Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. बोले योगी-बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में शुद्ध पेयजल का सपना हो रहा साकार, मार्च 2024  तक हर घर में आएगा शुद्ध जल  

बोले योगी-बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में शुद्ध पेयजल का सपना हो रहा साकार, मार्च 2024  तक हर घर में आएगा शुद्ध जल  

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को जल जीवन मिशन और नमामि गंगे परियोजना की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकता में है।

By Rajni 

Updated Date

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोमवार को जल जीवन मिशन और नमामि गंगे परियोजना की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जल जीवन मिशन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्राथमिकता में है। भारत सरकार द्वारा इसके क्रियान्वयन की सतत समीक्षा की जा रही है।

पढ़ें :- ACTIONः चार बांग्लादेशियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, नागरिकता छिपाकर हासिल कर लिया था भारत का आधारकार्ड, पैन व पासपोर्ट

यह सुखद है कि जून 2023 के सर्वेक्षण में अचीवर श्रेणी के सभी तीन जिले (गौतमबुद्ध नगर, जालौन और शाहजहांपुर) उत्तर प्रदेश के हैं। परफॉर्मर श्रेणी में मैनपुरी और औरैया को शीर्ष दो स्थान मिले हैं, जबकि एस्पिरेन्ट्स श्रेणी में आजमगढ़ शीर्ष पर है। ऐसे ही प्रयास सभी जिलों में किए जाने चाहिए।

वर्तमान में हर दिन 43 हजार नल कनेक्शन लगाए जा रहे

उन्होंने कहा कि वर्तमान में 43 हजार नल कनेक्शन हर दिन लगाए जा रहे हैं। इसे 50 हजार दैनिक तक विस्तार दिए जाने की आवश्यकता है। प्रधानमंत्री मोदी ने जल जीवन मिशन की पूर्णता के लिए मार्च 2024 तक का लक्ष्य रखा है। प्रत्येक दशा में इस अवधि तक हर घर नल से जल की सुविधा उपलब्ध हो जाए।

उन्होंने कहा कि ‘हर घर नल-हर घर जल’ के संकल्प के साथ प्रदेश के 2.65 करोड़ ग्रामीण परिवारों को शुद्ध पेयजल मुहैया कराने का महाभियान चल रहा है। जल जीवन मिशन के प्रारंभ से पूर्व मात्र 5.16 लाख परिवारों को ही नल से शुद्ध पेयजल की उपलब्धता थी। लगातार प्रयासों से आज 01 करोड़ 30 लाख से अधिक परिवारों के लिए शुद्ध पेयजल का सपना साकार हुआ है। अकेले 59.38 लाख कनेक्शन वित्तीय वर्ष 2022-23 में लगाए गए हैं।

पढ़ें :- जिलाधिकारी कार्यालय पर धरने पर बैठा इंडी गठबंधन का प्रत्याशी, प्रशासन पर लगाया पर्ची नहीं बाटने का आरोप

हर गांव में प्रशिक्षित प्लंबर की तैनाती हो

कहा कि हर गांव में प्रशिक्षित प्लंबर की तैनाती कर दी जाए। इसमें अनावश्यक देरी न हो। कहा कि बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में शुद्ध पेयजल एक सपना था। आज यह सपना साकार हो रहा है। यह दोनों ही क्षेत्र शीर्ष प्राथमिकता में है। सतत प्रयासों से महोबा प्रदेश का पहला ऐसा जिला बनने जा रहा है, जहां हर घर नल से जल की सुविधा होगी।

झांसी, ललितपुर, हमीरपुर, जालौन, बांदा, चित्रकूट, मीरजापुर, सोनभद्र सहित पूरे विंध्य-बुंदेलखंड में आगामी दो माह में हर घर नल से जल का लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वाराणसी में उ.प्र. जल निगम (नगरीय) द्वारा अंडर यूटिलाइज्ड 120 एमएलडी गोइठा एसटीपी की उपयोग क्षमता में वृद्धि की जाए। अस्सी नाला ओवरफ्लो को टैप करने के लिए स्वीकृत 55 एमएलडी क्षमता के एसटीपी योजना को शीघ्र पूरा कराया जाए।

इसी प्रकार वाराणसी में 01 नॉन कम्प्लाएन्ट एसटीपी के अपग्रेडेशन का रेलवे के सहयोग से समयबद्ध ढंग से पूरा कराएं। कानपुर में उप्र जल निगम (नगरीय) के अधीन बनियापुर एसटीपी को चालू कराया जाए। नॉन कम्प्लान्ट 04 नग एसटीपी को तत्काल क्रियाशील कराएं। सीएम योगी ने कहा कि गांवों में रेन वॉटर हार्वेस्टिंग के लिए प्रोत्साहित किया जाए। यह देश के लिए जल संचय का एक अच्छा मॉडल बन सकता है।

पढ़ें :- लखनऊ में रियल एस्टेट कारोबारी से 12 करोड़ की ठगी, मुनाफा के नाम पर लगाया चूना
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com