1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Jharkhand : सरकार के रवैये के कारण भ्रष्टाचारी मिटा रहे सबूत, निशिकांत दुबे का सोरेन सरकार पर हमला, विशाल चौधरी लापता, कहीं उनकी हत्या तो नहीं हो गई?

Jharkhand : सरकार के रवैये के कारण भ्रष्टाचारी मिटा रहे सबूत, निशिकांत दुबे का सोरेन सरकार पर हमला, विशाल चौधरी लापता, कहीं उनकी हत्या तो नहीं हो गई?

बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने सोरेन सरकार को घेरते हुए कहा झारखंड के भ्रष्टाचार जिसके यहां ED के रेड में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सहित कई पदाधिकारी और राजनेता का लीलाओं का कारनामा उजागर हुआ था, वैसे विशाल चौधरी जी लापता हैं, कहीं उनकी हत्या तो नहीं हो गई?।

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

रांची, 17 जून। निलंबित IAS पूजा सिंघल मामले में रांची में विशाल चौधरी के ठिकानों पर ED ने छापेमारी की थी। अब जानकारी मिल रही है कि विशाल अपनी पत्नी सहित रांची से गायब हो गया है। जिसपरर बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने सोरेन सरकार को घेरते हुए ट्वीट कर कहा कि ”झारखंड के भ्रष्टाचार जिसके यहां ED के रेड में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव सहित कई पदाधिकारी और राजनेता का लीलाओं का कारनामा उजागर हुआ था, वैसे विशाल चौधरी जी लापता हैं, कहीं उनकी हत्या तो नहीं हो गई?”।

पढ़ें :- Jharkhand : 15 दिनों की लंबी छुट्टी पर गए मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, अरूण सिंह को मिला प्रभार

बतादें कि विशाल चौधरी के झारखंड के कई वरिष्ठ IAS अधिकारियों के साथ बेहतर संबंध थे। ऐसे में गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे ने पूजा सिंघल के करीबी विशाल चौधरी की हत्या की आशंका जताई है। उन्होंने इसी मामले में अपने सोशल मीडिया एकाउंट पर लिखा ”राज्य सरकार के रवैये के कारण भ्रष्टाचारी सबूत मिटा रहे हैं, कुछ लोग देश छोड़कर भाग रहे हैं, कुछ लोग लापता हैं, हत्या भी हो सकती है? कुछ लोग जांच में बिना FIR के सहयोग नहीं कर रहे हैं। ED और इनकम टैक्स विभाग ने झारखंड के माननीय न्यायालय को सूचित किया है। झारखंड कांग्रेस का हाथ ?

पढ़ें :- Jharkhand : CM हेमंत सोरेन और उनके करीबियों से जुड़े शेल कंपनी मामले में सुनवाई टली, IAS पूजा सिंघल के खिलाफ चार्जशीट दायर

गौरतलब है कि 25 मई को ED की टीम ने राजधानी रांची में विशाल चौधरी के यहां छापेमारी की थी। रांची के अशोक नगर रोड नंबर 6 में विशाल चौधरी का आलीशान घर है। छापेमारी में घर से भारी मात्रा में नगदी बरामद हुई थी। जिसे गिनने के लिए नोट गिनने वाली मशीन मंगाई गई थी। बताया जाता है कि विशाल चौधरी के कई IAS अफसरों के साथ बेहद करीबी संबंध थे और वो ब्लैक मनी को व्हाइट करने का काम करता था। विशाल चौधरी IAS पूजा सिंघल के साथ-साथ मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रधान सचिव अरुण कुमार एक्का का भी काफी करीबी था। विशाल का संबंध प्रेम प्रकाश और नीशित केशरी के साथ भी था। विशाल चौधरी के घर छापेमारी के बाद झारखंड मनरेगा घोटाले में कई और खुलासे होने की उम्मीद लगाई जा रही थी। लेकिन अब विशाल गायब है ऐसे में बीजेपी सांसद दुबे ने उनकी हत्या की आशंका जताई है।

पढ़ें :- Jharkhand : निलंबित IAS पूजा सिंघल को नहीं मिली जमानत, अब 12 जुलाई को होगी सुनवाई
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...