1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Jharkhand: अवैध खनन मामले में आज ED के सामने पेश होंगे झारखंड के CM हेमंत सोरेन

Jharkhand: अवैध खनन मामले में आज ED के सामने पेश होंगे झारखंड के CM हेमंत सोरेन

Illegal mining case: 1000 करोड़ से ज्यादा के अवैध खनन मामले में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ईडी ने गुरुवार को पूछताछ के लिए बुलाया है. वो राजधानी रांची में ईडी के सामने सुबह 11 से 12 बजे की बीच पेश हो सकते हैं.

By रुचि उपाध्याय 
Updated Date

Illegal mining case: झारखंड में हुए 1000 करोड़ से ज्यादा के अवैध खनन मामले में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन(Jharkhand CM Hemant Soren) गुरुवार (17 नवंबर) को रांची में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के समक्ष पेश होंगे. ईडी ने हेमंत सोरेन को पूछताछ के लिए बुलाया है। हेमंत सोरेन को सुबह 11 बजे ईडी के सामने पेश होना है। हेमंत सोरेन की पेशी को देखते हुए झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के कार्यकर्ताओं ने ईडी कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन की तैयारी शुरू कर दी है. इसे देखते हुए ईडी दफ्तर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

पढ़ें :- राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के दौरान लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, बीजेपी का आरोप - VIDEO

जाने क्या है पूरा मामला
झारखंड में हुए Illegal Mining case में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को ईडी ने गुरुवार को पूछताछ के लिए बुलाया है. वो ईडी के सामने सुबह 11 से 12 बजे की बीच पेश हो सकते है. सोरेन से पूछताछ के लिए दिल्ली के ईडी मुख्यालय से संयुक्त निदेशक स्तर के अधिकारी यहां पहुंच गए हैं. ईडी ने झारखंड के पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर उसके दफ्तर के बाहर उचित सुरक्षा और कानून व्यवस्था बनाए रखने का अनुरोध किया है. इससे पहले मंगलवार को सोरेन ने ईडी के समक्ष पेश होने के लिए 16 नवंबर की तारीख मांगी थी. इसे जांच एजेंसी ने खारिज कर उन्हें तय समय पर 17 नवंबर को ही ईडी के समक्ष पेश होने को कहा था. ईडी ने इस मामले में सोरेन के राजनीतिक सहयोगी पंकज मिश्रा और दो अन्य स्थानीय कथित बाहुबली बच्चू यादव और प्रेम प्रकाश को गिरफ्तार किया है. ईडी ने कहा है कि उसने राज्य में अब तक 1,000 करोड़ रुपये के अवैध खनन से संबंधित अपराध का पता लगाया है.

Jharkhand Mukti Morcha के workers और नेताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन को देखते हुए ईडी के अधिकारियों द्वारा DGP को पत्र लिखकर ईडी कार्यालय की अतिरिक्त सुरक्षा बढ़ाने को लेकर मांग की गई है. राज्य प्रशासन के अधिकारियों को डर है कि अगर ईडी ने सोरेन के खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई की तो रांची में परेशानी हो सकती है. झामुमो कार्यकर्ताओं का विशाल जनसमूह उग्र हो सकता है और न केवल ईडी कार्यालय बल्कि भाजपा के कार्यालयों और भाजपा नेताओं के घरों और संपत्तियों पर भी हमला कर सकता है।

अवैध खनन मामले में अब तक तीन लोग हो चुके है गिरफ्तार
सूत्रों के मुताबिक, झारखंड राज्य में हुए 1,000 करोड़ से ज्यादा अवैध खनन मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा और उनके सहयोगियों को ईडी द्वारा लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया था. मंत्री हेमंत सोरेन के विधायक प्रतिनिधि पंकज मिश्रा के घर से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के विरुद्ध कई साक्षी ईडी के हाथ लगे है. जिसमें मुख्यमंत्री के नाम के पासबुक और चेक बुक भी शामिल है. पंकज मिश्रा पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के राजनीतिक रसूख का प्रयोग कर अवैध खनन करने का भी आरोप है.

वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री आवास में जुटे जेएमएम कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए हेमंत सोरेन ने कहा कि षड्यंत्रकारी ताकते लगातार आदिवासी मूलवासी की सरकार को अस्थिर करने के अनेकों प्रयास कर रहे हैं. विपक्ष पचा नहीं पा रहा है कि कैसे एक आदिवासी का बेटा राज्य के लोगों की हर मांग को पूरी करते जा रहा है. चाहे वह बात 1932 के खतियान आधारित स्थानीय नीति की हो या 27% ओबीसी आरक्षण की

पढ़ें :- राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने मेधा पाटकर पर साधा निशाना, कही ये बात, पढ़ें

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...