Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. पत्रकार जुबैर के अकाउंट में कैसे सिर्फ तीन महीने में पहुंचे 50 लाख रुपये, पुलिस जांच में जुटी

पत्रकार जुबैर के अकाउंट में कैसे सिर्फ तीन महीने में पहुंचे 50 लाख रुपये, पुलिस जांच में जुटी

Alt News journalist Zubair: सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली पुलिस पत्रकार जुबैर के अकाउंट में हुई बड़ी लेन देन की जांच करेगी। साथ ही यह पता लगाएगी की किस अकाउंट से उनको पैसे ट्रांसफर किये गये हैं।

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

Journalist Zubair: पत्रकार और एक फैक्ट चेक करने वाले पोर्टल के सह-संस्थापक मोहम्मद ज़ुबैर को कल दिल्ली पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया था। मोहम्मद जुबेर पर किसी विशेष धर्म के लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगाया गया है। इसी के साथ एक बड़ा खुलासा ये भी किया गया है कि वह उनके अकाउंट में पिछले तीनों महीनों में करीब 50 लाख रुपये आए हैं। फिलहाल पुलिस इस लेन देन की जांच करेगी।

पढ़ें :- 21 राज्यों की 102 सीटों पर वोटिंग जारी,  बंगाल में हिंसा से मतदान प्रभावित; मणिपुर के मतदान केंद्र में घुसे हथियारबंद लोग

सूत्रों के अनुसार दिल्ली पुलिस ने पत्रकार को गिरफ्तार करन के बाद उनके अकाउंट को खंगाला तो पता चला कि उसमें माह तीन महीनों में बड़ा लेन देन किया गया है। पुलिस इस का पता लगाएगी की उन्हें किन अकाउंटों से पैसा भेजा गया है। कुछ लोगों का कहा कि जुबैर को डोनेशन के रुप में बड़ी राशि प्राप्त हुई है। किसने उनको डोनेशन दिया और उसके पीछे क्या वजह थी इसकी जांच बाद में की जाएगी।

पुलिस उपायुक्त के पी एस मल्होत्रा ने बताया इस माह की शुरुआत में ‘‘पत्रकार ज़ुबैर के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 153-ए (धर्म, जाति, जन्म स्थान, भाषा आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना) और 295-ए (धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के इरादे से जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कार्य) के तहत मामला दर्ज किया गया है.’’

गौरतलब है कि पत्रकार मोहम्मद जु़बैर भारतीय जनता पार्टी की पूर्व नेता नुपुर शर्मा और साधुओं को ‘नफरत फैलाने वाले’ कहने के बाद चर्चा में आए थे। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत विपक्षी नेताओं ने जुबैर की गिरफ्तारी को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केन्द्र सरकार पर निशाना साधा।

राहुल गांधी ने ट्वीट किया,‘‘ बीजेपी की घृणा, कट्टरता और झूठ को बेनकाब करने वाला हर एक व्यक्ति उनके लिए खतरा है. सच्चाई की एक आवाज को गिरफ्तार करने से हजार आवाजें और पैदा होंगी. सच्चाई की हमेशा जीत होती है।’’

पढ़ें :- राजनीति के खिलाड़ीः कौन हैं बृजभूषण शरण सिंह, जिनकी कैसरगंज सीट पर उम्मीदवारी को लेकर बना हुआ है SUSPENSE

पढ़ें :- ELECTION 2024-  लोकसभा की 102 सीटों पर बुधवार को थम गया प्रचार का शोर, पहले चरण में 8 केंद्रीय मंत्री, कई दिग्गजों की किस्मत दांव पर 

 

तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन, पार्टी सांसद महुआ मोइत्रा, तेलंगाना राष्ट्र समिति, ऑल इंडिया मजलिसे इत्तेहादुल मुस्लमीन के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने भी गिरफ्तारी की निंदा की।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com