1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP में दलबदल की राजनीति उफान पर, अब तक 14 विधायकों ने छोड़ा योगी का साथ

UP में दलबदल की राजनीति उफान पर, अब तक 14 विधायकों ने छोड़ा योगी का साथ

उत्तर प्रदेश की सियसत में इन दिनों भूचाल मचा हुआ है। चुनावी तारीखों के ऐलान के बाद से ही भाजपा में इस्तीफ़े का दौर शुरू हो गया है।

By Ujjawal Mishra 
Updated Date

UP Assembly Election 2022 : उत्तर प्रदेश की सियासत में तोड़फोड़ का क्रम जारी है। योगी मंत्रिमंडल में आयुष मंत्री धर्म सिंह सैनी और 03 विधायकों ने गुरुवार को इस्तीफा दे दिया है। अब तक 03 मंत्रियों के अलावा 11 विधायक भाजपा से इस्तीफा दे चुके हैं।

पढ़ें :- UP में 10 मार्च के बाद महिलाओं को सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा : CM योगी

भाजपा से बगावत करने वाले सैनी ने पूर्व मुख्यमंत्री व सपा मुखिया अखिलेश यादव से मुलाकात की। अखिलेश यादव ने मुलाकात की यह फोटो ट्वीट करके सैनी के इस कदम का स्वागत किया है। इससे माना जा रहा है कि सैनी का भी ठिकाना भी स्वामी प्रसाद मौर्य और दारा सिंह चौहान की तरह समाजवादी पार्टी ही होगी।

इस्तीफा देने वाले सभी विधायक दूसरे दलों से भाजपा में हुए थे शामिल 

योगी मंत्रिमण्डल से इस्तीफा देने वाले मंत्रियों में स्वामी प्रसाद मौर्य, दारा सिंह चौहान या फिर धर्म सिंह सैनी 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले बहुजन समाज पार्टी से भाजपा में शामिल हुए थे।

गुरुवार को इस्तीफ़ा देने वाले विधायकों में औरैया से बिधूना विधायक विनय शाक्य, लखीमपुर खीरी से विधायक बाला प्रसाद अवस्थी, शिकोहाबाद से विधायक मुकेश वर्मा हैं। चारों नेताओं ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। इस बीच सुल्तानपुर सदर से भाजपा विधायक सीताराम वर्मा ने भाजपा छोड़ने की खबर को अफवाह बताया है।

पढ़ें :- गुरुवार को अमेठी और प्रयागराज में रैली करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

टिकट कटने के डर से छोड़ा भाजपा का साथ 

दरअसल, भाजपा ने 2017 के चुनावों से पहले विभिन्न स्तरों पर अपने विधायकों के बारे में फीडबैक एकत्र किया था। कई विधायकों की रिपोर्ट अच्छी नहीं थी। उसमें कई मंत्री भी शामिल थे। दूसरे दलों से आए नेताओं का भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ बहुत अच्छा व्यवहार भी नहीं था। लिहाजा हर स्तर पर उनकी रिपोर्ट नकारात्मक बताई जा रही थी।

पढ़ें :- कर्नाटक में बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या के विरोध में मार्च

लिहाजा पार्टी नेतृत्व ने ऐसे लोगों का टिकट काटने का मन बना लिया था। पार्टी के टिकट काटने से पहले ही कई विधायक छोड़कर भागने लगे हैं। भाजपा का साथ छोड़ने वाले ज्यादातर विधायक सीधे सपा में शामिल हो रहे हैं या फिर समाजवादी पार्टी गठबंधन का हिस्सा वाले दल में जा रहे हैं।

इन विधायकों ने दिया इस्तीफा

1. स्वामी प्रसाद मौर्या- कुशीनगर

2. धर्म सिंह सैनी- सहारनपुर

3. भगवती सागर- बिल्हौर, जिला कानपुर देहात

4. रोशनलाल वर्मा-तिलहर

पढ़ें :- खीरी : ईवीएम में फेवीक्विक लगाने के मामले में दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज

5. विनय शाक्य- बिधूना, जिला औरैया

6. अवतार सिंह भड़ाना

7. दारा सिंह चौहान- मधुबन, जिला मऊ

8. बृजेश प्रजापति- तिंदवारी, जिला बांदा

9. मुकेश वर्मा-शिकोहाबाद, जिला फिरोजाबाद

10. जय चौबे- खलीलाबाद

11. माधुरी वर्मा- नाना पारा, जिला बहराइच

पढ़ें :- कुंडा विधानसभा सीट से राजा भैया के किले को भेदना भाजपा और सपा के लिए कड़ी चुनौती !

12. केके शर्मा- बुलंदशहर

13. राकेश राठौर- सीतापुर सदर

14. बाला अवस्थी-धरौहरा, जिला लखीमपुर खीरी

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...