1. हिन्दी समाचार
  2. क्षेत्रीय
  3. Maharashtra Political Crisis : बागी नेता लौटकर तो मुंबई ही आएंगे, संजय राउत की दो टूक- शिवसेना विधायकों का हुआ अपरहण

Maharashtra Political Crisis : बागी नेता लौटकर तो मुंबई ही आएंगे, संजय राउत की दो टूक- शिवसेना विधायकों का हुआ अपरहण

एकनाथ शिंदे ने अपने बयान में कहा था कि ''हम बाला साहेब ठाकरे के पक्के शिव सैनिक हैं। बाला साहेब ने हमें हिंदुत्व सिखाया। बाला साहेब के विचारों और धर्मवीर आनंद दीघे साहब की शिक्षाओं के बारे में सत्ता के लिए हमने कभी धोखा नहीं दिया। ना कभी धोखा देंगे।''

By इंडिया वॉइस 
Updated Date

नई दिल्ली, 23 जून। महाराष्ट्र की राजनीतिक संकट के बीच शिवसेना नेता संजय राउत ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि महाराष्ट्र के सत्ता संकट में केंद्रीय जांच एजेंसियों का पूरा योगदान रहा है। ED का इस्तेमाल किया जा रहा है, केंद्रीय जांच एजेंसियों की मदद से महाराष्ट्र में सत्ता संकट का खाका तैयार किया गया है। ऐसा पहले भी हो चुका है। बीजेपी, ED या CBI के द्वारा मामला दर्ज करा सकती है, उन्हें जेल में डाल देगी और क्या करेगी?। आज शिवसेना के जो भी विधायक इधर-उधर घूम रहे हैं, उन्हें लौटकर तो मुंबई ही आना है। वो महाराष्ट्र आएंगे, उनका घूमना-फिरना यहां मुश्किल हो जाएगा। संजय राउत ने ये भी आरोप लगाया है कि शिवसेना के विधायकों का अपरहण किया गया है।

पढ़ें :- Maharashtra : एकनाथ शिंदे का शिवसेना से अब कोई संबंध नहीं, संजय राऊत का बड़ा बयान, कहा- मुंबई को महाराष्ट्र से अलग करने की साजिश

गुजरात से चलाया गया ‘ऑपरेशन लोटस’

शिवसेना नेता का कहना है कि गुजरात से ‘ऑपरेशन लोटस’ चलाया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया है कि शिवसेना के विधायकों पर दबाव डाला जा रहा है। उन्हें केंद्रीय जांच एजेंसियों का भय-डर दिखाया जा रहा है। गुजरात पुलिस ने शिवसेना विधायकों के साथ मारपीट की है। नितिन देशमुख के साथ जब इसी तरह का बुरा सलूक किया गया, तो उन्हें हार्ट अटैक आ गया। नतीजा ये रहा कि देशमुख को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। शिवसेना के कई ऐसे विधायक हैं, जो वापस मुंबई लौटना चाहते हैं, लेकिन उन्हें आने नहीं दिया जा रहा। ये सब महाराष्ट्र सरकार को अस्थिर करने की कोशिश की है। बीजेपी इस तरह की घिनौनी राजनीति पहले भी कर चुकी है। इस बार भी वो अपने तोड़फोड़ के इरादों में सफल नहीं होगी। शिवसेना नेता राउत ने कहा कि सभी विधायक जल्द वापस यहां लौटेंगे। विधायकों को बागी बनाकर मुंबई से बाहर ले जाने वाले एकनाथ शिंदे को विधायक दल के नेता के पद से हटा दिया गया है।

एकनाथ शिंदे का बयान

हालांकि इस सियासी संकट के बीच एक दिन पहले ही एकनाथ शिंदे ने अपने बयान में कहा था कि ”हम बाला साहेब ठाकरे के पक्के शिव सैनिक हैं। बाला साहेब ने हमें हिंदुत्व सिखाया। बाला साहेब के विचारों और धर्मवीर आनंद दीघे साहब की शिक्षाओं के बारे में सत्ता के लिए हमने कभी धोखा नहीं दिया। ना कभी धोखा देंगे।” इसके बाद शिवसेना को लगा था कि सत्ता संकट खत्म हो जाएगा। गुरुवार को गोवाहाटी के होटल से एकनाथ शिंदे और दूसरे विधायकों ने नारेबाजी का एक वीडियो जारी किया है, उसके बाद संजय राउत ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इसमें नितिन देशमुख ने खुलासा किया कि मुझे जबरन सूरत ले जाया गया। सरकार को गिराने की तैयारी हो चुकी है। उन्होंने ये भी कहा कि वो मुश्किल से जान बचाकर अस्पताल से भागकर मुंबई आए हैं। राउत ने कहा कि हमारी पार्टी एक लड़ाकू है, हम लगातार संघर्ष करेंगे। कम से कम हम सत्ता खो देंगे तो भी हम लड़ते रहेंगे।

पढ़ें :- ईडी ने संजय राउत को भेजा दूसरा समन, एक जुलाई को बुलाया गया

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...