Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. ड्रीम प्रोजेक्टः गाजियाबाद में पीएम मोदी 20 को करेंगे रैपिडेक्स का उद्घाटन

ड्रीम प्रोजेक्टः गाजियाबाद में पीएम मोदी 20 को करेंगे रैपिडेक्स का उद्घाटन

पीएम नरेंद्र मोदी अपने ड्रीम प्रोजेक्ट दिल्ली-गाजियाबाद- मेरठ रैपिडेक्स का उद्घाटन 20 अक्टूबर को सुबह 12 बजे करेंगे। साहिबाबाद से 17 किलोमीटर लंबे गाजियाबाद- गुलधार- दुहाई और दुहाई डिपो के बीच में इस रैपिडेक्स का संचालन शुरू किया जाएगा।160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली यह सेमी हाई स्पीड ट्रेन 20 अक्टूबर को जनता को समर्पित कर दी जाएगी।

By Rakesh 

Updated Date

गाजियाबाद। पीएम नरेंद्र मोदी अपने ड्रीम प्रोजेक्ट दिल्ली-गाजियाबाद- मेरठ रैपिडेक्स का उद्घाटन 20 अक्टूबर को सुबह 12 बजे करेंगे। साहिबाबाद से 17 किलोमीटर लंबे गाजियाबाद- गुलधार- दुहाई और दुहाई डिपो के बीच में इस रैपिडेक्स का संचालन शुरू किया जाएगा।160 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली यह सेमी हाई स्पीड ट्रेन 20 अक्टूबर को जनता को समर्पित कर दी जाएगी।

पढ़ें :- मोदी सरकार 3.0 में आसान नहीं था जयंत चौधरी के मंत्री बनने का सफर, ऐसे हुई Modi Cabinet में एंट्री…

आरआरटीएस द्वारा इस प्रोजेक्ट को 2019 में शुरू किया गया था और 15 जून 2025 को पूर्ण कर लिया जाएगा। आरटीएस के द्वारा इस रैपिड रेल परियोजना को रैपिडेक्स का नाम दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 20 अक्टूबर को रैपिडेक्स के उद्घाटन के बाद कुछ और नई परियोजनाओं का भी ऐलान किया जाएगा।

मार्च 2019 में दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल प्रोजेक्ट की रखी गई थी आधारशिला 

प्रधानमंत्री मोदी ने मार्च 2019 में दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल प्रोजेक्ट की आधारशिला रखी थी। 82 किलोमीटर लंबे इस प्रोजेक्ट के जून 2025 तक पूरा होने जाने की उम्मीद है। ये दिल्ली,गाजियाबाद और मेरठ को कनेक्ट करेगी। इस कॉरिडोर का प्लान रैपिड X प्रोजेक्ट के तहत किया गया है। जिसके मैनेजमेंट की जिम्मेदारी नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन यानी NCRTC की होगी।

NCRTC का दावा है कि ये भारत का पहला ऐसा ट्रेन सिस्टम होगा जिसमें ट्रेन 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ेगी। पहले खंड में रैपिड रेल साहिबाबाद से दुहाई डिपो के बीच चलेगी। ये रूट 17 किलोमीटर लंबा है। इस रूट पर 5 स्टेशन होंगे, जिसमें साहिबाबाद, गाजियाबाद, गुलधर, दुहाई और दुहाई डिपो हैं। यात्री मोबाइल और कार्ड के माध्यम से भी टिकट खरीद सकेंगे। रेल कोच के आखिरी डिब्बे में स्ट्रेचर का इंतजाम किया गया है।

पढ़ें :- वाराणसी में PM मोदी ने दर्ज की जीत, कांग्रेस के अजय राय को हराया

मरीजों के लिए अलpm modiग कोच की व्यवस्था

अगर किसी मरीज को मेरठ से दिल्ली रेफर किया जाता है तो इसके लिए एक अलग कोच की व्यवस्था है ताकि कम समय में मरीज को पहुंचाया जा सके। दिव्यांगों के लिए अलग सीट तैयार की गई है। ट्रेन में एडजेस्टेबल चेयर है। इसके साथ ही खड़े होने वाले यात्रियों के लिए भी विशेष इंतजाम किए गए हैं। ट्रेन में वाईफाई की सुविधा, मोबाइल-यूएसबी चार्जर भी होंगे। डीपीआर के अनुमान के मुताबिक, ट्रेन में किराया करीब 2 रुपये प्रति किमी होगा। दिल्ली मेट्रो की सात लाइनों पर रैपिड लाइन की कनेक्टिविटी होगी। इसे मुनिरका, आईएनए और एरोसिटी से जोड़ा जाएगा।

आरआरटीएस प्रोजेक्ट के मुताबिक पूरे कॉरिडोर के साथ 24 स्टेशन बनाए जाएंगे। एजेंसी का अनुमान है कि प्रोजेक्ट 2025 में पूरा हो जाएगा तो रोजाना 8 लाख यात्री इससे सफर कर सकेंगे। दिल्ली से मेरठ पहुंचने में एक घंटे का वक्त लगेगा। दिल्ली से मेरठ के बीच पूरे रूट के निर्माण के बाद कुल 30 रैपिड ट्रेनों को चलाने की तैयारी है। गाजियाबाद के दुहाई यार्ड में रैपिड रेल कॉरिडोर का ऑपरेशन एंड कमांड कंट्रोल सेंटर तैयार किया जा रहा है।

सरकार ने ऐसी ही आठ लाइन की पहचान की है जिनका विकास RRTS प्रोजेक्ट के तहत किया जाएगा। फर्स्ट फेज़ में तीन कॉरीडोर का निर्माण NCRTC करेगी। ये होंगे दिल्ली-गाजियाबाद-मेरठ,  दिल्ली-गुड़गांव-निमराणा-अलवर और दिल्ली-पानीपत। बाकी बचे पांच कॉरिडोर जहां ट्रेनें 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी वे हैं-दिल्ली-फरीदाबाद-बल्लबगढ़-पलवल, गाजियाबाद-खुर्जा, दिल्ली-बहादुरगढ़-रोहतक, गाजियाबाद-हापुड़ और दिल्ली-शहदरा-बड़ौत।

पढ़ें :- वाराणसी लोकसभा सीटः मोदी के आने से पूर्वांचल की राजनीति का केंद्र बना बनारस, आसपास के 16 जिलों में बढ़ा BJP का प्रभाव
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com