1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. Champawat By Election : चंपावत उपचुनाव शांतिपूर्वक संपन्न, करीब 64 फीसदी हुआ मतदान, 3 जून को घोषित होंगे परिणाम

Champawat By Election : चंपावत उपचुनाव शांतिपूर्वक संपन्न, करीब 64 फीसदी हुआ मतदान, 3 जून को घोषित होंगे परिणाम

चंपावत विधानसभा का उपचुनाव मंगलवार को शांतिपूर्वक संपन्न हो चुके हैं। कहीं से भी किसी तरह की गड़बड़ी और विवाद की कोई ख़बर नहीं मिली है। चुनाव आयोग के मुताबिक शाम 5 बजे तक करीब 64 फ़ीसदी मतदान हुआ।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

चंपावत, 31 मई। चंपावत विधानसभा का उपचुनाव मंगलवार को शांतिपूर्वक संपन्न हो चुके हैं। कहीं से भी किसी तरह की गड़बड़ी और विवाद की कोई ख़बर नहीं मिली है। चुनाव आयोग के मुताबिक शाम 5 बजे तक करीब 64 फ़ीसदी मतदान हुआ। सुबह 7 बजे से शुरू हुए उप चुनाव के मतदान के लिए मतदाताओं में उत्साह दिखाई दे रहा था। सुबह 9 बजे तक 16.09 प्रतिशत मतदान हुआ था। जबकि 11 बजे चंपावत उपचुनाव में मतदान फीसदी में बढ़ोत्तरी हुई। सुबह 9 बजे की तुलना में 11 बजे एकदम से वोटिंग प्रतिशत में दोगुनी बढ़ोतरी हुई। 11 बजे तक 33.91 मतदान प्रतिशत रहा।

पढ़ें :- चंपावत उपचुनाव : दुर्गम क्षेत्रों में मतदान के लिए दो दिन पहले रवाना हुईं पोलिंग पार्टियां

मतदान के दौरान थे सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

दोपहर बाद 3.00 बजे के आसपास वोटरों में मतदान को लेकर और अधिक काफी उत्साह दिखाई दिया। इस दौरान 51.81 फीसद मतदान हुआ। गर्मी होने के बावजूद भी वोटर्स लाइन में लगकर वोटिंग करने के लिए अपनी बारी का इंतजार करते नजर आए। चंपावत विधानसभा के 32 अति संवदेनशील और संवदेनशील बूथों में सुरक्षा के पर्याप्त बंदोबस्त किए गए थे। जहां लोगों ने सशस्त्र पुलिस और अर्द्धसैनिक बल के जवानों की मौजूदगी में मताधिकार का इस्तेमाल किया। इसके अलावा 76 वेबकास्टिंग बूथों में भी मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुआ। मतदान के लिए विधानसभा में कुल 151 बूथ बनाए गए थे। SP देवेंद्र पींचा ने बताया कि अति संवेदनशील बूथ में अर्द्धसैनिक बलों के 4 सशस्त्र जवान तैनात किए गए थे। जबकि संवेदनशील बूथ में दो सशस्त्र जवानों के साथ कई पुलिस कर्मी तैनात किए गए थे। मतदान केंद्र में दिव्यांग और बुजुर्ग महिला को वोट देने के बाद डीएम नरेंद्र सिंह भंडारी ने उन्हें सम्मानित किया।

चंपावत से सीएम धामी की होगी जीत या हार ?

विस चुनाव में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खटीमा सीट पर चुनाव हार गए थे। लेकिन राज्य में बीजेपी की 46 सीटें आने के साथ पूर्ण बहुमत की सरकार बनी। लेकिन मुख्यमंत्री धामी को 6 महीने के अंदर विस सदस्य बनना जरूरी था। इसके लिए चंपावत विधायक कैलाश गहतोड़ी ने धामी को अपनी सीट से चुनाव लड़ने के लिए आमंत्रित किया और त्यागपत्र दे दिया था। इसके बाद हाईकमान के फैसले से मुख्यमंत्री धामी ने चंपावत से चुनाव लड़ने का ऐलान किया।

पढ़ें :- Uttarakhand Champawat Seat Election : हर किसी को वोट डालने जाना है : पुष्कर सिंह धामी

कांग्रेस ने लगाए एजेंटों को भगाने का आरोप

वहीं कांग्रेस ने बीजेपी पर उनके एजेंटों को भगाने, धारा 144 और अचार संहिता लगने के बावजूद विधायकों और बाहरी कार्यकर्ताओं को घूमाने का आरोप लगाया। इसके विरोध में कांग्रेस उम्मीदवार निर्मला गहतोड़ी ने मंगलवार को मतदान के बाद कलक्ट्रेट परिसर में धरना दिया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...