Booking.com

राज्य

  1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. कंझावला कांड में आरोपियों का कबूलनामा, पता होने के बावजूद 12 किमी तक घसीटी अंजलि की लाश

कंझावला कांड में आरोपियों का कबूलनामा, पता होने के बावजूद 12 किमी तक घसीटी अंजलि की लाश

कंझावला केस में आए दिन बड़े-बड़े खुलासे हो रहे है एक और जानकारी सामने आ रही है। दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक गाड़ी में बैठे आरोपियों ने कबूल किया है कि घटना के कुछ देर बाद ही पता चल गया था कि लड़की की बॉडी गाड़ी में फंसी हुई है.

By इंडिया वॉइस 

Updated Date

Kanjhawala Accident Update: दिल देहला देने वाले कंझावला केस में आए दिन बड़े-बड़े खुलासे हो रहे है एक और जानकारी सामने आ रही है। दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक गाड़ी में बैठे आरोपियों ने कबूल किया है कि घटना के कुछ देर बाद ही पता चल गया था कि लड़की की बॉडी गाड़ी में फंसी हुई है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि आरोपियों ने इसलिए बॉडी नहीं निकाली क्योंकि उन्हें डर था कि अगर किसी ने उन्हें बॉडी निकालते हुए देख लिया तो वो फंस सकते हैं, इसलिए आरोपियों ने सोचा कि चलती गाड़ी से बॉडी अपने आप निकल जाएगी.

पढ़ें :- दिल्ली के केशवपुरम में कार ने मारी स्कूटी सवार को टक्कर, बोनट पर फंसे शख्स को 350 मीटर तक घसीटा, मौके पर मौत

इससे यह पीटीए चलता है कि, आरोपियों को अच्छी तरह मालूम था कि इनकी गाड़ी में एक लाश लटकी हुई है और फंसने के डर के कारण उन्होंने लाश को कई किलोमीटर तक घसीटना सही समझा. आरोपियों ने खुद अपना गुनाह पुलिस के आगे कबूल कर लिया है. अब तक इस मामले में एकाएक ऐसे खुलासे हो रहे हैं जिससे लोगों का रोष और बढ़ता जा रहा है.

अंकुश खन्ना को मिली जमानत

दिल्ली की एक अदालत ने कंझावला मामले (Kanjhawala accident case) में आरोपियों का कथित तौर पर बचाव करने वाले अंकुश खन्ना को शनिवार को जमानत दे दी. मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट सान्या दलाल ने आत्मसमर्पण करने वाले खन्ना को यह देखते हुए जमानत दे दी कि उसके खिलाफ लगे आरोप जमानती हैं.आरोपी को 20,000 रुपये के निजी मुचलके पर जमानत मिली है.

31 दिसंबर की रात हुआ था हादसा

पढ़ें :- Republic Day 2023: गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में सुरक्षा बढ़ी, 6 हजार जवान तैनात, धारा-144 लागू, 500 से अधिक सीसीटीवी कैमरे

आपको बता दें कि यह दिल दहला देने वाली घटना 31 दिसंबर-1 जनवरी की रात को हुई जहां कंझावला की सड़क पर जो कुछ भी हुआ वह बेहद दर्दनाक हादसा था. अंजलि रविवार रात एक समारोह से अपनी स्कूटी से घर लौट रही थी। तभी उसका एक्सीडेंट हो गया और आरोपी करीब 12 किलोमीटर तक शव से लटकी कार दौड़ाता रहा। अब आरोपियों ने भी कबूल किया है कि कार में लटकी लाश के बारे में उन्हें पहले से पता था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...
Booking.com
Booking.com
Booking.com
Booking.com