1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. CM योगी ने गोरखपुर सीट से किया नामांकन पत्र दाखिल, नामांकन से पहले गोरक्षनाथ मंदिर में की विधिवत पूजा अर्चना

CM योगी ने गोरखपुर सीट से किया नामांकन पत्र दाखिल, नामांकन से पहले गोरक्षनाथ मंदिर में की विधिवत पूजा अर्चना

CM Yogi Filed Nomination : सीएम योगी ने आज विधानसभा चुनाव के लिए गोरखपुर शहरी सीट से नामांकन पत्र दाखिल कर दिया। नामांकन दाखिल करने से पहले सीएम योगी ने गोरक्षनाथ मंदिर में विधिवत पूजा अर्चना की।

By Ujjawal Mishra 
Updated Date

UP Assembly Election 2022 : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में गोरखपुर सीट से अपनी दावेदारी ठोकने के लिए सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज नामांकन दाखिल करने से पहले गोरक्षनाथ मंदिर में पूरे विधि विधान से पूजा अर्चना की। इस दौरान सीएम योगी ने मंदिर परिसर में रुद्राभिषेक और हवन पूजा किया।

पढ़ें :- सीएम योगी ने आजम खान पर कास तंज, कही ये बात, पढ़ें

नामांकन से पहले गुरु का लिया आशीर्वाद 

गोरक्षनाथ मंदिर के पहले मंजिल पर स्थित भगवान शिव के समक्ष रुद्राभिषेक करने के बाद सीएम योगी ने गुरु गोरक्षनाथ की पूजा कर ब्रह्मलीन महंत दिग्विजय नाथ और ब्रह्मलीन महंत अवद्यनाथ की प्रतिमा के सामने प्रणाम कर उनका आशीर्वाद लिया। विधि विधान से पूजा अर्चना करने के बाद योगी आदित्यनाथ नामांकन दाखिल करने कलेक्ट्रेट पहुंचे।

सीएम योगी के साथ अमित शाह भी रहे मौजूद 

मंदिर में पूजा अर्चना करने और गुरु से आशीर्वाद ग्रहण करने के बाद सीएम योगी जिला कलेक्ट्रेट पहुंचें। उनका नामांकन एडीएम वित्त एवं राजस्व की कोर्ट संख्या 24 में हुआ। इनके साथ प्रस्तावकों के अलावा केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह भी मौजूद रहे। योगी आदित्यनाथ के नामांकन के वक्त कलेक्ट्रेट गेट के बाहर भाजपा कार्यकर्ताओं और योगी समर्थकों का भारी हुजूम इकठ्ठा रहा। हालांकि इस दौरान कहा जा रहा था कि अमित शाह कलेक्ट्रेट परिसर नहीं जायेंगे वहां केवल उम्मीदवार के साथ प्रस्तावक ही जायेंगे।

पढ़ें :- UttarPradesh : मुख्यमंत्री का अखिलेश पर तंज, 'सदन में जमीनी धरातल की बात होती तो अच्छा होता'

चार प्रस्तावक भी रहे मौजूद 

सीएम योगी के नामांकन पत्र दाखिल करते वक्त उनके साथ चार प्रस्तावक भी मौजूद रहे। जिसमें दलित, ब्राह्मण, कायस्थ और वैश्य समुदाय के लोग शामिल थे। योगी, अपने चार प्रस्तावकों सुरेंद्र अग्रवाल, मनकेश्वरनाथ पांडेय, विश्वनाथ प्रसाद और मंगलेश श्रीवास्तव के साथ कोर्ट में पहुंचे। एडीएम वित्त व राजस्व के कोर्ट संख्या 24 में नामांकन किया। पर्चा दाखिला के दौरान कलेक्ट्रेट परिसर के भीतर और बाहर भारी सुरक्षा के इंतजाम किये गए थे। कलेक्ट्रेट की ओर आने वाली शहर की प्रमुख सड़कों के आवागमन में बदलाव कर दिया गया था।

