Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Nasal Covid Vaccine: केंद्र ने भारत की पहली Nasal Vaccine को किया लॉन्च, इतनी है कीमत

Nasal Covid Vaccine: केंद्र ने भारत की पहली Nasal Vaccine को किया लॉन्च, इतनी है कीमत

केंद्र सरकार ने 23 दिसंबर 2022 को भारत बायोटेक के नेजल वैक्सीन को मंजूरी दी थी। इस वैक्सीन को बूस्टर डोज के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। शुरुआत में निजी अस्पतालों में नेजल वैक्सीन लगाई जाएगी। सरकार ने इस वैक्सीन को भारत के कोविड 19 टीकाकरण कार्यक्रम में भी शामिल किया है। इससे पहले ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया, डीसीजीआई ने भारत बायोटेक की इंट्रानेजल कोविड वैक्सीन को इमरजेंसी यूज के लिए मंजूरी दी थी।

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

Bharat Biotech’s nasal Covid vaccine, iNCOVACC: भारत ने कोरोना से निपटने में एक और उपलब्धि हासिल की है। 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत में बनी पहली इंट्रानेजल कोविड वैक्सीन लॉन्च की गई है. स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया, विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री जितेंद्र सिंह ने भारत बायोटेक की नाक की कोविड वैक्सीन ‘iNCOVACC’ लॉन्च की। इसे पहले BBV154 नाम दिया गया था। भारत बायोटेक की ओर से विकसित ये वैक्सीन सरकार को 325 रुपये प्रति डोज में उपलब्ध होगी, जबकि निजी अस्पतालों में इसकी कीमत 800 रुपये होगी.

पढ़ें :- इतनी होगी भारत बायोटेक की नेजल वैक्सीन की कीमत, कोविन ऐप पर उपलब्ध - जानें

बता दें कि केंद्र सरकार ने 23 दिसंबर 2022 को भारत बायोटेक के नेजल वैक्सीन को मंजूरी दी थी। इस वैक्सीन को बूस्टर डोज के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है। शुरुआत में निजी अस्पतालों में नेजल वैक्सीन लगाई जाएगी। सरकार ने इस वैक्सीन को भारत के कोविड 19 टीकाकरण कार्यक्रम में भी शामिल किया है। इससे पहले ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया, डीसीजीआई ने भारत बायोटेक की इंट्रानेजल कोविड वैक्सीन को इमरजेंसी यूज के लिए मंजूरी दी थी।

वैक्सीन की दो खुराक 28 दिन के अंतराल पर देनी होती है. वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक के अनुसार, कोविन वेबसाइट पर जाकर इंट्रानेजल वैक्सीन की खुराक के लिए अपॉइंटमेंट बुक किया जा सकता है. iNCOVACC को वाशिंगटन विश्वविद्यालय, सेंट लुइस के साथ साझेदारी में विकसित किया गया था.

भारत बायोटेक ने प्रीक्लिनिकल सेफ्टी इवैल्यूएशन, मैन्युफैक्चरिंग स्केल अप, फॉर्मूलेशन और डिलीवरी डिवाइस डेवलपमेंट के ह्यूमन क्लीनिकल ट्रायल भी किए थे. प्रोडक्ट डेवलपमेंट और क्लीनिकल ट्रायल को भारत सरकार की ओर से जैव प्रौद्योगिकी विभाग के कोविड सुरक्षा कार्यक्रम के माध्यम से आंशिक रूप से फंड किया गया था.

इंट्रानेजल वैक्सीन को ‘ग्लोबल गेम चेंजर’ करार देते हुए भारत बायोटेक के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ कृष्णा एल्ला ने कहा था, “हमें इंट्रानेजल वैक्सीन तकनीक और डिलीवरी सिस्टम में ग्लोबल गेम चेंजर iNCOVACC की मंजूरी की घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है. कोविड-19 टीकों की मांग में कमी के कारण, हमने यह सुनिश्चित करने के लिए इंट्रानेजल टीकों में उत्पाद विकास जारी रखा है कि हम भविष्य के संक्रामक रोगों के लिए प्लेटफॉर्म प्रौद्योगिकियों के साथ अच्छी तरह से तैयार हैं.”

पढ़ें :- कोविशील्ड और कोवैक्सीन को मेडिकल शॉप पर बेचने की मिल सकती है मंजूरी

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com