1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. असम के कोकराझार में आतंकियों का हमला, पुलिस कस्टडी में मौजूद दो अंतरराष्ट्रीय माफिया ढेर

असम के कोकराझार में आतंकियों का हमला, पुलिस कस्टडी में मौजूद दो अंतरराष्ट्रीय माफिया ढेर

- उत्तर प्रदेश के मेरठ निवासी हैं मारे गये माफिया

By Akash Singh 
Updated Date

कोकराझार में आतंकियों ने पुलिस टीम पर मंगलवार की तड़के घात लगाकर हमला किया, जिसमें चार पुलिस कर्मी घायल हो गये, जबकि पुलिस का वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया। पुलिस की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई में पुलिस की कस्टडी में मौजूद दो अंतरराष्ट्रीय माफिया मुठभेड़ में मारे गये। दोनों माफिया उत्तर प्रदेश के मेरठ के रहने वाले बताये गये हैं।

पढ़ें :- महाराष्ट्र सरकार के मंत्री नवाब मलिक को झटका, जमानत याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

कराझार जिला के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुरजित सिंह पानेसर ने मंगलवार को बताया कि कुछ दिन पहले गोसाईगांव थाने में दर्ज एक केस के सिलसिले में मेरठ से अकबर बंजारा और सलमान बंजारा को गिरफ्तार करके असम लाया गया था। पुलिस के मुताबिक यह माफिया गायों की अंतरराष्ट्रीय तस्करी के साथ ही हवाला के माध्यम से पैसे के लेन-देन का कारोबार करते थे। पुलिस की जांच में कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। जांच में यह तथ्य भी सामने आया है कि मवेशियों की तस्करी में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई भी शामिल है।

पूछताछ के दौरान दोनों माफिया ने यह भी बताया था कि इस अवैध धंधे की एक बड़ी धनराशि बीटीसी के चरमपंथी संगठनों जैसे एनडीएफबी, केएलओ के कोकराझार, चिरांग, बाक्सा और मेघालय के कुछ चरमपंथी संगठनों के साथ ही अन्य आतंकवादी संगठनों को भी भेजी जाती है। हवाला के जरिए चरमपंथियों के पास पैसे पहुंचाए जाते हैं। हवाला के पैसे का इस्तेमाल भारत विरोधी गतिविधियों में किया जाता है। हवाला का व्यापार हुंडी और सोने के रूप में भी किया जाता है। मवेशियों की तस्करी सोनकोश नदी के जरिए किया जाता जाता है। उन्होंने मवेशियों की तस्करी के लिए अपनाए जाने वाले रास्तों के बारे में भी पुलिस को जानकारी दी है।

पुलिस के मुताबिक दोनों माफिया को बीती रात कुछ महत्वपूर्ण तथ्य एकत्र करने के लिए गोसाईगांव अंतर्गत यमदुवार इलाके में ले जाया गया था। वहां पहुंचते ही संदिग्ध उग्रवादियों ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस का वाहन रोकने के लिए पेड़ गिराकर सड़क को अवरूद्ध कर दिया गया था। अचानक हुए हमले से पुलिस टीम हतप्रभ हो गयी। पुलिस कर्मियों ने वाहन से कूदकर तुरंत पोजीशन लेते हुए उग्रवादियों पर फायरिंग शुरू कर दी। पुलिस और आतंकियों के बीच लगभग 10-12 मिनट तक फायरिंग हुई।

इस दौरान वाहन के अंदर मौजूद अकबर बंजारा और सलमान बंजारा को गोली लग गई। पुलिस ने गोलीबारी रुकने के बाद तुरंत दोनों को अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया। शराइबिल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉक्टरों ने अकबर और सलमान को जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। इलाके में पुलिस का सर्च ऑपरेशन जारी है। मौके से एक एके-47 राइफल, दो मैगजीन, 35 जिंदा गोलियां बरामद की गई हैं। साथ ही एके-47 राइफल की 28 खाली गोलियां बरामद हुई हैं। इस घटना में चार पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। इस घटना के बाद से पूरे क्षेत्र में पुलिस की गश्त तेज हो गयी है।

पढ़ें :- झारखंड में पंचायत चुनाव 14 मई से, चार चरणों में होगा मतदान, जानें पूरा ब्यौरा

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...