पढ़ें :- UP में 10 मार्च के बाद महिलाओं को सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा : CM योगी

नामांकन से पहले जनसभा को किया संबोधित 

नामांकन दाखिल करने से पहले सीएम योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गोरखपुर के महाराणा प्रताप इंटर कॉलेज में एक जनसभा को भी संबोधित किया। जनसभा के दौरान मंच पर योगी आदित्यनाथ के साथ केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, केन्द्रीय मंत्री एवं उत्तर प्रदेश के चुनाव प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान के साथ भाजपा के अन्य बड़े नेता मुख्य रूप से मौजूद रहे।

बता दें कि कोरोना प्रोटोकॉल की वजह से यह जनसभा बेहद ही सीमित लोगों के साथ रखा गया था। जानकारी के अनुसार इस जनसभा में मात्र 1000 लोग एकत्रित हुए। लेकिन भाजपा ने जनसभा का लाइव प्रसारण गोरखपुर के विभिन्न इलाकों में करने की व्यवस्था की थी।

300 पार के संकल्प के साथ प्रदेश में आगे बढ़ रही है भाजपा – अमित शाह 

जनसभा को संबोधित करते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि 2014, 2017 और 2019 तीनों चुनाव में प्रदेश की जनता ने मोदी जी के नेतृत्व में यूपी के विकास का रास्ता तैयार कर प्रचंड बहुमत दिया। आज योगी जी के नामांकन भरने के साथ ही फिर से एक बार BJP यहां से 300 पार के संकल्प के साथ प्रदेश में आगे बढ़ रही है।

सिर्फ इतना ही नहीं उन्होंने गोरखपुर को एक नई परिभाषा भी दी। उन्होंने गोरखपुर का अर्थ बताते हुए कहा कि आज उत्तर प्रदेश के विकास में गोरखपुर का मतलब है: G – गंगा एक्सप्रस-वे, O – ऑर्गेनिक कृषि, R – रोड,  A – एम्स, K, H – खाद का कारखाना P, U – पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे R – रीजनल मेडिकल सेंटर।

पढ़ें :- गुरुवार को अमेठी और प्रयागराज में रैली करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

गोरखपुर सीट से लगातार 4 बार चुने गए सांसद 

गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ को 15 जनवरी को विधानसभा चुनाव के लिए गोरखपुर शहरी सीट से उम्मीदवार घोषित किया गया था।उससे पहले तमाम तरह की अटकलें लगाई जा रहीं थी कि सीएम योगी अयोध्या या फिर मथुरा से चुनाव लड़ सकते हैं। परंतु पार्टी ने उन्हें गोरखपुर से उम्मीदवार बनाकर स्थिति साफ कर दी। बता दें कि सीएम योगी गोरखपुर सीट से लगातार 4 बार सांसद चुने गए हैं। अब वह इस सीट से विधानसभा का चुनाव लड़ने जा रहे हैं। लिहाजा गोरखपुर सीट भाजपा के लिए हमेशा से ही सुरक्षित सीट मानी जाती रही है।

राज्य में 7 चरणों में होना है चुनाव

प्रदेश में विधानसभा का चुनाव कुल 7 चरणों में होना है। जिसमें पहले चरण का चुनाव 10 फरवरी को होगा। इसके अलावा 14 फरवरी को दूसरे चरण का चुनाव, 20 फरवरी को तीसरे, 23 फरवरी को चौथे, 27 फरवरी को पांचवे और 3 मार्च और 7 मार्च को छठे और सातवें चरण का चुनाव है। लिहाजा चुनाव की तारीख नजदीक होने के कारण राजनीतिक दलों द्वारा तैयारियां पूरे जोरशोर से चल रही हैं।

पढ़ें :- खीरी : ईवीएम में फेवीक्विक लगाने के मामले में दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...