1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. नौसेना की ये मिसाइल छुड़ा देगी दुश्मनों के पसीने, VL-SRSAM मिसाइल का किया गया सफल परीक्षण

नौसेना की ये मिसाइल छुड़ा देगी दुश्मनों के पसीने, VL-SRSAM मिसाइल का किया गया सफल परीक्षण

VL-SRSAM मिसाइल को डीआरडीओ और भारत डायनेमिक्स लिमिटेड ने मिलकर निर्मित किया है। इसका नाम वर्टिकल लॉन्च-शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल (VL-SRSAM) रखा गया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

भारतीय नौसेना के युद्धपोत से DRDO ने  एक ऐसी मिसाइल का परीक्षण किया है, जो पलक झपकते ही दुश्मन के हवाई हमले को ध्वस्त कर सकती है। इसकी मारक क्षमता, गति व सटिकता इतनी घातक है कि ये अपने रडार में दुश्मन के हवाई हमलों को पकड़ लेती है। इस मिसाइल का नाम है वर्टिकल लॉन्च-शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल (VL-SRSAM). इसने कम ऊंचाई पर उड़ रहे टारगेट को मारकर गिरा दिया।

पढ़ें :- केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज करेंगे मां वैष्णो देवी के दर्शन, 1900 करोड़ के विकास कार्यों का करेंगे शिलान्यास

भारतीय नौसेना (Indian Navy) ने कम ऊंचाई पर उड़ रहे टारगेट को अपनी सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल से मार गिराया। भारतीय नौसेना ने अपनी ताकतवर गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण किया। कम ऊंचाई पर उड़ने वाले टारगेट का मतलब होता है कि राडार को चकमा देकर आ रहा विमान, ड्रोन, मिसाइल या हेलिकॉप्टर। यानी भारत को अब दुश्मन इस तरीके से भी चकमा नहीं दे सकता। भारतीय मिसाइल दुश्मन की धज्जियां उड़ा देंगी।

 VL-SRSAM मिसाइल प्रणाली

आपको बता दें कि VL-SRSAM मिसाइल को DRDO और भारत डायनेमिक्स लिमिटेड ने मिलकर बनाया है।  इस मिसाइल का वजन 154 किलोग्राम है और ये करीब 12.6 फीट लंबी है। ये 12 किलोमीटर की ऊंचाई तक जा सकती है। VL-SRSAM मिसाइल की मारक क्षमता 25 से 30 किलोमीटर है। ये मिसाइल कम ऊंचाई पर उड़ने वाले दुश्मन के जहाज और मिसाल को निशाना बनाकर उसे मार गिराने में सक्षम है। ये मिसाइल इतनी तेज है कि ये रडार में पकड़ आने से पहले ही अपने टारगेट को मार गिराती है। इसके अलावा यह मिसाइल समुद्र की सतह के बेहद नजदीक से उड़ान भरने में सक्षम है।

पढ़ें :- सोनिया गांधी 6 अक्तूबर को भारत जोड़ो यात्रा में शामिल होंगी, कांग्रेस ने साधा RSS पर निशाना
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...