1. हिन्दी समाचार
  2. झारखंड
  3. रघुबर दास हुए सरकार पर हमलावर, बोले सीएम की पत्नी ने फर्जीवाड़ा कर खरीदी आदिवासी ज़मीन

रघुबर दास हुए सरकार पर हमलावर, बोले सीएम की पत्नी ने फर्जीवाड़ा कर खरीदी आदिवासी ज़मीन

रघुबर दास के कार्यकाल में क्लीन चिट मिलने को लेकर जब पत्रकारों द्वारा सवाल पूछा गया तो इस पर रघुबर दास ने जवाब दिया कि, अगर मेरी सरकार में घोटाला हुआ है और उस समय पूजा सिंघल को बचाया गया है तो हेमंत सरकार इसकी जांच क्यों नहीं करवाती है।

By Akash Singh 
Updated Date

रांची : राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने गुरुवार को प्रेस कांफ्रेंस कर राज्य के सीएम हेमंत सोरेन समेत उनके करीबीयों पर खूब हमला बोला। उन्होंने कहा कि प्रदेश भाजपा का एक प्रतिनिधिमंडल 13 मई को राज्यपाल से मिलेगा। राज्यपाल से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के खिलाफ भ्रष्टाचार की जांच स्वतंत्र एजेंसी से कराने के साथ उन्हें पद के लिए अयोग्य ठहराने की भी मांग की जायेगी।

पढ़ें :- IAS Pooja Singhal Case : तीन जिलों के खनन पदाधिकारियों को समन, हो सकती है बड़ी कार्यवाई

हेमंत सोरेन की पत्नी पर लगाये आरोप 

पत्रकारों से बातचीत में दास ने कहा कि वर्ष 2009 में अरगोड़ा में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना मुर्मू सोरेन जो कि उड़ीसा राज्य की आदिवासी श्रेणी की महिला हैं। उन्होंने दो सेल डीड के द्वारा 13 कट्ठा 14 छटाक एवं 17 कट्ठा आठ छटाक की आदिवासी भूमि का क्रय किया। उक्त दोनों डीड में उन्होंने अपने पति हेमंत सोरेन का नाम ना लिखकर अपने पिता अंपा मांझी का नाम दर्शाया और अपनी जाति संथाल बताते हुए अपना निवास स्थान हरमू कॉलोनी, थाना अरगोड़ा रांची दिखाया।

दास ने कहा कि नियमानुसार किसी अन्य राज्य के आरक्षित श्रेणी का व्यक्ति झारखंड राज्य में आरक्षण का लाभ नहीं ले सकता है और सीएनटी एक्ट के प्रावधानों के अनुसार किसी आदिवासी भूमि के खरीद के लिए उसे विक्रेता के ही थाना क्षेत्र का होना भी आवश्यक है, जो दोनों शर्तें कल्पना मुर्मू नहीं पूरा कर रही थी। इसलिए उनके द्वारा झारखंड राज्य में आरक्षित श्रेणी और अरगोड़ा थाना क्षेत्र का निवासी बताया जाना दोनों गलत है।

क्लीन चिट वाले सवाल पर रघुबर दास का जवाब 

पढ़ें :- ED के रिमांड में बिगड़ी निलंबित आईएस पूजा सिंघल की तबियत, लगातार हो रही है स्वास्थ्य की जांच

रघुबर दास के कार्यकाल में जांच न होने को लेकर जब पत्रकारों द्वारा सवाल पुछा गया तो इसपर रघुबर दास ने जवाब दिया कि, अगर मेरी सरकार में घोटाला हुआ है और उस समय पूजा सिंघल को बचाया गया है तो हेमंत सरकार इसकी जांच क्यों नहीं करवाती है। आगे उन्होंने बताया कि उनकी सरकार के दौरान भी अपर सचिव की अध्यक्षता में एक कमेटी बनी थी। उस समय उन्हें साक्ष्य नहीं मिला होगा तो क्लीन चिट दे दी गई होगी।  उन्होंने कहा अगर सरकार इस मामले में बहुत चिंतित है तो वह 24 घंटे के अन्दर यह मामला सीबीआई को सौंप दे

हेमंत सरकार ने इतिहास बनाने का काम किया है

उन्होंने कहा कि इस सरकार ने इतिहास बनाने का काम किया है। हेमंत सोरेन देश के काले मुख्यमंत्री के रूप में  जाने जायेंगे, जिन्होंने किसी अधिकारी पर हुई कार्रवाई से बौखला कर अपने कार्यकर्ताओं को सड़क पर उतार दिया गया है। आगे उन्होंने कहा पूजा सिंघल कभी उनकी सरकार में सचिव नहीं थीं।  प्रेसवार्ता में पूर्व विधायक राम कुमार पाहन और प्रदेश प्रवक्ता कुणाल सारंगी उपस्थित थे।

रघुबर दास ने कहा – रोहिंग्या बांग्लादेशी शांत रहें

मिडिया द्वारा यह सवाल पूछा गया कि भाजपा को आदिवासी सीएम नहीं पसंद है तो इसपर रघुबर दास ने कहा – महागठबंधन ने दो भोपू हैं जिसमे से एक भोपू रोहिंग्या बंगलादेशी है वह अगर अपना भला चाहते हैं तो उनका मुंह न खुलवाएं उन्होंने आगे कहा की झारखंड को अलग राज्य बनाने के लिए शिबू सोरेन ने बड़ी कुर्बानी दी थी। उनके साथ सरकार में चार माह काम करने का मौका मिला।

पढ़ें :- Jharkhand : खनन पट्टा और आय से अधिक संपत्ति मामले की अगली सुनवाई अब 17 को होगी, पढ़ें पूरी खबर

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...