Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. बागी नेताओं ने बढ़ाई भाजपा और कांग्रेस की चिंता, रूठे नेताओं को मनाने में जुटी दोनों पार्टियां

बागी नेताओं ने बढ़ाई भाजपा और कांग्रेस की चिंता, रूठे नेताओं को मनाने में जुटी दोनों पार्टियां

आज नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि है ऐसे में भाजपा और कांग्रेस पार्टी अपने अपने बागी नेताओं को मनाने में जुट गई हैं।

By Ujjawal Mishra 

Updated Date

Uttarakhand Assembly Election 2022 : उत्तराखंड में 14 फरवरी को विधानसभा चुनाव होना है। लिहाजा सभी सीटों पर उम्मीदवारों ने अपना नामांकन भी दाखिल कर दिया है। आज नामांकन वापस लेने की अंतिम तिथि है ऐसे में भाजपा और कांग्रेस पार्टी अपने अपने बागी नेताओं को मनाने में जुट गई हैं। टिकट ना मिलने के कारण दोनों ही पार्टी के कई नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा देकर निर्दलीय चुनाव में उतरने का मन बना बैठे हैं।

पढ़ें :- सीएम धामी का दो दिवसीय पिथौरागढ़ का कार्यक्रम आज, 10 बजे कानून,महिला सुरक्षा के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक

पार्टी के बागी नेता बढ़ा रहें पार्टी की मुश्किलें 

बागी नेताओं का यह कदम भाजपा और कांग्रेस पार्टी के लिए मुसीबत बनती जा रही है। लिहाजा दोनों ही राजनीतिक दलों ने अपने अपने बागी नेताओं को मनाने के लिए आज अंतिम दाव चलना शुरू कर दिया है। हालांकि कुछ सीटों पर दोनों ही पार्टियों को अपने बागी नेताओं को मनाने में सफलता जरूर मिली है। पर अधिकांश ऐसे सीट अभी भी बचे हुए जहां पार्टी इन नेताओं को मनाने में असफल रही है। लिहाजा दोनों ही दल यह बिल्कुल भी नहीं चाहते कि उनके नेता विधानसभा चुनाव में किसी भी तरह का कोई नुकसान पहुंचाए।

दोनों ही दलों ने बागी नेताओं को दिया अल्टीमेटम 

बता दें कि रूठे नेताओं को मनाने में असफल होने के बाद से अब भाजपा और कांग्रेस ने बागी नेताओं को साफ शब्दों में यह अल्टीमेटम दिया है कि अगर वो समय रहते नहीं मान जाते और अपना नामांकन आज वापस नहीं ले लेते तो उनको पार्टी से हमेशा के लिए बर्खास्त कर दिया जायेगा। बता दें कि राज्य में भाजपा के 22 बागी विधायकों ने 16 विधानसभा सीटों पर और कांग्रेस पार्टी के बागी नेताओं ने 13 सीटों पर नामांकन दाखिल किया है। इन बागी नेताओं को मनाने के लिए भाजपा की तरफ से खुद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी मैदान में उतर चुके हैं। इसके अलावा भाजपा ने अपने सांसदो को भी रूठे नेताओं को मनाने के लिए आगे किया है।

पढ़ें :- उत्तराखंड में नए नामों से जाने जाएंगे ये शहर और जिला, कहा: सरकार को चाहिए कि ठेट पहाड़ों में बेहतर सुविधा मुहैया करवाएं

कांग्रेस पार्टी के भी कई बड़े नेता रूठे नेताओं को मनाने में जुटे 

फिलहाल कांग्रेस में भी बगावत कम नहीं हो रही है। 13 सीटों पर बागियों को मनाने के लिए प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, सह प्रभारी राजेश धर्माणी, दीपिका पांडेय सिंह, कुलदीप इंदौरा और वरिष्ठ पर्यवेक्षक मोहन प्रकाश उनसे संपर्क कर रहे हैं। जबकि रायपुर सीट से रविवार को नामांकन दाखिल करने वाले सूरत सिंह नेगी को मनाने में कांग्रेस को सफलता मिली है। लेकिन लालकुआं सीट पर पूर्व सीएम हरीश रावत की मुश्किलें बढ़ी हुई हैं और बागी संध्या दलाकोटी अब तक मैदान छोड़ने को तैयार नहीं हैं। जिसके कारण पार्टी की मुश्किलें बढ़ी हुई हैं।

 

 

पढ़ें :- नैन्सी कॉन्वेंट कॉलेज में छात्राओं ने लगाया कॉलेज स्टाफ पर उत्पीड़न का आरोप, धरना-प्रदर्शन
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com