1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. नए साल पर सीएम धामी ने दिया छात्रों को तोहफा, शुरू की निःशुल्क टैबलेट योजना

नए साल पर सीएम धामी ने दिया छात्रों को तोहफा, शुरू की निःशुल्क टैबलेट योजना

लगभग 2 लाख 65 हजार विद्यार्थी होंगे लाभान्वित

By इंडिया वॉइस 
Updated Date
  • बच्चों के पढ़ाई के लिए सरकार दे रही टैबलेट – मुख्यमंत्री धामी
  • टैबलेट के लिए 12 हजार डीबीटी के जरिए भेजी गई

देहरादून, 01 जनवरी। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को विद्यार्थियों के लिए निःशुल्क टैबलेट योजना का शुभारंभ किया। यह कार्यक्रम प्रदेश के सभी 70 विधानसभाओं में आयोजित किया गया। इस योजना के तहत राज्य के डिग्री कालेजों और राजकीय स्कूलों के 10वीं और 12वीं के विद्यार्थियों के लगभग 2 लाख 65 हजार विद्यार्थी लाभान्वित होंगे।

पढ़ें :- सीएम धामी का दो दिवसीय पिथौरागढ़ का कार्यक्रम आज, 10 बजे कानून,महिला सुरक्षा के सम्बन्ध में समीक्षा बैठक

100 छात्र-छात्राओं को दिया टैबलेट 

राजकीय बालिका इण्टर कॉलेज राजपुर रोड में निःशुल्क मोबाइल टैबलेट योजना के क्रियान्वयन के लिए आयोजित जनसंवाद कार्यक्रम में मुख्यमंत्री प्रतिभाग करते हुए 100 छात्र-छात्राओं को सांकेतिक रूप से यह निःशुल्क टैबलेट दिए गए। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने राजकीय बालिका इण्टर कॉलेज राजपुर रोड में ऑडिटोरियम बनाने की घोषणा की।

बच्चों की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए बांटा जा रहा है टैबलेट

मुख्यमंत्री ने सभी को नववर्ष की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कोरोना काल में ऑनलाइन पढ़ाई के लिए बच्चों को काफी परेशानियों को सामना करना पड़ा। बच्चों की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए सरकार की ओर से उनके लिए टैबलेट उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जब भी वे बच्चों के बीच जाते हैं, तो उनकी बचपन की यादें ताजा हो जाती हैं।

पढ़ें :- सीएम पुष्कर सिंह धामी पहुंचे दून मेडिकल कॉलेज, ओटी, इमरजेंसी और आईसीयू ब्लॉक भवन का किया लोकार्पण

उन्होंने कहा कि जीवन में अपने उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए सबको समय का सदुपयोग करना होगा। जीवन में जो भी कार्य करें, पूरे मनोयोग से करें। विकल्प रहित संकल्प के साथ सबको जीवन में आगे बढ़ना होगा। उन्होंने कहा कि भारत एक युवा देश है। देश की 65 प्रतिशत आबादी 35 वर्ष से कम आयु वर्ग की है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से प्रगति के पथ पर अग्रसर होते हुए भारत आत्मनिर्भर भारत बन रहा है।

500 स्कूलों में चलाई जा रही हैं वर्चुअल कक्षाएं 

पढ़ें :- उत्तराखंड में नए नामों से जाने जाएंगे ये शहर और जिला, कहा: सरकार को चाहिए कि ठेट पहाड़ों में बेहतर सुविधा मुहैया करवाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में शिक्षा के गुणात्मक सुधार के लिए राज्य सरकार की ओर से हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। डिजिटल लर्निंग के अन्तर्गत राज्य के 500 स्कूलों में वर्चुअल कक्षाएं चलाई जा रही हैं। 600 अन्य स्कूलों में भी शीघ्र ये सेवाएं शुरू की जाएंगी। राज्य के 709 राजकीय विद्यालयों में 1418 स्मार्ट कक्षाएं स्थापित की जा रही हैं, यह कार्य 15 जनवरी 2022 तक पूर्ण कर लिया जाएगा।

राज्य सरकार की ओर से सभी राजकीय विद्यालयों में कक्षा 9 से 12 तक के विद्यार्थियों के लिए निःशुल्क पाठ्य पुस्तक उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है। राजकीय स्कूलों में कक्षा 1 से 08 तक के विद्यार्थियों के लिए भी निःशुल्क बैग और जूते उपलब्ध कराए जा रहे हैं। छात्रहित में राज्य स्तरीय छात्रवृत्ति की धनराशि बढ़ाई गई है।

कोरोना बचाव के लिए पूरी तैयारी

पढ़ें :- अंकिता भंडारी मर्डर केस:CM धामी के आदेश पर, आरोपी के रिजाॅर्ट पर चली बुलडोजर

शिवानन्द नौटियाल राज्य योग्यता छात्रवृत्ति की धनराशि को प्रतिमाह 250 रुपये से बढ़ाकर 1500 रुपये किया गया है और लाभार्थी विद्यार्थियों की संख्या भी 11 से बढ़ाकर 100 की गई है। श्रीदेव सुमन छात्रवृत्ति की धनराशि भी 150 रुपये से बढ़ाकर 01 हजार रुपये की गई है। मुख्यमंत्री प्रतिभा प्रोत्साहन योजना के तहत 12 वीं कक्षा के मेधावी विद्यार्थियों को 2500 सौ रुपये की छात्रवृत्ति 5 साल तक दी जा रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए सरकार की ओर से पूरी तैयारी की गई है। वे प्रदेशवासियों से अपील की कि कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन से बचाव के लिए सतर्कता जरूरी है। कोरोना एप्रोप्रिएट विहैवियर का पालन जरूर करें।

2 लाख 65 हजार छात्र होंगे लाभान्वित

प्रदेश में लगभग 2 लाख 65 हजार विद्यार्थियों को पढ़न-पाढ़न के लिए राज्य सरकार द्वारा निःशुल्क टैबलेट खरीद के लिए प्रति विद्यार्थी को डीबीटी के माध्यम से 12 हजार रुपये की उपलब्ध कराई जा रही है। इसी क्रम में टैबलेट खरीद के लिए राजकीय स्कूलों के 10 वीं, 12 वीं के 01 लाख 59 हजार विद्यार्थियों को डीबीटी के जरिए धनराशि दी गई है।

कार्यक्रम में सचिव शिक्षा आर.मीनाक्षी सुन्दरम, जिलाधिकारी देहरादून डॉ.आर.राजेश कुमार,शिक्षा महानिदेशक वंशीधर तिवारी, माध्यमिक शिक्षा निदेशक सीमा जौनसारी, निदेशक एस.सी.ई.आर.टी आर. के कुंवर, मुख्य शिक्षा अधिकारी देहरादून डॉ. मुकुल कुमार सती, प्रधानाचार्या राजकीय बालिका इण्टर कॉलेज राजपुर रोड प्रेमलता बौड़ाई, स्कूल की शिक्षिकाएं एवं छात्राएं मौजूद थे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...