड़े चिकित्सालय की दौड़ लगाने से भी बचाया जा सकता है. इससे रोगियों का समय और पैसा बचेगा। समय पर उपचार मिल सकेगा। बड़े चिकित्सालयों में गंभीर रोगियों के इलाज की राह भी आसान होगी।

उप मुख्यमंत्री ने कहा अभी 30 बेड की सीएचसी में सिर्फ प्रसव के लिए महिलाओं को भर्ती किया जा रहा है। दूसरी बीमारी से पीड़ितों को भर्ती नहीं किया जाएगा। इस व्यवस्था में सुधार की जरूरत है। इसके अलावा प्रसव के बाद शिशु को पहले चक्र का टीकाकरण के बाद ही डिस्चार्ज किया जाये। भले ही छुट्टी के लिये कितना ही दबाव क्यों न आये? उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशों पर 100 आंकांक्षी ब्लॉक का चयन किया।

पढ़ें :- UP News:अलाया अपार्टमेंट हादसे में सपा नेता अब्बास हैदर की मां बेगम हैदर और पत्नी उजमा हैदर की मौत

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com