1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP News:प्रयागराज में डेंगू से 24 घंटे में 3 लोगों की मौत,नहीं थम रहा डेंगू का कहर

UP News:प्रयागराज में डेंगू से 24 घंटे में 3 लोगों की मौत,नहीं थम रहा डेंगू का कहर

Dengue Terror:उत्तर-प्रदेश के प्रयागराज में बीते 24 घंटे में डेंगू से 3 लोगो की मौत की खबर सामने आई है,मेजा तहसील के उरुवा इलाके में एक भाजपा नेता समेत दो लोगो की मौत डेंगू से हुई है,जबकि 26 लोग टेस्ट में डेंगू संक्रमित पाए गए हैं,जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे की तमाम कोशिशों के बाद भी डेंगू का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है,दिल्ली में इलाज के दौरान डेंगू संक्रमित भाजपा नेता अशोक तिवारी की मौत हो गई,अब तक लगभग 60 लोगों की डेंगू से मौत हो चुकी है.

By रेनू मिश्रा 
Updated Date

Prayagraj News:उत्तर-प्रदेश के प्रयागराज में बीते 24 घंटे में डेंगू से 3 लोगो की मौत की खबर सामने आई है,मेजा तहसील के उरुवा इलाके में एक भाजपा नेता समेत दो लोगो की मौत डेंगू से हुई है,जबकि 26 लोग टेस्ट में डेंगू संक्रमित पाए गए हैं,जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमे की तमाम कोशिशों के बाद भी डेंगू का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है,दिल्ली में इलाज के दौरान डेंगू संक्रमित भाजपा नेता अशोक तिवारी की मौत हो गई,यमुनापार के उरवा विकासखंड के रामनगर गांव में डेंगू से 42 वर्षीय पिंटू केसरी और 50 वर्षीय अशोक केसरी की इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हुई है.

पढ़ें :- UP News:गोरखपुर में पंखे से लटका मिला पिता और दो बेटियों का शव,पास से मिला सुसाइड नोट

हालांकि सरकारी आंकड़ों में अब तक डेंगू से सिर्फ 6 लोगों की मौत हुई है,स्वास्थ्य महकमा डेंगू की स्थिति नियंत्रण में होने का दावा जरूर कर रहा है.CMO कार्यालय से हर दिन जारी होने वाले आंकड़े के मुताबिक अब तक जिले में डेंगू के 1168 मामले सामने आए हैं. जिले में डेंगू के 72 एक्टिव मरीज हैं. जबकि 1096 लोग स्वस्थ हो चुके हैं. वहीं डेंगू के 30 मरीजों का इलाज अलग अलग अस्पतालों में हो रहा है, जबकि 42 मरीजों का घर पर ही इलाज चल रहा है.

वहीं कमिश्नर प्रयागराज विजय विश्वास पंत का भी मानना है कि डेंगू का प्रकोप जिले में जरूर है. लेकिन स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है. उन्होंने कहा कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के निर्देश पर हर वार्ड में एक वार्ड मॉनिटरिंग कमेटी का भी गठन किया गया है. जोनल लेवल पर भी एक व्यवस्था बनाई गई है, जिसके तहत कोई पार्षद या फिर आमजन भी जाकर अपनी समस्या बता सकते हैं.

कमिश्नर के मुताबिक एक फीडबैक मैकेनिज्म बनाने का प्रयास किया गया है. ताकि सभी जगहों की समस्याओं को लेकर उसका समाधान किया जा सके. इसके तहत वार्डों में फागिंग एंटी लारवा स्प्रे जैसे सभी कार्य कराए जा रहे हैं. अगर किसी क्षेत्र में ऐसा कार्य नहीं हो रहा है तो लोग जोनल लेवल पर या फिर कमिश्नर दफ्तर में भी अपनी शिकायत कर सकते हैं. कमिश्नर के मुताबिक नगर निगम अपने स्तर से कार्य कर रहा है कुछ एंटी लार्वा स्प्रे मशीनों को भी लिया गया है और आसपास के जिलों प्रतापगढ़ और कौशांबी से भी जहां पर डेंगू का प्रकोप नहीं है. वहां से भी कुछ मशीनें मंगाई गई हैं.

जहां तक प्लेटलेट्स का सवाल है प्लेटलेट्स की कोई कमी नहीं है. लेकिन कमिश्नर ने अपील की है कि अगर ब्लीडिंग नहीं है और कोई डिसऑर्डर नहीं है तो 20 हजार प्लेटलेट्स रहने पर प्लेटलेट चढ़ाने की जरूरत नहीं होती है. लेकिन, किसी मरीज को अगर प्लेटलेट की जरूरत है तो वह चिकित्सक की परामर्श से ही प्लेटलेट चढ़ाने का काम करें और कंट्रोल रूम से संपर्क करें किसी दलाल के माध्यम से प्लेटलेट खरीदने की कोशिश कतई न करें. उन्होंने कहा है कि अगर किसी को प्लेटलेट्स की जरूरत है तो उसे प्लेटलेट उपलब्ध कराया जाएगा.

पढ़ें :- UP News:आजमगढ़ में फिर से देखने को मिला दिल्ली जैसा कांड,टुकड़े-टुकड़े में युवती का शव मिलने से मचा हड़कंप

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...