Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. अगवा कर ओमपाल की हत्या , शव को गंगा में फेंका, बदायूं क्षेत्र से किया बरामद

अगवा कर ओमपाल की हत्या , शव को गंगा में फेंका, बदायूं क्षेत्र से किया बरामद

तीन दिन पूर्व दिनदहाड़े बोलेरो में डालकर ले गये थे आरोपी। सीसीटीवी कैमरा के फुटेजों से पुलिस पहुंची हत्यारों तक। यूपी के कासगंज जिले के कोतवाली शहर से तीन दिन पूर्व दिनदहाड़े तमंचा के बल पर किए गए ओमपाल अपहरण कांड में एसओजी की टीम को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है।

By Rakesh 

Updated Date

कासगंज। तीन दिन पूर्व दिनदहाड़े बोलेरो में डालकर ले गये थे आरोपी। सीसीटीवी कैमरा के फुटेजों से पुलिस पहुंची हत्यारों तक।

पढ़ें :- शादी समारोह में चेयरमैन के साले की गोली मारकर हत्या, सनसनी

यूपी के कासगंज जिले के कोतवाली शहर से तीन दिन पूर्व दिनदहाड़े तमंचा के बल पर किए गए ओमपाल अपहरण कांड में एसओजी की टीम को एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। टीम ने आरोपियों की निशानदेही पर ओमपाल के शव को बदायूं क्षेत्र से बरामद कर लिया है। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और पूरे मामले की तहकीकात कर रही है।

आपको बता दें कि 27 अगस्त की सुबह साढ़े आठ बजे दिनदहाड़े बोलेरो सवार तमंचे की नोक पर ओमपाल को डालकर ले गये थे। ओमपाल फिलहाल में अशोक नगर में रहता था, परंतु रहने वाला सिकंदरपुर वैश्य थाना क्षेत्र के गांव पीतम नगर हडोरा का था। अगवा की पूरी घटना अशोक नगर की है। जहां लगे सीसीटीवी कैमरे में अपहरण की पूरी घटना कैद हो गई।

ओमपाल की पत्नी राधा ने बोलेरो सवारों में से दो लोग राजीव और संजीव को सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पहचान लिया और इलाका पुलिस को तहरीर देकर मामला दर्ज करा दिया। मंगलवार को पुलिस ने बदायूं क्षेत्र में गंगा के किनारे से ओमपाल के शव को बरामद कर लिया है। पुलिस ने शिनाख्त के बाद शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और फरार हत्यारोपियों की तलाश शुरू कर दी है।

बताया जा रहा 27 अगस्त को ओमपाल मजदूरी करने जा रहा था। तभी बोलेरो सवार अशोक नगर इलाके से तमंचे के बल पर अगवा कर ले गए थे। उसकी कार में हत्या कर शव को अल्लीपुर बरबारा स्थित गंगा में फेंक दिया था। पीतम नगर हडोरा निवासी ओमपाल अगवाकांड में सदर कोतवाली पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आई है।

पढ़ें :- बदायूं में युवक की हत्या, 3 आरोपियों को किया गिरफ्तार

अगवा हुए ओमपाल की पत्नी ने बताया कि अगर पुलिस सक्रिय होती तो ओमपाल की हत्या भी नहीं होती और सकुशल बरामदगी हो सकती थी। सूचना देने के घंटों बाद भी घटनास्थल पर एसएचओ हरिभान सिंह नहीं पहुंचे।  जब तक कोबरा पहुंची तब तक अपहरणकर्ता अगवा करके सलेमपुर की ओर फरार हो गए थे। इसी बीच अपहरणकर्ताओं ने रास्ते में हत्या कर ओमपाल के शव को गंगा में फेंक दिया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com