Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. उत्तर प्रदेश: गैस हीटर जलाकर सोया था परिवार, पति-पत्नी और 2 बच्चों सहित चार लोगों की दम घुटने से हुई मौत

उत्तर प्रदेश: गैस हीटर जलाकर सोया था परिवार, पति-पत्नी और 2 बच्चों सहित चार लोगों की दम घुटने से हुई मौत

सीतापुर में शन‍िवार रात रूम हीटर जलाकर सोए मदरसा श‍िक्षक सह‍ित पत्‍नी और दो बच्‍चों की मौत हो गई। रव‍िवार सुबह जब काफी देर तक कमरे का दरवाजा नहीं खुला तो पुल‍िस को घटना की सूचना दी गई। पुल‍िस ने जब दरवाजा तोड़ा तो अंदर चार लोगों के शव थे।

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

Uttar Pradesh news: बिसवां कस्बे के झज्जर मुहल्ले में शनिवार रात पेट्रोमैक्स (पांच लीटर वाला गैस सिलिंडर) जलाकर एक कमरे में सो रहे मदरसा र्क्लक और उनकी पत्नी व मासूम दो बच्चों की दम घुटकर मौत हो गई। मृतक आसिफ लखनऊ के चिनहट रसूलपुर सादात के रहने वाले थे। घटना की जानकारी तब हुई जब सुबह दूध वाला आया और कई आवाजें लगाई लेकिन, दरवाजा नहीं खुला। काफी देर तक घर का दरवाजा नहीं खुला तो मुहल्ले वालों ने पुलिस को खबर की।

पढ़ें :- UP: रोडवेज बस का सफर 25 पैसे प्रति किमी हुआ महंगा, पढ़ें पूरी खबर

छत के रास्‍ते घर में दाख‍िल हुए पुल‍िसकर्मी
पुलिस आने पर घर में घुसकर दरवाजा खोला गया तो पड़ोसी इरफान ने पुलिस को खबर की। मौके पर पहुंचे पुलिस कर्मी इरफान के घर की छत से आसिफ के घर की छत पर पहुंचे थे। छत पर लोहे का जाल काटकर पुलिस कर्मी अंदर घुसे थे। फिर कमरे का दरवाजा तोड़ा और दृश्य देख उनके भी पैरों तले जमीन खिसक गई। पेट्रोमैक्स बुझ चुकी थी लेकिन, गैस की तीव्र दुर्गंध थी। कमरे में बेड पर पति-पत्नी किनारे और बीच में दोनों मासूम बच्चे रसाई ओढ़कर बेदम पड़े थे।

एक साथ चारों की मौत से सहमे लोग
पुलिस कर्मियों ने हिलाया-ढुलाया तो कोई हलचल नहीं हुई। फिर समझने में देर नहीं लगी, चारों को मृत देखकर उच्चाधिकारियों को घटना के बारे में बताया। उधर, घटना की जानकारी पर मृतक के घर के बाहर सैकड़ों लोगों की भीड़ आ चुकी थी। उप जिलाधिकारी पीएल मौर्य और सीओ अभिषेक प्रताप अजेय मौके पर पहुंचकर स्थिति की प्रारंभिक जांच की और एंबुलेंस से चारों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। बताया जा रहा है कि मदरसा क्लर्क आसिफ पिछले ढाई-तीन साल से बिसवां में ही घर बनाकर पत्नी व दो मासूम बच्चों के साथ रहने लगे थे।

दो साल का था बेटा व तीन साल की बेटी
बिसवां एसडीएम पीएल मौर्य ने बताया कि पड़ोसियों से पता चला है कि आसिफ गुडैंचा सदरपुर में मदरसा इस्लामिया में र्क्लक थे। वह शनिवार रात को पत्नी शगुफ्ता और बेटा जयाद व बेटी मायरा के साथ सोए थे। बेटा जयाद अभी दो साल का था, जबकि बेटी मायरा तीन वर्ष की थी। उन्होंने बताया कि आसिफ के परिवार वालों को खबर दी गई है। आर्थिक सहायता के बारे में उन्होंने कहा, उच्चाधिकारियों से सलाह लेंगे।

गोड़ियनटोला में थी मृतक आसिफ की ससुराल
मदरसा के शिक्षक अब्दुल्ला गजाली ने बताया कि आसिफ मदरसा में पिछले करीब 12 साल से क्लर्क पद पर नौकरी कर रहे थे। आसिफ तीन भाई और दो बहनें व उनकी बुजुर्ग मां हैं, जो लखनऊ के रसूलपुर सादात गांव में ही रहते हैं। आसिफ की ससुराल सीतापुर नगर के मन्नी चौराहे के पास गोड़ियन टोला में है। आसिफ की पत्नी शगुफ्ता अपने पिता कमर अली की दूसरी संतान थीं। शगुफ्ता की बड़ी बहन की भी पहले मौत हो चुकी है, उनसे भी एक छोटी बहन व दो भाईं हैं। शगुफ्ता के पिता नहीं हैं, हां मां जरूर जीवित हैं।

पढ़ें :- CM योगी ने कैबिनेट को सौंपी 2024 में बीजेपी की जीत की जिम्मेदारी, 48 मंत्रियों को 75 जिलों का मिला प्रभार

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com