1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Lohardaga Violence : घायलों से मिलने जा रहे पूर्व सीएम रघुवर दास को प्रशासन ने रोका, सरकार का विपक्ष पर राजनीति करने का आरोप

Lohardaga Violence : घायलों से मिलने जा रहे पूर्व सीएम रघुवर दास को प्रशासन ने रोका, सरकार का विपक्ष पर राजनीति करने का आरोप

पूर्व सीएम रघुवर दास ने रामनवमी शोभायात्रा के दौरान हिंसक झड़प में शामिल लोगों की पहचान कर बिना देरी के उन्हें गिरफ्तार करने की अपील की है। वहीं मामले में झारखंड सरकार के वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने रघुवर दास पर राजनीति करने का आरोप लगाया है।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची, 12 अप्रैल। झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास रामनवमी के दिन लोहरदगा हिंसा में घायल पीड़ितों के परिवार से मिलने लोहरदगा पहुंचे। लेकिन इस दौरान जिला प्रशासन ने सुरक्षा का हवाला देते हुए प्रभावित गांव जाने से उन्हें रोक दिया। जिसके बाद पूर्व सीएम रघुवर दास प्रशासन से नाराज दिखे।

पढ़ें :- झारखंड: मुस्लिम ने अपना नाम बदलकर की हिन्दू नाबालिग से दोस्ती, फिर रेप; सच पता चलने पर की हत्या की कोशिश

पढ़ें :- Jharkhand : विधायकों से नकदी मिलने का मामला, CID ने एक भवन से बरामद किया 3 लाख रुपए से ज्यादा का कैश

प्रदेश में सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश

लोहरदगा पहुंचे पूर्व सीएम दास ने कहा कि इस घटना को सुनियोजित साजिश के तहत अंजाम दिया गया है। यहां का सौहार्द बिगाड़ने की लगातार कोशिश की जा रही है। दास ने कहा कि हर पर्व-त्योहार के मौके पर शरारती तत्व माहौल बिगाड़ने में जुट जाते हैं। इसके बावजूद ना तो राज्य सरकार इस दिशा में गंभीर दिखती है और ना ही जिला प्रशासन कोई कार्रवाई करता नज़र आता है।

पूर्व सीएम दास ने की निष्पक्ष जांच की मांग

पूर्व सीएम रघुवर दास ने रामनवमी शोभायात्रा के दौरान हिंसक झड़प में शामिल लोगों की पहचान कर बिना देरी के उन्हें गिरफ्तार करने की अपील की है। साथ ही निर्दोष लोगों को परेशान नहीं करने की बात कही। इस दौरान पूर्व सीएम दास घायलों से मिलने लोहरदगा सदर अस्पताल भी गए। इस मौके पर उन्होंने निष्पक्ष जांच की मांग की है।

वहीं रघुवर दास ने कई संगठनों के लोगों के साथ बैठक कर पूरे मामले की जानकारी लेते हुए इस घटना पर दुख जाहीर किया और पीड़ित लोगों के परिजनों से वीडियो कॉल पर बात की और कहा कि जल्द ही उनके गांव आकर पीड़ित परिजनों से मिलेंगे। दास ने कहा कि प्रशासन ने मुझे लोहरदगा में घटना स्थल पर जाने से रोक तो दिया है। लेकिन वहां के लोगों से जुड़ने से नहीं रोक पाया। दास ने वीडियो कॉल के जरिए गांव वालों से बात की और उनका हौसला बढ़ाया।

रामेश्वर उरांव ने रघुवर दास पर राजनीति करने का आरोप लगाया

उधर मामले में झारखंड सरकार के वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने रघुवर दास पर राजनीति करने का आरोप लगाया है। मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा कि रघुवर दास इस घटना को तूल दे रहे हैं। मामले में सरकार अपने स्तर पर कार्रवाई कर रही है। सरकार दोषियों की शिनाख्त कर कार्रवाई में जुटी हुई है। ऐसी घटनाओं पर राजनीति करना शर्मनाक बात है। उन्होंने कहा कि रघुवर दास को जिला प्रशासन हर कार्रवाई से अवगत कराने के लिए तैयार है। पर उनके घटना स्थल पर जाने से और बयानबाजी से माहौल बिगड़ सकता है। रघुवर दास अगर चाहें तो प्रशासन से कार्रवाई संबंधित जानकारी हासिल कर सकते हैं।

जानें क्या है मामला ?

बतादें कि लोहरदगा जिले में हिरही भोक्ता बगीचा इलाके के पास रामनवमी की शोभायात्रा निकाले जाने के दौरान दो गुटों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। झड़प में एक व्यक्ति की मौत और 12 लोग घायल हुए थे। हिंसक झड़प के बाद प्रशासन ने लोहरदगा शहर में इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया था और धारा 144 लगा दी थी।

पढ़ें :- Jharkhand Money Laundering Case : साहिबगंज में सरकारी दफ्तरों पर ED की रेड, पंकज मिश्रा से पूछताछ के आधार पर कार्रवाई!
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...