1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. BJP की पहली वर्चुअल रैली में विरोधियों पर जमकर बरसे PM मोदी, अखिलेश यादव को लेकर कह दी बड़ी बात

BJP की पहली वर्चुअल रैली में विरोधियों पर जमकर बरसे PM मोदी, अखिलेश यादव को लेकर कह दी बड़ी बात

BJP's First Virtual Rally : प्रदेश में पहले चरण का चुनाव दस फरवरी को होना है। लिहाजा आज पीएम मोदी ने चुनाव प्रचार की कमान संभाल ली है। 

By Ujjawal Mishra 
Updated Date

UP Assembly Election 2022 : प्रदेश में पहले चरण का चुनाव दस फरवरी को होना है। लिहाजा आज पीएम मोदी ने चुनाव प्रचार की कमान संभाल ली है। पीएम मोदी ने आज भाजपा की तरफ से आयोजित पहली वर्चुअल रैली को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने अखिलेश सरकार पर जोरदार हमला बोला। पीएम मोदी के चुनाव प्रचार में उतरने से प्रदेश की राजनीति में गर्माहट आ गई है। बता दें कि पीएम मोदी की जनसभाओं को लेकर भाजपा ने बकायदा पूरा रोड मैप तैयार किया है। पीएम मोदी की वर्चुअल रैली को भाजपा ने जन चौपाल का नाम दिया है।

पढ़ें :- UP में 10 मार्च के बाद महिलाओं को सरकारी बसों में मुफ्त यात्रा : CM योगी

पीएम मोदी की पहली वर्चुअल रैली आज  

पीएम मोदी की पहली वर्चुअल रैली आज पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सहारनपुर, शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत और गौतमबुद्धनगर में आयोजित की गई। वर्चुअल रैली का प्रसारण पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 5 जिलों की 21 विधानसभाओं में किया गया। इस दौरान वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कानून व्यवस्था को लेकर पूर्ववर्ती सरकार को घेरते हुए कहा कि भाजपा शासन में किसान, कर्मचारी, व्यापारी और महिलाओं को सुरक्षा और सम्मान मिल रहा है। उन्होंने कहा कि उप्र के मतदाता ‘दंगाइयों की मानसिकता’ वाले इन लोगों से सतर्क हैं और वे पुराने दिनों की वापसी नहीं चाहते। उन्होंने पिछली बार से ज्यादा वोटों से भाजपा को जिताने का फैसला किया है।

पश्चिमी उप्र की भूमि ने राष्ट्र को दिया एकता का संदेश

प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश चुनाव को लेकर भाजपा की पहली वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए कहा कि पश्चिमी उप्र वह भूमि है जिसने 1857 के विद्रोह में राष्ट्र को एकता का संदेश दिया था। हम एक साथ खड़े हों तो कोई नहीं हरा सकता है। प्रधानमंत्री आज भाजपा के जन चौपाल कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश के शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, सहारनपुर और गौतमबुद्ध नगर के मतदाताओं को संबोधित कर रहे थे

पढ़ें :- गुरुवार को अमेठी और प्रयागराज में रैली करेंगे प्रधानमंत्री मोदी

समाजवादी पार्टी के नेताओं को बताया नकली समाजवाद

प्रधानमंत्री ने अखिलेश यादव पर कटाक्ष करते हुए कहा कि एक तरफ भाजपा है, जिसके पास विकास का स्पष्ट विजन है, साफ सुथरा ईमानदार और दमदार नेतृत्व है। वहीं दूसरी तरफ अहंकार से भरे, समाज को तोड़ने वाले, किसी भी कीमत पर सत्ता पाने का सपना देख रहे ये ‘नकली समाजवादी’ हैं। विजन के नाम पर इनके पास सिर्फ विरोध, गुस्सा और आक्रोश है।

पढ़ें :- खीरी : ईवीएम में फेवीक्विक लगाने के मामले में दो के खिलाफ मुकदमा दर्ज

भाजपा ने अपने चुनावी वादे पर अमल करते हुए उप्र के विकास के लिए कोई कोर-कसर बाकी नहीं छोड़ी है। योगी सरकार की सराहना करते हुए कहा कि पांच वर्षों में उप्र सरकार ने पूरी ईमानदारी और निष्ठा से जनता की सेवा और प्रदेश के विकास का प्रयास किया है। अखिलेश यादव के सपने में भगवान कृष्ण के आने पर तंज कसते हुये प्रधानमंत्री ने कहा कि योगी आदित्यनाथ जाग रहे हैं और उप्र के विकास के लिए काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

सपा सरकार में दबंग और दंगाईयों का था बोलबाला  

उत्तर प्रदेश की पूर्ववर्ती अखिलेश यादव सरकार पर कानून व्यवस्था को लेकर निशाना साधते हुये कहा कि कोई भूल नहीं सकता कि पांच साल पहले उप्र को लेकर क्या चर्चा होती थी। उस समय दबंग और दंगाई ही कानून थे और उनका कहा ही शासन का आदेश था। उन्होंने कहा कि पांच साल पहले व्यापारी लुटता था, बेटी घर से बाहर निकलने में घबराती थी और माफिया, सरकारी संरक्षण में खुलेआम घूमते थे। प्रधानमंत्री ने 2013 में मुजफ्फरनगर में हुए दंगों के दौरान इटावा में आयोजित सैफई महोत्सव को लेकर अखिलेश सरकार को घेरते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पश्चिमी उप्र के लोग कभी नहीं भूल सकते कि जब ये क्षेत्र दंगे की आग में जल रहा था, तो पहले वाली सरकार उत्सव मना रही थी।

सपा सरकार में हिंदुओं का होता था पलायन 

समुदाय विशेष के आंतक के कारण पश्चिमी उप्र से हिन्दुओं के पलायन का जिक्र करते हुये प्रधानमंत्री ने कहा कि पांच साल पहले गरीब, दलित, वंचित, पिछड़ों के घर-जमीन-दुकान पर अवैध कब्जा, समाजवाद का प्रतीक था। लोगों के पलायन की आए दिन खबर आती थी। उन्होंने कहा कि आज उप्र का किसान, कर्मचारी, व्यापारी और माताएं-बहनें-बेटियां सभी को सुरक्षा और सम्मान मिल रहा है। जो माफिया और गुंडे खुद को कानून से भी बड़ा मानते थे, उप्र की भाजपा सरकार ने उन्हें कानून का मतलब समझा दिया है।

 

पढ़ें :- कुंडा विधानसभा सीट से राजा भैया के किले को भेदना भाजपा और सपा के लिए कड़ी चुनौती !

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook, YouTube और Twitter पर फॉलो करे...