1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. भारत सरकार ने कनाडा जाने वाले स्टूडेंट्स के लिए जारी किया अलर्ट, कहा- सतर्क रहें

भारत सरकार ने कनाडा जाने वाले स्टूडेंट्स के लिए जारी किया अलर्ट, कहा- सतर्क रहें

कनाडा में आए दिन हेट क्राइम के मामले सामने आ रहे है इसको मद्देनजर रखते हुए भारतीय नागरिकों और स्टूडेंट्स से कहा गया है कि वे हाई कमीशन ऑफ इंडिया या कॉन्सुलेट जनरल ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर रजिस्टर करें, ताकि उन्हें जरूरत पड़ने पर मदद दी जा सके.

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

Hate crimes: कनाडा में आए दिन भर्तियों के खिलाफ हेट क्राइम के मामले हो रहे है। विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को भारतीय नागरिकों और कनाडा में भारत के छात्रों और उस देश की यात्रा/शिक्षा के लिए जाने वालों को सलाह दी कि वे सावधानी बरतें और सतर्क रहें। कनाडा में “घृणा अपराधों, सांप्रदायिक हिंसा और भारत विरोधी गतिविधियों की घटनाओं में तेज वृद्धि” के कारण मंत्रालय ने यह सलाह जारी की।

पढ़ें :- Canada News:कनाडा के सैसकेचवेन जिले में चाकूबाजी से 10 लोगों की मौत, 15 घायल

हेट क्राइम के बढ़ते मामलों के बीच, भारत ने कनाडाई अधिकारियों से अनुरोध किया है कि वे मामलों की जांच करें और कड़ी कार्रवाई करें. विदेश मंत्रालय ने कहा,‘हेट क्राइम जैसे अपराधों को अंजाम देने वाले अपराधियों को अभी तक सजा नहीं दी गई है.’ मंत्रालय की तरफ से जारी बयान में कहा गया, ‘ऊपर बताए गए अपराधों के बढ़ने की वजह है, कनाडा में रहने वाले भारत के भारतीय नागरिक या स्टूडेंट्स और वहां ट्रैवल/एजुकेशन के लिए जाने वालों को सतर्क रहने और अपने आस-पास निगरानी रखने को कहा जाता है.’

पढ़ें :- कनाडा के टोरंटो में सड़क हादसा, 5 भारतीय छात्रों की मौत, विदेश मंत्री ने जताया शोक

भारत सरकार ने भारतीय नागरिकों और स्टूडेंट्स से आग्रह किया है कि वे ओटावा में स्थित हाई कमीशन ऑफ इंडिया या टोरंटो और वैंकुवर में स्थित कॉन्सुलेट जनरल ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर जाकर रजिस्टर करें. इसके अलावा, वे MADAD पोर्टल madad.gov.in पर जाकर भी रजिस्टर कर सकते हैं. विदेश मंत्रालय के बयान के मुताबिक, ‘यह किसी भी आपात स्थिति या जरूरत के समय में हाई कमीशन और कॉन्सुलेट जनरल को कनाडा में भारतीय नागरिकों के साथ बेहतर ढंग से जुड़ने में मदद करेगा.’

कनाडा में तथाकथित खालिस्तानी जनमत संग्रह पर भारत ने गुरुवार को कड़ी आपत्ति जताई है. भारत ने इसे बेहद आपत्तिजनक बताया बताया है. भारत ने कहा कि कनाडा हमारा मित्र देश है, लेकिन यहां पर कट्टरपंथी और चरमपंथी तत्वों को राजनीति से प्रेरित ऐसी गतिविधि की इजाजत दी गई. विदेश मंत्रालय ने कहा कि इस मुद्दे को कनाडा के समक्ष उठाया गया है और इस तरह के मामलों को कनाडा के सामने आगे भी उठाया जाता रहेगा. मंत्रालय ने कहा कि खालिस्तानी जनमत संग्रह पूरी तरह से फर्जी है.

कुछ दिनों पहले ही कनाडा के ओंटारियो में हुई गोलीबारी में घायल हुए भारतीय छात्र की शनिवार को मौत हो थी. इसके अलावा इस घटना में एक पुलिसकर्मी समेत दो अन्य लोगों की भी जान चली गई. हिल्टन क्षेत्रीय पुलिस सेवा (एचआरपीएस) की ओर से जारी किए गए बयान में बताया गया कि मिल्टन में पिछले सोमवार को हुई गोलीबारी में एक भारतीय छात्र घायल हो गया था. उसकी पहचान सतविंदर सिंह के रूप में हुई थी. पुलिस ने बताया, हैमिल्टन सरकारी अस्पताल में इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया.

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...